डीयू ओपन बुक परीक्षा आज से : ईमेल और पोर्टल दोनों पर स्वीकार नहीं होगी कॉपी

दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) के नियमित कॉलेज और एसओएल में आज से स्नातक और परास्नातक पाठ्यक्रम की ओपन बुक परीक्षा (ओबीई) शुरू हो रही है। इसका आयोजन दो पालियों में निर्धारित किय गया है। पहली पाली सुबह नौ बजे व दूसरी पाली दोपहर तीन बजे की है। डीयू ने स्पष्ट किया है कि छात्रों की ओर से ईमेल और पोर्टल दोनों पर सबमिशन करने पर स्वीकार नहीं किया जाएगा, बल्कि किसी एक पर ही  सबमिशन करना होगा।

 

डीयू ने दिव्यांग छात्रों को हितों को ध्यान में रखते हुए उनके लिए समर्पित विशेष ईमेल आईडी पर भी स्क्रिप्ट जमा करने की सुविधा प्रदान की है। डीयू ने स्पष्ट किया है कि छात्रों को ओबीई पोर्टल पर ही उत्तर पुस्तिका को जमा करना है। यदि पोर्टल पर पुस्तिका को जमा करने में बार-बार परेशानी आ रही है और कोई विकल्प नहीं है तब छात्र ईमेल आईडी का विकल्प अपना सकते हैं। हालांकि, डीयू ने पोर्टल पर उत्तर पुस्तिका को जमा करने में देरी होने पर एक घंटा अतिरिक्त देने की भी सुविधा प्रदान की है।

 

दिव्यांग छात्रों को जारी दिशा निर्देशों के अनुसार, डीयू ने उन्हें उत्तर पुस्तिका को पोर्टल पर ही अपलोड करने का प्रयास करने के लिए कहा है। यदि ऐसा करने में वे सक्षम नहीं हो पाते हैं तो दिव्यांग छात्र उनके लिए प्रदान की गई समर्पित ईमेल आईडी पर उत्तर पुस्तिका को भेज सकते हैं। डीयू ने स्पष्ट किया है कि दिव्यांग छात्रों को नोडल अधिकारी को स्क्रिप्ट जमा नहीं करनी है। वहीं, कोई अन्य छात्र भी दिव्यांग छात्रों की ईमेल आईडी पर स्क्रिप्ट जमा नहीं करेगा।

पोस्ट ग्रेजुएट छात्रों के लिए डीयू ने स्पष्ट किया है कि वे किसी प्रकार की परेशानी होने पर अपने विभागाध्यक्ष से संपर्क कर सकते हैं। डीयू के परीक्षा डीन के मुताबिक, ओबीई पोर्टल पर उत्तर पुस्तिका को अपलोड करने के असफल मामले में छात्रों को ईमेल पर विषय पंक्ति में पेपर कोड और रोल नंबर लिखना अनिवार्य है।

डीयू के मुताबिक, निर्धारित समय से अधिक देरी होने पर ईमेल सबमिशन केवल आपातकालीन स्थितियों में ही होना चाहिए और केवल कॉलेज की अधिसूचित ओबीई ईमेल आईडी जमा की जानी चाहिए।  वहीं, दिसंबर और मार्च ओपन एग्जामिनेशन परीक्षा के तरह इस बार भी उत्तर पुस्तिकाओं के परिणाम देरी से जारी हो सकते हैं। इसका कारण सत्यापन प्रक्रिया में विलंब बताया जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि एक दिन पहले ही डीयू ने ओबीई परीक्षा को लेकर अधिसूचना जारी की थी। इसके तहत छात्रों के पास उत्तर लिखने के लिए तीन घंटे, प्रश्न पत्र डाउनलोड करने और स्क्रिप्ट को अपलोड करने के लिए एक घंटा और देरी से जमा करने के लिए एक घंटा  अतिरिक्त उपलब्ध रहेगा। हालांकि, इसके लिए छात्रों को देरी के कारण के प्रमाण के रूप में स्क्रीनशॉट भी अपलोड करने होंगे।

दिव्यांग छात्र को लेखक की मिली मंजूरी
डीयू ने ओबीई परीक्षा में एक दिव्यांग छात्र की मांग पर उसे लेखक के  लिए मंजूरी दे दी है। छात्र ने लिखने में असमर्थता जताते हुए डीयू से लेखक की मंजूरी मांगी थी। छात्र का कहना था कि दृष्टिबाधित होने की वजह से वह ओबीई परीक्षा को करने में असमर्थ है। वहीं, डीयू के एक अधिकारी के मुताबिक, इस बार अधिकतर छात्रों ने ऑनलाइन मॉड से ही परीक्षा देने के विकल्प को चुना है।

 

यह भी देखे:-

अपने ही राज्यों में अपने बने कांग्रेस का सिरदर्द, राहुल-सोनिया दे पाएंगे दवा?
हिंदू पंचांग का फाल्गुन मास शुरू, नई ऊर्जा और यौवन का महीना ,जानें इस महीने किन बातों का रखना चाहिए ...
मशहूर यूट्यबूर का राज कुंद्रा पर खुलासा, अपनी एप में काम करने के लिए लोगों को लुभाते थे शिल्पा शेट्ट...
4 सप्ताह बढ़ जाएगी गर्भपात की सीमा, विधेयक को राज्यसभा ने भी दी मंजूरी
Ryanites shines in 2nd National Games National Badminton Award 18
लॉकडाउन में एटीएम तोड़ते रंगे हाथ गिरफ्तार
ग्रेटर नोएडा में प्रॉपर्टी हुई महंगी, 117 वीं बोर्ड बैठक की पढ़ें विस्तृत रिपोर्ट
आदर्श विहार सोसायटी के निर्विरोध अध्यक्ष बने प्रमोद नागर
मोदी के सलाहकार अमरजीत सिन्हा ने दिया इस्तीफा, PMO छोड़ने वाले साल के दूसरे बड़े अधिकारी
बाबा रामदेव के खिलाफ IMA की नई रणनीति, बिहार में जगह-जगह मुकदमे कराएंगे डॉक्‍टर
बंगाल चुनाव: नंदीग्राम सीट से कांग्रेस-लेफ्ट गठबंधन ने किया उम्मीदवार का ऐलान, जानें ममता और शुभेंदु...
ग्रेटर नोएडा वेस्ट रेसिडेंट्स ने किया राष्ट्रपति जिनपिंग के पुतले का दहन
लखीमपुर में उपद्रव व हिंसा : लखनऊ में घर के बाहर धरने पर बैठे अखिलेश यादव, विपक्ष की सियासत तेज
वारदात: चाकू मार ऑटो चालक से लूट
होमगार्ड का आरोप : अधिकारी ने कराई तेल मालिश, खाना बनवाया ...और कराते हैं गंदा काम
नासा की भविष्यवाणी: 2030 में चांद पर होगी हलचल और धरती पर आएगी विनाशकारी बाढ़