रूप बदल रहा है वायरस: सावधान…तबाही मचाने वाला है कोविड का यह नया वैरियंट, देश में अलर्ट

अपने देश में कोरोना के डेल्टा वैरियंट ने तबाही मचाई। लाखों लोगों की जान चली गयी। लेकिन डेल्टा वैरियंट से भी ज्यादा खतरनाक दक्षिण अमेरिका में मिला कोरोना का नया स्वरूप लैम्ब्डा (Lambda) वैरियंट है। देश के वैज्ञानिकों ने बताया अभी इसके केसेज पूर्वी यूरोप और एशिया के इलाके में नहीं मिले हैं लेकिन इसे लेकर पूरी मॉनिटरिंग और अलर्टनेस बरतनी शुरू कर दी गई है। आईसीएमआर और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के वैज्ञानिकों और अधिकारियों ने बताया की जो वैक्सीन दी जा रही है वह कोरोना के किसी भी घातक स्वरूप से निपटने के लिए सक्षम है। इसलिए फिलहाल डरने की कोई बात नहीं है, लेकिन अगले कुछ महीनों तक पूरी टीम को बहुत ज्यादा अलर्ट रहना होगा। आईसीएमआर के वरिष्ठ वैज्ञानिक ने बताया कोरोना के बदलते स्वरूप और उसके जीनोम को डिकोड करने के लिए लगातार देश के कई संस्थान दिन-रात शोध कर रहे हैं, अभी तक भारत में उन्हें कोरोना के इस बदले हुए स्वरूप के बारे में कोई भी केस नहीं मिला है। अपने देश में तबाही मचाने वाले डेल्टा वैरियंट के भी कई स्वरूप सामने आए हैं, लेकिन दक्षिण-अमेरिका में वायरस के बदले स्वरूप लैम्ब्डा को लेकर और ज्यादा सतर्कता बरतने की आवश्यकता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी वायरस के इस नए स्वरूप को लेकर चिंता जाहिर की है। पूरी दुनिया में अब तक 29 मुल्कों में इस बदले हुए स्वरूप ने सबसे ज्यादा तबाही मचानी शुरू कर दी है।

यह भी देखे:-

राहुल गांधी का ट्विटर पर बड़ा कदम, इन 50 लोगों को किया अनफॉलो, क्या है तैयारी?
राम मन्दिर: एयरपोर्ट के लिए मोदी सरकार ने भी दिया 250 करोड़, निर्माण कार्यों को मिलेगी गति
बंगलूरू में शुरू हुआ एशिया का सबसे बड़ा एयरो इंडिया-2021 शो
Samsung Galaxy M51 में मिल रहा भारी Discount, फोन में है 7000mAh की बैटरी
तेज रफ़्तार क्रेटा कार दुर्घटनाग्रस्त
स्व. बाबू हुकुम सिंह की प्रतिमा का रक्षामंत्री राजनाथ सिंह करेंगे अनावरण
जी.एन.आई.ओ.टी में स्मार्ट इंडिया हैकथॉन का आयोजन
एबीवीपी के प्रांत अधिवेशन में नवीन कार्यकारिणी की घोषणा
जरूरतमंदो को हर दिन नि:शुल्क खाना खिला रहा है एस्क्लेपियस फाउंडेशन
बीजेपी मिशन 2022 : संगठन ने की समीक्षा, सीएम योगी ने पेश किया सरकार का रिपोर्ट कॉर्ड
स्वतंत्रता के उपलक्ष्य पर जी. डी. गोयनका पब्लिक स्कूल में स्पेशल अंसेबली 
सुनवाई: कांवड़ यात्रा पर सुप्रीम कोर्ट फिर सख्त, यूपी सरकार से कहा- फैसले पर करें पुनर्विचार, वरना ह...
कोविड-19 के मद्देनजर जहांगीरपुर में रमजान के त्यौहार को लेकर बैठक
एक मार्च से चलेंगी लोकल ट्रेन्स, जानें किन किन स्टेशनों पे रुकेंगी ये ट्रेन्स
नोएडा प्राधिकरण ने करोड़ों रूपये की जमीन अतिक्रमण से मुक्त कराई
राहुल गांधी का सवाल: डेल्टा प्लस स्वरूप की रोकथाम के लिए बड़े स्तर पर जांच क्यों नहीं हो रही