दिल्ली-एनसीआर : घर बैठे मिलेगा रैपिड ट्रेन का टिकट, मेट्रो कार्ड से भी कर सकेंगे सफर

रैपिड ट्रेन में सफर के लिए अब घर बैठे ही यात्रियों को टिकट मिलेगा। यात्रियों को टिकट और कार्ड के लिए स्टेशन पर लंबी लाइन में नहीं लगना होगा। एनसीआरटीसी के स्वचालित किराया भुगतान सिस्टम में यात्रियों को पहले मोबाइल एप या फिर वेबसाइट पर जाकर क्यूआर कोड स्कैन करना होगा। फिर दूरी भरते और ऑनलाइन भुगतान करते ही किराया कट जाएगा। फिर ऑनलाइन जेनरेट हुई इस टिकट को केवल स्टेशन में आकर और स्कैन कराकर प्लेटफार्म में प्रवेश पाया जा सकेगा। रैपिड ट्रेन में दिल्ली मेट्रो सहित देश के किसी परिवहन प्राधिकरण की ओर से जारी किए गए एनसीएमसी कार्ड से यात्रा की जा सकेगी।

 

देश की पहली रैपिड ट्रेन हर मामलों में सबसे खास होगी। एनसीआरटीसी की ओर से रैपिड में टिकटिंग सिस्टम को नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड के मानकों के आधार पर तैयार किया जा रहा है। ऐसे में रैपिड में यात्री दिल्ली मेट्रो सहित देश के किसी भी मेट्रो व परिवहन प्राधिकरण की ओर से जारी किए गए एनसीएमसी कार्ड से यात्रा करने में सक्षम होंगे। उन्हें अलग से रैपिड का टिकट कार्ड न होने की सुविधा मिलेगी। कॉरिडोर शुरू होने के पहले दिन से ही यह सुविधा लोगों को मिलेगी।

 

सहज प्रवेश निकास के साथ तीव्र और आरामदायक होगी यात्रा
देश के पहले आरआरटीएस कॉरिडोर में दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ के बीच यात्री बिना रुके और बिना बाधा के सफर कर सकेंगे। स्वचालित किराया भुगतान (एएफसी) सिस्टम यात्रियों को कई सुविधाएं देगा। घर बैठे तीन तरह से टिकट जेनरेट हो सकेगी। पहला डिटिजल क्यूआर कोड, फिर घर या फिर स्टेशन से पेपर क्यूआर कोड और फिर डिजिटल कार्ड के जरिए टिकट ली जा सकेगी। फिर घर से लेकर ट्रेन में बैठने और उतरने पर कोई व्यवधान नहीं आएगा।

बिजनेस क्लास में चढ़ने के लिए होगा अलग गेट
रैपिड कॉरिडोर में यात्रियों को सामान्य के साथ बिजनेस क्लास कोच की भी सुविधा होगी। ऐसे में हर स्टेशन पर बिजनेस क्लास कोच में सफर करने वालों के लिए एग्जीक्यूटिव लाउंज होगी। साथ ही बिजनेस क्लास में चढ़ने के लिए प्लेटफार्म स्तर पर अलग से एएफसी गेट उपलब्ध कराएं जाएंगे। स्टेशन के सभी प्रवेश व निकास द्वार सेंसर से युक्त होंगे।

यात्रियों के लिए रैपिड ट्रेन में सफर आरामदायक और सुविधाजनक बनाने के उद्देश्य से स्वचालित किराया भुगतान सिस्टम लाया जा रहा है। यह यात्रियों को मोबाइल एप या फिर वेबसाइट से डिजिटल व पेपर क्यूआर कोड के जरिए टिकट लेकर चलने की सुविधा होगी।
— पुनीत वत्स, सीपीआरओ, एनसीआरटीसी

 

यह भी देखे:-

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की कम्युनिटी किचन से 54,400 जरूरतमंदो को खाना खिलाया गया
बदमाशों ने की आॅटो रिक्शा चालक से लूटपाट
गौतमबुद्ध नगर : LOCKDOWN में फेज मजदूरो को घर भेजने की तैयारी शुरू
सपा बड़े भाई तो रालोद छोटे भाई की भूमिका में सामने आए, जनपद में मिलकर पंचायत चुनाव लड़ेंगे 
शारदा विश्वविद्यालय: संकाय बनाम स्टाफ सदस्यों का T 10 क्रिकेट टूर्नामेंट शुरू
सेल्स मैनेजेर की कातिल बीवी गिरफ्तार
CORONA UPDATE : जानिए गौतम बुद्ध नगर का क्या है हाल
नोएडा एक्सटेंशन मेडिकल एसोसियेशन (NEMA) का हुआ गठन
कोरोना का खौफ: SSC ने स्थगित कीं दो बड़ी भर्ती परीक्षाएं, यहां पढ़ें आधिकारिक अधिसूचना
कोरोना की दूसरी लहर: देश में पहली बार 10 लाख के पार पहुंची सक्रिय मामलों की संख्या, जानिए कहां कितने...
सुन्दर भाटी  के भतीजे ने किया सरेंडर , पढ़ें पूरी खबर 
Kisan Andolan Live: जंतर-मंतर पर किसानों की 'संसद', कृषि मंत्री बोले- हम बातचीत करने के लिए तैयार
अवैध इमारतों के बिल्डरों पर कसेगा शिकंजा, दर्ज होगा एफआईआर, जीएम प्रोजेक्ट ग्रेनो का तबादला
प्रेग्नेंट डीएसपी कोरोना के खिलाफ सड़क पर संभाल रहीं मोर्चा, वायरल हुआ वीडियो, सैल्यूट कर रहे लोग
बिहार ने PM मोदी को दिया सबसे बड़ा बर्थडे गिफ्ट, टीकाकरण में मारी बाजी, सेकेंड पर कौन रहा?
लद्दाख बॉर्डर पर फिर बढ़ी हलचल, भारत ने भेजे 50 हजार सैनिक, जानें क्या है माजरा