यूपी: ओवैसी को मिल सकता है मजबूत साथ, अखिलेश को लगेगा झटका

भले ही उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव अगले साल यानी 2022 में होना है। लेकिन, इसकी तैयारियों और तोड़-जोड़ की राजनीति में सभी राजनीतिक पार्टियां जुट गई है। बीते दिनों बसपा के बागियों ने साइकिल की सवारी करते हुए। सपा में शामिल हो लिए थे।

लेकिन, अब ओवैसी की वजह से राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को झटका लग सकता है। दरअसल, सांसद असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम के साथ प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया (पीएसपी) के मुखिया शिवपाल सिंह यादव गठबंधन कर सकते हैं।

शिवपाल कई छोटे दलों के साथ गठबंधन करने की तैयारी में हैं। वहीं, अटकले ये लगाई जा रही है कि यदि शिवपाल और अखिलेश यादव के बीच गठबंधन नहीं होता है तो वो ओवैसी से हाथ मिला सकते हैं। यदि ऐसा होता है तो इससे एक तरफ ओवैसी को फायदा होगा। वहीं दूसरी तरफ अखिलेश यादव के लिए बड़ा झटका होगा। शिवपाल सिंह यादव अखिलेश यादव के चाचा हैं। चाचा और भतीजे के बीच की लड़ाई कई बार खुलकर सामने आई है।

बिहार विधानसभा चुनाव में शानदार प्रदर्शन के बाद ओवैसी के हौसले लगातार बुलंद होते जा रहे हैं। अब ओवैसी अधिकांश हर राज्य नगर निकाय चुनाव से लेकर विधानसभा चुनाव तक- सभी में ताल ठोक रहे हैं। अब ओवैसी ने उत्तर प्रदेश की तरफ रुख किया है।

यह भी देखे:-

Gandhi Jayanti: राजनाथ सिंह करेंगे लक्षद्वीप में महात्मा गांधी की पहली प्रतिमा का अनावरण
“लक्ष्य चुनो, एकाग्र हो, श्रम करो, धैर्य धरो, और विजय प्राप्त करो”- श्रीगुरु पवन सिन्‍हा
तय समय पर काम पूरा न करने पर ठेकेदार को काली सूची में डाला
हाईवे फैशन शो का चौथा सेशन दिल्ली में
राम मन्दिर: एयरपोर्ट के लिए मोदी सरकार ने भी दिया 250 करोड़, निर्माण कार्यों को मिलेगी गति
योगी सरकार ने माफिया मुख्तार अंसारी के किले को किया ध्वस्त, अब साम्राज्य का होगा खत्मा, जानें कैसे
भारत में उज्बेकिस्तान के राजदूत द्वारा एनटीपीसी दादरी का अवलोकन
गरीबों का सहारा बना समार्ट सिटीजन वेलफ़ेयर सोसाइटी ग्रेटर नोएडा
गौतम बुद्ध नगर कोरोना अपडेट, लगातार बढ़ रहे हैं मरीजों के आंकड़े , अब तक 11 की मौत
एक्सप्रेस वे पर बगैर नंबर के दौड़ रही हैं गाड़ियां, पुलिस बेपरवाह
गलगोटियास विश्वविद्यालय में छात्राओं ने जाना, कैसे चटाएं मनचलों को धूल, सीखे आत्मरक्षा के गुर
भारत में आने वाली है और बड़ी तबाही? मई में कोरोना से हर दिन हो सकती हैं 5 हजार मौतें, अमेरिकी स्टडी ...
ग्रेटर नोएडा: यमुना एक्सप्रेसवे पर घने कोहरे की वजह से आधा दर्जन वाहन आपस में भिड़े
GBU ने नया एम.एस. सी. मॉलिक्यूलर मेडिसिन कार्यक्रम शुरू किया
महानवमी को ब्रम्हचारी कुटी में हुआ हवन
रोटरी क्लब ने गौशाला में भेंट किया नमक ,गुड़ व खाने वाला सोड़ा