अध्ययन में दावा: सिरदर्द और गले में खराश अब सबसे आम कोविड लक्षण

कोरोना संक्रमण लहरों के दौरान ज्यादातर लोगों में खांसी-बुखार और सांस की तकलीफ के साथ गंध और स्वाद न आने की शिकायत देखने को मिली। कोविड-19 के कई ऐसे संक्रमित भी देखे गए जिनको कोई लक्षण नहीं था। अब एक अध्ययन का दावा है कि सिरदर्द और गले में खराश अब सबसे आम कोविड लक्षण हैं।

 

किंग्स कॉलेज लंदन के वैज्ञानिक, जो एक कोरोनो वायरस निगरानी प्रॉजेक्ट चलाते हैं, उनका कहना है कि बीमारी अब अलग तरह से काम कर रही है। वैज्ञानिकों का मानना है कि मई की शुरुआत से तेजी से फैल रहा भारतीय डेल्टा वैरियंट लक्षणों में बदलाव के पीछे हो सकता है।

 

प्रमुख शोधकर्ता प्रोफेसर टिम स्पेक्टर ने कहा कि अगर लोगों को लगता है कि उन्हें सर्दी है तो उनको परीक्षण करवाना चाहिए इससे कोविड के किसी भी संभावित प्रसार को रोकने में मदद होगी।

वायरस के लक्षणों का पता लगाने के लिए किंग्स कॉलेज ने एक जेडओई नाम का एक एप विकसित किया है। इस एप को पिछले मार्च में लॉन्च किया था। यह देश का सबसे बड़ा लक्षण-ट्रैकिंग अध्ययन है।

जेडओई ऐप द्वारा विश्लेषण किए गए डेटा से पता चला है कि महामारी की शुरुआत में खांसी सबसे आम लक्षण था, जिसमें 46 प्रतिशत संक्रमित रोगियों को इसके बारे में पता नहीं था लेकिन वो संक्रमित थे।

प्रोफेसर स्पेक्टर ने बताया कि लोगों को पता नहीं है और लोग सोच नहीं पा रहे कि उन्हें किसी प्रकार की मौसमी सर्दी है और वे पार्टी में जाते हैं और वे वायरस को चारों ओर फैला सकते हैं।

प्रोफेसर स्पेक्टर ने आगे कहा कि मई की शुरुआत से हम लक्षणों पर नजर बनाए हुए हैं कि जो पहले थे वैसे अब नहीं हैं। नंबर एक सिरदर्द है इसके बाद गले में खराश, नाक बहना और बुखार है और नंबर पांच खांसी है। कोरोना के लक्षणों में शरीर की थकान भी आती है जो शुरुआती लक्षणों के बाद होती है।

 

यह भी देखे:-

कोरोना के कारण अनाथ हुए बच्चों को मिलने वाली मदद को लेकर SC में सुनवाई
पजेशन न मिलने से दु:खी खरीदारों ने किया हंगामा, पीएम सीएम से लगाई मदद की गुहार
नोएडा में  बड़ा हादसा : नोएडा में निर्माणधीन ईमारत गिरी, पांच के दबे होने की आशंका 
अखिल भारतीय किसान सभा ने दी आंदोलन की चेतावनी
चुनावी हिंसा : वाराणसी ग्राम प्रधान पद के प्रत्याशी की गोलियां बरसाकर हत्या, इलाके में सनसनी
मिशन: तकनीकी गड़बड़ी के कारण इसरो ने टाला जीआईसैट-1 का प्रक्षेपण
दिल्ली: एलजी की शक्तियां बढ़ने से बेचैन क्यों हैं केजरीवाल, क्या बिखर जाएगा आम आदमी पार्टी का यह सपन...
मधुमेह रोग विशेषज्ञ डॉक्टर अमित गुप्ता हेल्थ आइकॉन अवार्ड से सम्मानित
पंखे से लटक कर युवक ने दी जान 
घुट-घुट कर नहीं जी सकता : तेजप्रताप
ग्रेटर नॉएडा प्राधिकरण के स्ट्रीट लाइट के कमजोर खम्भे है जानलेवा , अभी हादसा टला:-
ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने की नई प्रक्रिया से बढ़ी अनट्रेंड ड्राइवर की मुश्किल
विधायक जेवर धीरेन्द्र सिंह ने कोरोना वॉरियर्स को अपने हाथों से बनाकर पिलाई कॉफी"
किसान आंदोलन: संसद भवन की सड़क से लेकर आसमान तक कड़ी सुरक्षा व्यवस्था, ट्रैक्टर न घुसने देने के सख्त...
अब आप भी खोल सकते हैं सीएनजी स्‍टेशन, जानिए नई गाइडलाइन
नोएडा , ग्रेटर नोएडा व यमुना प्राधिकरण को मिला नया चेयरमैन