उपचार एप्लीकेशन गूगल प्ले-स्टोर पर हुई लॉन्च

  • सहारा बनेगी उन हजारों गरीबों का, जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं और डॉक्टर के पास अपनी बीमारी को लेकर नहीं पहुंच पाते हैं
 
जहां आज के इस दौर में एक डॉक्टर की फीस 07 सौ 50 रूपए है, वही इस एप्लीकेशन के माध्यम से लोग सीधे डॉक्टर से जुड़ जाएंगे और वह भी निःशुल्क। मकसद है समाज के उस अंतिम छोर तक पहुंचने का, जहां लोग अपनी स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के लिए बीमारियों से लड़ते रहते हैं और असमय कालकलवित हो जाते हैं, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। हम सामाजिक कार्यकर्ताओं के माध्यम से गांव-गांव इस एप्लीकेशन को इंस्टॉल करवाएंगे और स्वास्थ्य सेवाओं को, उन लाचार व कमजोर लोगों तक पहुंचाएंगे, जिन्हें इसकी जरूरत है।
जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह ने बताया कि कोरोनाकाल में जिस तरीके से गरीब लोगों को अपना इलाज कराने में दिक्कतें आई, उसी को देखते हुए, इस उपचार एप्लीकेशन को तैयार करवाया। साथ ही इस एप्लीकेशन को लांच करवाने में राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान के निदेशक डा0 राकेश गुप्ता और उनकी टीम का भी बहुत योगदान रहा है तथा राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान के डॉक्टर इस एप्लीकेशन पर मरीजों की डिटेल पर नजर रखेंगे तथा सूचना प्राप्त होते ही कम से कम 05 मिनट और अधिक से अधिक 01 घंटे में मरीज के पास प्रिस्क्रिप्शन उसकी एप्लीकेशन में ही पहुंच जाएगा। गरीब और जरूरतमंद लोगों को डॉक्टर की पहुंच तक लाने के लिए यह एप्लीकेशन एक मील का पत्थर साबित होगी।”

 

जेवर विधायक धीरेंद्र सिंह ने आगे बताया कि ’’आने वाले समय में ग्रामीण क्षेत्र की स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करने के लिए सभी स्वास्थ्य केंद्रों को दुरुस्त कराए जाने का कार्य चल रहा है तथा और अधिक बेहतरी के लिए इस एप्लीकेशन को डिजाइन कराया गया है, जिससे हम समाज के उस अंतिम छोर तक पहुंच सके, जिन्हें आपदा के समय बेहद कष्टों का सामना करना पड़ा था। भविष्य में हम इंडियन मेडिकल एसोसिएशन व अन्य मेडिकल कॉलेजों की भी मदद लेंगे, जिससे ज्यादा से ज्यादा मरीजों को लाभ पहुंचा सकें।’’  
फिलहाल यह एप्लीकेशन ग्रेटर नोएडा के कासना स्थित राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान के डॉक्टरों की देखरेख में चलेगी और पूरे जनपद गौतमबुद्धनगर के लोग इसे अपने मोबाइल में इंस्टॉल कर, इसका लाभ उठा सकते हैं। यद्यपि यह अभी एंड्रॉयड फोन के लिए उपलब्ध है, लेकिन शीघ्र ही यह एप्लीकेशन आईओएस वर्जन में भी उपलब्ध कराई जाएगी, जिसकी तैयारियां आरंभ की जा चुकी है। इस एप्लीकेशन को लोगों तक पहुंचाने के लिए हम जिला प्रशासन, यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण, ग्रेटर नोएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण, नोएडा प्राधिकरण व पुलिस विभाग की भी मदद लेंगे तथा ग्रामों में तैनात आंगनवाड़ी ग्राम सचिव और एएनएम के माध्यम से हर घर तक इस एप्लीकेशन को पहुंचाने का इरादा है।
दिनांक 31 मई 2021 को यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण में जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह, पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह, जिलाधिकारी गौतमबुद्धनगर श्री सुहास एलवाई, मुख्य कार्यपालक अधिकारी श्री अरुण वीर सिंह, जिम्स के डायरेक्टर श्री राकेश गुप्ता आदि के द्वारा ’’उपचार’’ एप्लीकेशन की लांचिंग की गई थी।

यह भी देखे:-

दवाई से ज्यादा फायदा पहुंचाती है फिजियोथेरेपी:विजय धवन
आजमपुर गढ़ी में ग्राम पुस्तकालय को बनाया गया क्वारन्टीन सेंटर, दिल्ली पुलिस का हेड कॉन्स्टेबल निभा रह...
शारदा अस्पताल के डॉक्टरों  ने कोरोना  संक्रमित 105 साल की बुजुर्ग अफगानी  महिला को दी ईदी , दिया नया...
वैक्सीन की किल्लत: अधर में लटका कोरोना टीकाकरण ; टीकाकरण केंद्रों को अस्थायी तौर पर करना पड़ा बंद
CORONA UPDATE : जानिए गौतमबुद्ध नगर में क्या है हाल, जानिए 
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस :  विज़न हेल्थ एंएजुकेशन फाउंडेशन द्वारा  फ्री सैनिटरी पैड का वितरण 
विश्व एड्स दिवस पर महिला उन्नति संस्था ने चलाया जागरूकता कार्यक्रम
कोरोना अपडेट: जानिए गौतमबुद्ध नगर का क्या है हाल, कोरोना ने एक की ली जान 
विश्व स्ट्रोक दिवस पर शारदा यूनिवर्सिटी मेडिकल कॉलेज में कई कार्यक्रम आयोजित
सम्मति प्राकृतिक चिकित्सा केंद्र द्वारा प्राकृतिक चिकित्सा पद्धति पर प्रकाश डाला गया
शारदा विश्विद्यालय में मासिक धर्म स्वच्छता प्रबंधन पर संगोष्ठी
न हो ऑक्सीजन की कमी, शुरू हुआ ऑक्सीजन बैंक, पढें पूरी ख़बर
AYURYOG EXPO 2019 : ग्रेटर नोएडा में योग गुरु स्वामी रामदेव के सानिंध्य में योग शिविर कल
स्वास्थ सेवा उद्योग ऑनलाइन पोर्टल स्थापित करे : डॉ. अनूप वाधवन , व्यापार एवं उधोग सचिव
रोटरी क्लब द्वारा हाइपरटेंशन पर वार्ता व हेल्थ शिविर आयोजन
ग्रेटर नोएडा: 14 नवंबर को डयबिटीज वॉक, YouTube Live Session में डॉक्टर से लीजिये परामर्श