भारत में कोविड-19 टीकाकरण का आंकड़ा 32 करोड़ के पार पहुँचा 

भारत में अब तक 32 करोड़ से अधिक लोगों को कोविड-19 वैक्सीन की खुराक दी जा चुकी है। देश में अब तक 32,11,43,649 लोगों को टीका लगाया जा चुका है।
गौरतलब है कि बिहार, दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में 18-44 आयुवर्ग के 10 लाख से अधिक लोगों को कोविड वैक्सीन के पहली डोज़ दी जा चुकी है।

✅ टीकाकरण के लिए पंजीकरण कैसे करवाएं?

कोविड-19 टीकाकरण के लिए पंजीकरण Co-WIN पोर्टल (https://www.cowin.gov.in) और आरोग्य सेतु एप्प पर किया जा सकता है।
पंजीकरण करने के बाद व्यक्ति को वैक्सीन का स्थान और समय चुनना पड़ता है।

✅ भारत में इस्तेमाल किये जाने वाले टीके

✅ COVAXIN :

COVAXIN भारत बायोटेक द्वारा निर्मित एक सरकारी समर्थित टीका है।
इसकी प्रभावकारिता दर 81% है।
COVAXIN वैक्सीन के चरण तीन परीक्षणों में 27,000 से अधिक प्रतिभागियों ने भाग लिया है।
COVAXIN दो खुराक में दिया जाता है।
खुराक के बीच का समय अंतराल चार सप्ताह है।

✅ COVISHIELD :

COVISHIELD वैक्सीन एस्ट्राज़ेनेका द्वारा निर्मित है। स्थानीय रूप से, COVISHIELD सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया द्वारा निर्मित किया जा रहा है।
यह चिम्पांजी के एडेनोवायरस नामक एक सामान्य कोल्ड वायरस के कमजोर संस्करण से तैयार किया गया था। COVID-19 वायरस की तरह दिखने के लिए वायरस को संशोधित किया गया है।
यह दो खुराक में लगाया जाता है।

✅  स्पुतनिक वी (Sputnik V) :

इसे मॉस्को में गैम्लेया रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी (Gamleya Research Institute of Epidemiology and Microbiology) द्वारा विकसित किया गया था।

यह दो खुराक वाला टीका है।हालांकि, हाल ही में रूस में स्पुतनिक वी के एकल खुराक टीके का उत्पादन किया गया है। इसे स्पुतनिक लाइट सिंगल डोज कहा जाता है ।
भारत केवल डबल खुराक स्पुतनिक वी का इस्तेमाल कर रहा है।

जबकि COVISHIELD एक कमजोर सामान्य एडेनोवायरस से बनाया गया है जो चिंपैंजी को प्रभावित करता है, स्पुतनिक वी को विभिन्न मानव एडेनोवायरस का उपयोग करके बनाया गया है।

यह भी देखे:-

यूपी में चलता रहेगा आंधी-पानी का सिलसिला, आज उत्तरी इलाकों में बारिश के आसार
मुस्लिम बुद्धिजीवी जनसंख्या नियंत्रण पर हुए राजी , असम के मुख्यमंत्री सरमा के साथ बैठक
Diwali 2020: धनतेरस से दिवाली और भाई दूज तक की तारीख को लेकर न हों भ्रमित, जानिए यहां सही तिथि
कोरोना का कहर: चुनावी राज्यों में रैलियों से कई गुना बढ़ा, विशेषज्ञ चिंतित
जब संसद में निर्मला सीतारमण ने दिलाई 'दामाद' की याद, 'हम दो हमारे दो' पर राहुल को घेरा
आने वाले महीनों में फिर बढ़ेंगे पेट्रोल-डीजल के दाम, ये है वजह
मनोरंजन से संबंधित सेवाओं के लाइसेंस/अनुमति एवं उसके नवीनीकरण के लिए करें ऑनलाइन आवेदन
सिगरेट डीलर से लाखों की लूट
गाड़ी पटरी पर : कोविड काल में शुरू हुई विशेष ट्रेनें लौटेंगी ट्रैक पर
काबुल एयरपोर्ट पर अफगानी सेना और अज्ञात हमलावरों के बीच ताबड़तोड़ फायरिंग, एक जवान की मौत
विचार : क्या उत्तर प्रदेश में खिलाड़ियों का भविष्य सुरक्षित है !
Unnao Case: शुरुआती पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पुष्टि, दोनों लड़कियों के शरीर में मिला जहरीला पदार्थ
Coronavirus Cases Rise: महाराष्ट्र में 17 हजार से ज्यादा केस, स्कूल बंद, कर्फ्यू लागू..
फिर दिल्ली चलो: कोरोना के नाम पर किसान आंदोलन को कमजोर करने की साजिश, किसान संघों का आरोप
जिलाधिकारी ने जेवर एयरपोर्ट से विस्थापित परिवारों के लिए विकसित हो रहे क्षेत्र का किया निरीक्षण
यूपी : भ्रष्टाचार की शिकायत पर आगरा विवि के कुलपति का काम छिना, लविवि के कुलपति को अतिरिक्त चार्ज