यूपी : 65 जिला पंचायतों में अध्यक्ष बनाने का भाजपा का लक्ष्य, जिपं और क्षेपं अध्यक्ष चुनाव की तारीखों का ऐलान जल्द

भाजपा ने जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में प्रदेश की 75 में से 65 सीटों पर काबिज होने का लक्ष्य तय किया है। मुख्यमंत्री आवास पर बुधवार रात हुई पार्टी की कोर कमेटी की बैठक में रणनीति पर मंथन किया गया। इसको लेकर प्रदेश सरकार जल्द अधिसूचना जारी कर सकती है। इसके बाद राज्य निर्वाचन आयोग अधिसूचना जारी करेगा।

 

प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और महामंत्री संगठन सुनील बंसल ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव के लिए अब तक हुई तैयारी की जानकारी दी। 65 में से करीब 55 से अधिक जिला पंचायतों में भाजपा की तैयारी पूरी है। जानकारों का मानना है कि 2015 में तत्कालीन सत्तारूढ़ दल सपा के 62 जिला पंचायत अध्यक्ष थे। भाजपा ने सपा का रिकार्ड तोड़ने के लिए 65 का लक्ष्य रखा है। उम्मीदवारों की घोषणा के साथ ही पार्टी हर जिले में मंत्रियों, सांसदों और विधायकों की देखरेख में चुनाव कराएगी।

 

सभी सदस्यों को मतदान के दिन तक किसी होटल, रिसोर्ट, धर्मशाला, स्कूल-कॉलेज भवन में  पार्टी की निगरानी में रखा जाएगा। उधर, क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष पद के लिए भी उम्मीदवार चयन की कवायद शुरू हो गई है। पार्टी ने 500 से अधिक क्षेत्र पंचायतों में अध्यक्ष पद पर चुनाव जिताने की रणनीति बनाई गई है। योजना है कि जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव होने के 10 से 15 दिन बाद क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष पद के चुनाव कराए जाएंगे। दोनों चुनाव 15 जुलाई तक कराने की योजना है।

ना प्रमाण पत्र दिखाएंगे, ना ही सदस्य बताएंगे
जिला पंचायत अध्यक्ष पद के दावेदार अपने पास पर्याप्त संख्या बल होने का दावा तो कर रहे हैं लेकिन प्रतिद्वंद्वी दावेदार के पास सूचना पहुंचने के भय से पार्टी के बड़े नेताओं को भी मौजूद सदस्यों के प्रमाण पत्र दिखाने को तैयार नहीं है। इतना ही नहीं दावेदार उनके पाले में बैठे सदस्यों की परेड कराने को भी तैयार नहीं है। दावेदार दावा कर रहे हैं कि पार्टी जैसे ही टिकट दे देगी वैसे ही प्रमाण पत्र और सदस्यों को पेश कर देंगे। दावेदारों के इस रुख से पार्टी के बड़े नेताओं की मुसीबत बढ़ गई है।

आयोगों में अध्यक्ष की नियुक्ति जल्द
राज्य अल्पसंख्यक आयोग, अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग और अनुसूचित जाति आयोग में अध्यक्ष की नियुक्ति जल्द होगी। बुधवार रात मुख्यमंत्री आवास पर सीएम की मौजूदगी में भाजपा कोर कमेटी की बैठक में आयोगों और बोर्डों में अध्यक्ष के खाली पदों पर नियुक्ति पर मंथन किया गया। सरकार जल्द ही तीनों प्रमुख आयोगों के साथ अन्य निगम, आयोग और बोर्डों में रिक्त पदों पर नियुक्ति का सिलसिला शुरू करेगी। सूत्रों के मुताबिक तीनों आयोगों के लिए नाम तय कर लिए गए हैं।

 

यह भी देखे:-

भाजपा बिसरख मंडल ने बूथ सत्यापन समिति समीक्षा हेतु बैठक का आयोजन किया
जिला प्रशासन गौतम बुद्ध नगर द्वारा जारी कंटेनमेंट जोन  की सूची, देखें 
दवाओं के साथ आपके फेफड़ों की मजबूती भी है जरूरी:-डॉ अजय (फिजियोथेरपिस्ट्)
NEP 4 INDIA: टीचर्स व एडल्ट एजुकेशन का भी तैयार होगा नया पाठ्यक्रम, शिक्षा मंत्रालय ने दिए निर्देश
ग्रेटर नोएडा : कोरोना प्रोटोकॉल के साथ खुले स्कूल
बिजली कटौती पर सीएम योगी सख्त : अफसरों पर करें कार्रवाई करने और व्यवस्थाएं दुरुस्त करने की हिदायत
जाति और मुख्य जनगणना एक साथ होना मुश्किल, जानें क्यों?
पेट्रोल, डीजल और एलपीजी गैस के बाद अब सीएनजी भी महंगी
रोटरी क्लब ग्रीन ग्रेनो ने किया पौधारोपण
गलगोटियाज विश्वविद्यालय के इनोवेशन काउंसिल ने  "उद्यमिता और नवाचार के रूप में कैरियर के अवसर" विषय प...
क्राइम ब्रांच ने तीन हथियार तस्करों को दबोचा, विदेशी पिस्टल बरामद
फास्टैग: क्यों जरूरी है गाड़ी पर और कैसे करता है काम, जानें।
अखिलेश यादव का दावा : अपने कार्यकाल में जो सेवाएं हमने शुरू कीं वही काम आ रही हैं आज
रोह‍िंग्‍या के मुद्दे पर योगी-मोदी पर बरसे सांंसद संजय स‍िंंह
International Women's Day पर अमेज़न प्राइम ने की नई सीरीज़ की घोषणा, एक्टिंग से लेकर निर्देशन तक सब ...
मोदी के विकास को अवकाश पर भेजने का वक्त आ गया: प्रियंका गांधी