Russian Vaccine: रूसी वैक्सीन Sputnik V सभी वैक्सीनों में सबसे सुरक्षित, रिसर्च

नई दिल्ली। कोरोना वायरस से बचाव के लिए सभी देश अपनी-अपनी वैक्सीन के निर्माण में जुटे हैं। सौ से ज्यादा वैक्सीन पर दुनिया भर के वैज्ञानिक काम कर रहे हैं। भारत, चीन, अमेरिका, ब्रिटेन और रूस कोरोना से बचाव के लिए सफल वैक्सीन का निर्माण कर चुके हैं। इन सभी देशों की वैक्सीन में सबसे ज्यादा कारगर रूस की स्पूतनिक वैक्सीन है। अब तक की रिपोर्ट के अनुसार कोरोना संक्रमण से बचाव में रूसी वैक्सीन सबसे अधिक असरदार है जिसकी सफलता की दर 96.6 फीसद मानी गई है।

रूस की वैक्सीन सुरक्षा की दृष्टि से सबसे आगे:

ब्यूनस आयर्स में हुए अध्ययन में यह बात सामने आई है कि रूस की वैक्सीन सुरक्षा की दृष्टि से सबसे आगे है। अर्जेंटीना की हेल्थ मिनिस्ट्री ने अपने अध्ययन में पाया है कि Sputnik V अभी तक निर्मित सभी वैक्सीन में सबसे ज्यादा सुरक्षित है। इस वैक्सीन को लगाने से अभी तक एक भी मौत होने का मामला सामने नहीं आया है। इस वैक्सीन को लगवाने के बाद लोगों में बेहद कम साइड इफेक्ट देखने को मिले हैं।

हेल्थ मिनिस्ट्री द्वारा किया गया अध्ययन:

स्पूतनिक वी कितनी कारगर है इसकी सत्यता को परखने के लिए अर्जेंटीना की हेल्थ मिनिस्ट्री ने एक अध्ययन के आधार पर यह दावा किया है कि रूस की वैक्सीन Sputnik V सबसे कारगर वैक्सीन है। इस वैक्सीन को लगाने के बाद लोगों में मामूली से साइड इफेक्ट नोट किए गए है साथ ही इससे एक भी मौत होने का मामला सामना नहीं आया है।

मंत्रालय के मुताबिक अर्जेंटीना के ब्यूनस आयर्स प्रांत में लगाए जा रहे सभी कोविड-19 टीकों में स्पूतनिक-वी सबसे सुरक्षित बनकर उभरा है। अध्ययन के मुताबिक वैक्सीन लेने वाले 47 फीसदी लोगों को बुखार, 45 फीसदी को सिरदर्द, 39.5 फीसदी को मांसपेशियों व जोड़ों में दर्द और 46.5 फीसदी को टीके वाली जगह पर दर्द, जबकि 7.4 फीसदी को सूजन जैसे मामूली साइड इफेक्ट देखने को मिले हैं।

28 लाख को दी गई रूसी वैक्सीन:

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि अध्ययन 29 दिसंबर 2020 से तीन जून 2021 के बीच किए गए जो वैक्सीनेशन के रिकॉर्ड पर आधारित है। इस अवधि में ब्यूनस आयर्स में स्पूतनिक-वी की 28 लाख, साइनोफार्म की 13 लाख और एस्ट्राजेनेका के टीके की नौ लाख खुराक लगाई गई थी। तीनों वैक्सीन से प्रति दस लाख लाभार्थियों में गंभीर दुष्प्रभाव उभरने के क्रमश: 0.7, 0.8 और 3.2 मामले सामने आए है।

भारत में भी लग रही है रूसी वैक्सीन:

रूस की कोरोना वैक्सीन स्पुतनिक V को भारत में आपातकाल इस्तेमाल की मंजूरी दी गई है। रूसी वैक्सीन देश के नौ शहरों में उपलब्ध है। ये शहर हैं- बेंगलुरु, दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, कोलकाता, विशाखापटनम, बद्दी, कोल्हापुर और मिरयालागुडा।

 

यह भी देखे:-

पश्चिम बंगाल: कोरोना की वजह से चुनाव प्रचार पर EC ने लगाईं पाबंदियां, रोड शो पर रोक; रैली में नहीं ह...
केजरीवाल ने गोवा में युवाओं को सरकारी नौकरियां समेत किए कई वादे
बच्चों पर भी पड़ सकता है कोरोना का गहरा प्रभाव, जानिए क्या हैं इसके प्रमुख लक्षण
Indian Railways: क्या कोरोना की दूसरी लहर के बीच ट्रेन सेवाओं पर लगेगी रोक? जानें- रेलवे ने क्या कहा
कोरोना संकट : संक्रमण की नई लहर मई मध्य तक पहुंच सकती है अपने चरम पर
CORONA UPDATE : जानिए गौतम बुद्ध नगर का क्या है हाल
पुलिस कमिश्नर अलोक सिंह ने सकुशल शांतिपूर्ण मतगणना कराने के लिए मतगणना स्थल का किया निरिक्षण 
ईरान व सऊदी दोनों ही भारत के मित्र, तो कौन रच रहा साजिश : मिनहाज के संबंधों को खंगालने में जुटीं एजे...
राज्यसभा: सदन में गरजीं वित्त मंत्री, बोलीं- माल्या-मोदी और मेहुल.. ये सब स्वदेश लाए जा रहे
मुख्तार अंसारी के बहाने BJP नेता का ममता बनर्जी पर तंज, बोले- एक हार के डर से व्हीलचेयर पर, दूसरा मा...
स्थापना दिवस पर यमुना प्राधिकरण को तोहफा, जेवर एयरपोर्ट को मिली सैद्धान्तिक मंजूरी
सभी क्षेत्र वासियों को नववर्ष 2022 की हार्दिक शुभकामनाएं : एडवोकेट रविन्द्र भाटी,
यूपी परिवहन निगम के एमएसटी घोटाले में आधा दर्जन अफसर दोषी, क्या होगी कड़ी कार्रवाई
गौतमबुद्ध नगर में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव शुरू
ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में UP ने लगाई 12 पायदान की छलांग, निवेशकों की नजर में चढ़ गया उत्तर प्रदेश
एक दिन पहले मंगाई थी रस्सी, इसी से बने फंदे पर लटका मिला शव