41 दिवसीय संकट मोचन महायज्ञ में आज भगवान कार्तिकेय को समर्पित की गई आहुति  

ग्रेटर नोएडा :  आज दिनांक 19 जून दिन शनिवार 2021 को सातवें दिन की आहुति पूर्ण हुई ।


ट्रस्ट के संयोजक सतेन्द्र राघव ने जानकारी देते हुए बताया आज के संकट मोचन महायज्ञ में भगवान शिव के बड़े पुत्र एवं देवताओं के सेनानायक कार्तिकेय भगवान को आज के महायज्ञ की आहुति समर्पित की गई भगवान कार्तिकेय ने जिस प्रकार तारकासुर का वध किया था तारकासुर के अत्याचारों से समस्त देवलोक भू-लोक  मृत्यु लोक तीनों ही लोकों में राक्षस तारकासुर ने अपने अत्याचारों से सभी को द्रवित कर रखा था और उसने ब्रह्मा जी से वरदान प्राप्त किया था कि मेरी मृत्यु केवल भगवान शिव के अंश से उत्पन्न संतान से ही हो अन्यथा मेरा वध किसी और से नहीं होना चाहिए ऐसे वरदान के कारण तीनों लोक त्राहिमाम त्राहिमाम कर रहे थे तब ब्रह्मा विष्णु एवं सभी देवताओं ने जाकर भगवान शिव की आराधना की एवं उनसे प्रार्थना की कि आप मां भगवती मां पार्वती से विवाह करके और समस्त सृष्टि एवं देव लोक और स्वर्ग लोक की रक्षा हेतु संतान उत्पत्ति का मार्ग प्रशस्त कर तारकासुर के वध हेतु हम सब देवों की प्रार्थना को स्वीकार करें ।

तत्पश्चात भगवान शिव ने मां पार्वती से विवाह करके और तारकासुर वध हेतु भगवान कार्तिकेय की उत्पत्ति का मार्ग प्रशस्त किया भगवान कार्तिकेय ने बड़े होकर तारकासुर का वध किया और तीनों लोकों को सुरक्षित किया ।
आज उसी प्रकार समस्त विश्व कोरोना महामारी से संघर्ष कर रहा है आज के महायज्ञ में भगवान कार्तिकेय से प्रार्थना की कि आप ने जिस प्रकार समस्त सृष्टि जैन एवं देवलोक स्वर्ग लोक को सुरक्षित करने के लिए तारकासुर का वध किया था उसी प्रकार इस कोरोना महामारी से समस्त विश्व जन को मुक्ति दिलाते हुए समस्त विश्व में शांति स्थापित करने की कृपा करें आज के 1 दिन एक दिवसीय मुख्य यजमान श्रीमान महेंद्र कुमार वर्मा जी रहे आज के महायज्ञ में विशेष रुप से पवन मित्तल, राखी मित्तल,  दुष्यंत ठाकुर,  श्रीपाल भाटी, रोहित प्रियदर्शन,  पंडित प्रकाश उपाध्याय, पंडित सूरज उपाध्याय, पंडित राजू शर्मा आदि सेक्टर के प्रबुद्ध जनों ने आहुति प्रदान की.

यह भी देखे:-

 जानिए 2020 के छठ पूजा की तारीख, नहाय-खाय, खरना, व्रत नियम और पूजा विधि...
नहायखाय के साथ सूर्योपसना का महापर्व छठ आज से शुरू, जानिए इसकी खासियत
आज का पंचांग, 11 दिसंबर 2020, जानिए शुभ एवं अशुभ मुहुर्त
खूनी संघर्ष में इजराइल-फिलिस्तीन आमने-सामने, क्या है विवाद की वजह?
13 घंटे में हरिद्वार से गंगा जल लेकर लौटी डेरी स्कनर डाक कावड़ टीम
आज का पंचांग, 4 नवम्बर 2020, जानिए शुभ एवं अशुभ मुहूर्त
आज का पंचांग , 22 जनवरी 2021, जानिए शुभ एवं अशुभ मुहूर्त 
सिन्दूर खेला की धूम के साथ माँ दुर्गा की हुई विदाई
ग्रेड्स इंटरनेशनल स्कूल ने नॉलेज पार्क स्थित गुरूद्वारे में मनाया गुरुपर्व
आज का पंचांग, 5 दिसंबर 2020, जानिए शुभ एवं अशुभ मुहूर्त
कल का पंचांग, 23 जुलाई 2021, जानिए शुभ एवं अशुभ मुहूर्त
भंगेल सलारपुर व्यापार मंडल ने भगवान विश्वकर्मा की धूमधाम से जयंती मनाई
वाराणसी: राहुल गांधी चीन के एजेंट है- सांसद मनोज तिवारी ,सैनिक पीछे जा रहे तो सीने में दर्द क्यों
रक्षाबंधन की पावन पौराणिक कथाएं और मुहूर्त आओ जानें
कौमी एकता की मिसाल बना दादरी : मुस्लिम समुदाय के लोगों ने किया कावड़ियों का स्वागत
आज का पंचांग, 28 जनवरी 2021, जानिए शुभ एवं अशुभ मुहूर्त