IT rules 2021: टीवी चैनलों-अखबारों के डिजिटल न्यूज प्लेटफार्म आइटी नियमों के दायरे में, सरकार ने छूट देने से किया इन्कार

नई दिल्ली, प्रेट्र। केंद्र सरकार ने टीवी चैनलों और अखबारों के डिजिटल न्यूज प्लेटफार्म को नए आइटी नियमों के दायरे से बाहर रखने से इन्कार कर दिया है। सरकार ने इनसे आइटी नियम, 2021 के प्रावधानों के अनुपालन के लिए तत्काल कदम उठाने को कहा है।

मंत्रालय ने कहा- वेबसाइट को कानून के दायरे में लाने का औचित्य तर्कपूर्ण

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने कहा कि संगठनों की वेबसाइट को कानून के दायरे में लाने का औचित्य तर्कपूर्ण है। मंत्रालय ने डिजिटल न्यूज पब्लिशर, पब्लिशर ऑफ ऑनलाइन क्यूरेटट कंटेंट या ओटीटी प्लेटफार्म और एसोसिएशन ऑफ डिजिटल मीडिया पब्लिशर को दिए स्पष्टीकरण में यह बात कही।

मंत्रालय ने कहा- कानून में किसी तरह के अपवाद को शामिल करना भेदभाव होगा

मंत्रालय ने कहा कि कानून में किसी तरह के अपवाद को शामिल करना वैसे डिजिटल न्यूज पब्लिशर के साथ भेदभाव होगा, जो पारंपरिक टीवी या प्रिंट मीडिया से नहीं जुड़े हैं।

एनबीए ने मंत्रालय को पत्र लिखकर आइटी नियमों से छूट प्रदान करने का अनुरोध किया था

नेशनल ब्राडकास्टर्स एसोसिएशन (एनबीए) ने हाल ही में मंत्रालय को पत्र लिखकर पारंपरिक टेलीविजन न्यूज मीडिया और उनके डिजिटल न्यूज प्लेटफार्म को सूचना प्रौद्योगिकी (मध्यवर्ती संस्थानों के लिए दिशा-निर्देश और डिजिटल मीडिया आचार संहिता) नियमों, 2021 के दायरे से बाहर रखने और छूट प्रदान करने का अनुरोध किया था। एनबीए ने कहा था कि ये पहले से ही विभिन्न नियमों, कानूनों, दिशानिर्देशों और संहिताओं से बंधे हुए हैं।

मंत्रालय ने एनबीए के अनुरोध को अस्वीकार करते हुए कहा- अतिरिक्त नियामक बोझ नहीं

मंत्रालय ने कहा, ‘चूंकि, आचार संहिता यह कहती है कि ऐसे डिजिटल प्लेटफार्म पारंपरिक प्रिंट एवं टीवी मीडिया के लिए मौजूदा मानदंडों/ सामग्री नियमों का पालन करेंगे, इसलिए ऐसी संस्थाओं के लिए कोई अतिरिक्त नियामक बोझ नहीं हैं। इसलिए डिजिटल मीडिया नियमों से बाहर रखने के उनके अनुरोध को स्वीकार नहीं किया जा सकता है।’

यह भी देखे:-

मायावती का ब्राह्मण कार्ड: खुशी दुबे की रिहाई के लिए कानूनी लड़ाई लड़ेगी बसपा
एंटी रोमियो स्क्वायड का ‘जुलाई अभियान , शिक्षण संस्थानों की छात्राओं को किया गया जागरूक
गौतमबुद्ध नगर : जानिए कोरोना पर आज की रिपोर्ट
अनिल अंबानी को नहीं मिला बड़े भाई का सहारा
अन्ना सत्याग्रह के मंच से उठा किसानों का मुद्दा, किसान व महिलाएं हुए शामिल
स्टेन स्वामी की मौत का जिम्मेदार कौन?
DUSU ELECTION 2019: नोएडा, ग्रेटर नोएडा के सैकड़ों कार्यकर्ता करेंगे प्रचार-प्रसार
दिल्ली एनसीआर में धरती कांपने से थर्राए लोग
दिल्ली : कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला को हुआ कोरोना, ट्वीट कर दी जानकारी
गरीबों का सहारा बना समार्ट सिटीजन वेलफ़ेयर सोसाइटी ग्रेटर नोएडा
गलगोटिया विश्वविद्यालय के सहयोग से COVID 19 महामारी पर वेबिनार, डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा और छात्र हुए...
करप्शन फ्री इंडिया के कार्यकर्ताओं ने डॉक्टर भीमराव अम्बेडकर की प्रतिमा पर किये पुष्पर्पित
कोरोना : अब इस राज्य में भी मिला ‘डेल्टा प्लस’ वेरिएंट का मरीज, सरकार हुई सावधान
ग्रामीण डाक सेवकों की हड़ताल तेहरवें दिन जारी
केजरीवाल अब हरियाणा में चाहते हैं कांग्रेस से गठबंधन
बोधि तरु विद्यालय में धूमधाम से मनाया गया श्रमिक दिवस