सरकार ने बताया, इन 9 राज्यों ने इस्तेमाल ही नहीं की वैक्सीन की पूरी खेप

देश में कोरोना के मामलों में गिरावट दर्ज की जा रही है लेकिन राज्यों में वैक्सीन की कमी की खबरें अभी भी सामने आ रही हैं। इस बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के पास अभी भी 1.65 करोड़ वैक्सीन की डोज उपलब्ध हैं। केंद्र सरकार के आंकड़ों के अनुसार, कम से कम नौ राज्यों ने जनवरी और मार्च के बीच उन्हें सप्लाई की गई कोरोना वैक्सीन की खुराक को पूरा इस्तेमाल किया ही नहीं। इसी के चलते महामारी के खिलाफ टीकाकरण अभियान धीमा हो गया।

बता दें कि भारत ने 16 जनवरी को कोरोना के खिलाफ दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू किया था। 31 मार्च तक चले अभियान के पहले दो चरणों में विशेष रूप से स्वास्थ्य सेवा और फ्रंटलाइन कार्यकर्ताओं को कवर किया गया। इसके बाद 60 वर्ष से अधिक उम्र और फिर 45 वर्ष से अधिक उम्र वाले लोगों को वैक्सीन दी गई।

राज्यों को हर माह बढ़ाकर दिए गए टीके

एचटी द्वारा देखे गए डेटा से पता चला है कि राजस्थान, पंजाब, छत्तीसगढ़, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, झारखंड, केरल, महाराष्ट्र और दिल्ली ने उन्हें दी गई वैक्सीन का पूरा इस्तेमाल किया ही नहीं। एक सरकारी अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया, “ये राज्य, जनवरी, फरवरी और मार्च में केंद्र की ओर से टीकों की अच्छी खासी सप्लाई  के बावजूद, अपनी आबादी के एक बड़े हिस्से को प्रभावी ढंग से टीका लगाने में विफल रहे।” इन सभी राज्यों को सरकार ने हर महीने टीकों की संख्या बढ़ाकर ही दी है।

किस राज्य को मिली कितनी वैक्सीन

अधिकारी ने बताया कि वैक्सीन को लेकर जागरुकता की कमी और हिचकिचाहट के चलते भी टीकाकरण धीमा रहा। राजस्थान को तीन माह में दी गई 1.06 करोड़ खुराक में से 0.57 करोड़ ही इस्तेमाल की गई, पंजाब को दी गई 0.29 करोड़ खुराक में से लगभग 840,000 ही  इस्तेमाल की गई। छत्तीसगढ़ को मिली 0.43 करोड़ खुराक में से 0.19 करोड़ ही  इस्तेमाल की गई। वहीं तेलंगाना में 0.41 करोड़ में से केवल 0.13 करोड़ वैक्सीन ही इस्तेमाल की गई। आंध्र प्रदेश को मिली 0.66 करोड़ वैक्सीन में से 0.26 करोड़ और झारखंड में 0.31 करोड़ में से लगभग 0.16 करोड़ की यूज की गई। इसके अलावा केरल को दी गई 0.63 करोड़ वैक्सीन में से 0.34 करोड़ ही इस्तेमाल हुई। इधर, महाराष्ट्र ने केंद्र द्वारा दी गई 1.43 करोड़ खुराक में से केवल 0.62 करोड़ खुराक का ही इस्तेमाल किया जबकि दिल्ली ने 0.44 करोड़ में से 0.24 करोड़ को ही इस्तेमाल किया

यह भी देखे:-

चार दिवसीय आत्मरक्षा कैप्शूल कार्यक्रम में सरकारी विद्यालय की छात्राओं को कराटे प्रशिक्षण दिया गया
कांग्रेस मतलब झूठे घोषणापत्र, भ्रष्टाचार और घोटालों की गारंटी- असम में रैली के दौरान बोले पीएम मोदी
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने दो कंपनियों को काली सूची में डाला
यूपी : एटीएस ने यूपी से तीन और को दबोचा, दिल्ली पुलिस ने पूछताछ के बाद तीनों को छोड़ा
Tokyo Olympics 2020 Day 9 Live: वंदना की हैट्रिक, महिला हॉकी टीम के क्वार्टर फाइनल की आस बढ़ी
कोरोना: Monoclonal Antibody Therapy हो सकती है कारगर, 12 घंटे में ही ठीक हुए मरीज
प्रयागराज : उच्च न्यायालय इलाहबाद का कोविड संक्रमण को लेकर बड़ा आदेश
देखें VIDEO, 26 फ़रवरी को आयोजित होने वाले दीक्षांत समारोह पर रिपोर्ट
ग्रेटर नोएडा में दिन दहाड़े अधिवक्ता की गोली मारकर हत्या 
अल्फा 1 आरडब्लूए  ब्रह्मकुमारी के साथ मिलकर किया पौधरोपण 
एक रोमानी प्रेम कहानी का दर्दनाक अंत, सीआइएसएफ के सब इंस्पेक्टर ने पत्नी की हत्या करने के बाद कर ली ...
पाकिस्‍तानी सेना में चीन निर्मित VT-4 टैंक शामिल, जानें भारतीय टैंकों के आगे कहां ठहरता है यह
पैसे के लेनदेन में दोस्तों ने ली दोस्त की जान !
UP Board 10th, 12th Result 2021: रिजल्ट में देरी का कारण, 31 जुलाई तक संभावना कम
बंगाल में व्हीलचेयर पर ममता बनर्जी का शक्ति प्रदर्शन, योगी आदित्यनाथ करेंगे तीन जनसभाएं
कोरोना नियंत्रण: यूपी मॉडल कारगर, 24 घंटे में मिले सिर्फ 90 नए संक्रमित केस