चिंता: कोविशील्ड को वैक्सीन पासपोर्ट की मान्यता नहीं, यह टीका लगवाने वाले नहीं जा सकेंगे यूरोप

देश में कोरोना संक्रमण पर काबू पाने के लिए तेजी से कोविड टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। देश में फिलहाल, अधिकतर लोगों को कोविशील्ड वैक्सीन दी जा रही है, लेकिन इससे जुड़ी एक खबर ने विदेश जाने की तैयारी करने वाले यात्रियों की चिंता बढ़ा दी है। दरअसल, कोविशील्ड को अभी कई देशों ने अपने यहां मान्यता नहीं दी है। वहीं कोविशील्ड वैक्सीन लगवाने वाले यात्रियों को यूरोपीय संघ के देश अपने यहां आने की इजाजत नहीं देंगे।

यूरोपीय संघ के कई सदस्य देशों ने डिजिटल वैक्सीन पासपोर्ट जारी करना शुरू कर दिया है, जो यूरोपीय लोगों को काम या पर्यटन के लिए स्वतंत्र रूप से आने-जाने की अनुमति देगा।

वैक्सीन पासपोर्ट इस बात के प्रमाण के रूप में काम करेगा कि किसी व्यक्ति को कोरोना वायरस से प्रतिरक्षा देने वाला टीका लग गया है। यूरोपीय संघ ने पहले कहा था कि सदस्य देशों को कोविड-19 वैक्सीन के प्रकार की परवाह किए बिना प्रमाण पत्र जारी करना चाहिए, लेकिन ‘ग्रीन पास’ की तकनीकी विशिष्टताओं से संकेत मिल रहे हैं कि यह ईयू-व्यापी विपणन प्राधिकरण से प्राप्त करने वाले कोविड टीकों तक ही सीमित होगा।

ईयू ने इन वैक्सीन को दी है मंजूरी
यूरोपीय मेडिसन एजेंसी (ईएमए) की ओर से फिलहाल सिर्फ चार कोविड वैक्सीन को मंजूरी दी गई है, जिनमें फाइजर, मॉर्डना, एस्ट्राजेनेका और जॉनसन एंड जॉनसन का नाम शामिल है। यानी कि इन चार वैक्सीन को लगवाने वाले ही यूरोपीय देशों की यात्रा पर जा सकेंगे। पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) निर्मित एस्ट्राजेनेका कोविड वैक्सीन के एक संस्करण कोविशील्ड को यूरोपीय बाजार के लिए ईएमए ने अभी मंजूरी नहीं दी है।

यूरोपीय संघ ग्रीन पास के लिए केवल एस्ट्राजेनेका वैक्सीन के वैक्स्जर्वरिया संस्करण को ही मान्यता देगा, जो ब्रिटेन या यूरोप निर्मित है। वहीं कोविशील्ड वैक्सीन लगवाने वालों में निम्न और मध्यम आय वाले भारतीय शामिल हैं। बता दें कि कोविशील्ड को डब्ल्यूएचओ से भी मंजूरी मिल चुकी है। इसके बाद भी यूरोपियन संघ की ओर से वैक्सीन को मंजूरी नहीं दी गई।

 

यह भी देखे:-

कोरोना टीका: डॉक्टरों ने कहा- दूसरी डोज के लिए चिंतित न हों, 16 हफ्तों का अंतराल शरीर के लिए अच्छा
मोबाईल लूट के दौरान बदमाशों से बहादुरी से भिड़ी बी.टेक की छात्रा और ...
कोरोना संकट के बीच सेना प्रमुख ने की PM मोदी से मुलाकात, नरवणे ने दी तैयारियों को लेकर जानकारी
मदर डेज़ के दिन कई सोसाइटी में अलग अलग तरह से बनाया गया
कैप्टन अमरिंदर आज पीएम मोदी से कर सकते हैं मुलाकात, कांग्रेस में बेचैनी
नोएडा पुलिस ने लूटेरे का स्केच जारी किया
आँखों में लाल मिर्च पाउडर डाल कॉलेज छात्रा से लूट, महिलाओं ने किया प्राधिकरण का घेराव
हरियाणा कैबिनेट बैठक में कई अहम फैसलों पर लगी मोहर, हॉकी खिलाड़ियों को नौकरी व 2.5-2.5 करोड़ मिलेंगे
बॉडी का पावरहाउस है लिवर, हेल्‍दी रखने के लिए ऐसा होना चाहिए Diet Plan
वर्तमान महामारी परिदृश्य में प्रभावी ''प्रयोगशाला का महत्व और शिक्षा की गुणवत्ता'' पर वेबिनार
कमिश्नरी द्वारा ग्रामीणों के साथ भेदभाव की शिकायत, नोवरा प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री के नाम दिया वि...
चोरी हो गया है Smartphone, तो घर बैठे पा सकते हैं वापस, बस अपनाएं यह आसान तरीका
Weather Forecast: यूपी के इन जिलों में भारी बारिश की चेतावनी
कामनवेल्थ गेम्स में भारतीय खिलाडी ने लहराया परचम
सपा नेताओं का दल मिला रुद्राक्ष से,स्पाइनल मस्क्युलर एट्रोफी 2 नामक गंभीर बीमारी से है पीड़ित
जेपी बिल्डर के कार्यालय पर निवेशकों का हंगामा खरीददारों ने की जमकर तोड़फोड़