मॉडर्ना कंपनी की कोरोना वैक्‍सीन को मिल सकती है इस्‍तेमाल की इजाजत

नई दिल्‍ली (पीटीआई)। भारत में जल्‍द ही एक और कोरोना वैक्‍सीन टीकाकरण अभियान का हिस्‍सा बन सकती है। ऐसा इसलिए है, क्‍योंकि कयास लगाए जा रहे हैं कि ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया की तरफ से मॉडर्ना द्वारा विकसित कोरोना वैक्‍सीन को इजाजत मिल सकती है। ये वैक्‍सीन 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को लग सकती है। कंपनी ने भारत में इसकी इजाजत औपचारिक रूप से दरवाजा खटखटाया है।

आपको बता दें कि भारत में अब तक केवल तीन वैक्‍सीन को ही इस्‍तेमाल की इजाजत मिली है। इसमें भारत में विकसित की गई कोवैक्‍सीन और कोविशील्‍ड के अलावा रूस में विकसित की गई स्‍पूतनिक वैक्‍सीन भी शामिल है। कहा जा रहा है कि यदि मॉडर्ना वैक्‍सीन को भी आपात स्थिति में इस्‍तेमाल की इजाजत मिल जाती है तो भारत का टीकाकरण अभियान तेजी से आगे बढ़ जाएगा। मॉडर्ना की वैक्‍सीन mRNA तकनीक पर आधारित है।

गौरतलब है कि भारत ने इसी वर्ष जनवरी में अपने यहां पर लोगों का वैक्‍सीनेशन शुरू किया था। हालांकि, वैक्‍सीन आपूर्ति में आई कमी की बदौलत बाद में इसमें कुछ कमी जरूर आई है। भारत सरकार न सिर्फ वैक्‍सीनेशन प्रोग्राम को तेज करने की कोशिश कर रही है,बल्कि वैक्‍सीन के उत्‍पादन में इस्‍तेमाल चीजों के लिए भी अमेरिका समेत अन्‍य देशों से बात कर रही है।

विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन के मुताबिक, मॉडर्ना की कोरोना वैक्‍सीन की दो खुराक के बीच 28 दिनों से 42 दिनों का अंतराल जरूरी है। हालांकि, कुछ देशों ने अपने यहां पर वैक्‍सीन की कमी और अधिक से अधिक लोगों को वैक्‍सीन देने के मकसद से इसकी खुराक में 12 सप्‍ताह का अंतर भी किया है। इस वैक्‍सीन को यूरोपीय संघ, अमेरिका और स्विटजरलैंड इस्‍तेमाल की इजाजत दे चुका है।

यह भी देखे:-

राजपूत समाज नोएडा ने मनाई सम्राट पृथ्वीराज चौहान की जयंती
महाशिवरात्रि: चारों प्रवेश द्वार से होंगे बाबा की झांकी के दर्शन, दस एडिशनल एसपी संभालेंगे सुरक्षा व...
आरटीई के तहत दाखिले के लिए आज से शुरू होंगे ऑनलाइन आवेदन
मिलिए गीतांजलि रॉव से जो 15 साल की सबसे युवा वैज्ञानिक बन गयी, पढें पूरी कहानी
शिवपाल , औवैसी, चंद्रशेखर व ओमप्रकाश राजभर ने की बड़ी बैठक- अखिलेश को अल्टीमेटम
आतंकियों के बाद अब नक्सली भी इस्तेमाल कर रहे ड्रोन, महाराष्ट्र ने जताई चिंता
जेवर विधायक ने पंचायत प्रतिनिधियों, क्षेत्र पंचायत सदस्यों व अधिकारियों के साथ की समीक्षा बैठक, दिए ...
ग्रेटर नोएडा :कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए सभी आयोजन निरस्त
पूर्व पीएम मनमोहन सिंह को एम्स से मिली छुट्टी, कोरोना संक्रमित होने के बाद 19 अप्रैल को हुए थे भर्ती
पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों के विरोध में कांग्रेस का प्रदर्शन
ग्रेटर नोएडा : दक्षिण एशिया का सबसे बड़ा फार्मा एक्सपो CPhI & P-MEC इंडिया एक्सपो का आयोजन
नई खोज: नासा को मंगल पर मिला ऑर्गेनिक सॉल्ट, भविष्य के मिशनों में सूक्ष्म जीवों की खोज में मिलेगी मद...
ग्रेटर नोएडा : लूट के मामले में फरार बदमाश पुलिस एनकाउंटर में घायल, 25 हज़ार का था ईनाम 
रेरा से खरीदारों को नहीं मिल रही है मदद : ए.के. सिंह, खरीदार
नारद स्टिंग केस: ममता की याचिका पर सुनवाई से सुप्रीम कोर्ट के जज अनिरुद्ध बोस ने खुद को किया अलग
घरेलू सहायकों, गार्ड , मेड़ प्रेस वाला के लिए भी कोरोना टीकाकरण शिविर आयोजित करे प्रशासन : नेफोमा