अलीगढ़ शराब कांड: आबकारी आयुक्त हटाए गए, सीओ और आठ सिपाही भी निलंबित, अब तक 85 की मौत

अलीगढ़ में हुए शराब कांड में सरकार ने बड़ी कार्रवाई करते हुए आबकारी आयुक्त पी गुरुप्रसाद को हटा दिया गया है। उनके स्थान पर प्रतिनियुक्ति से लौटे रिग्जयान सैंफिल को आबकारी आयुक्त बनाया गया है। अभी तक इस मामले में बड़े अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई न करने से सरकार पर सवाल उठ रहे थे।

 

यही नहीं, अलीगढ़ में जहरीली शराब कांड में सीओ गभाना कर्मवीर सिंह को निलंबित कर दिया है। इस मामले में सीओ खैर शिवप्रताप सिंह और सीओ सिटी थर्ड विशाल चौधरी से घटना के संबंध में तीन दिनों के अंदर स्पष्टीकरण देने के लिए कहा गया है। यह जानकारी अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने दी है।

 

एक अन्य घटानाक्रम में एसएसपी अलीगढ़ ने आठ बीट सिपाही निलंबित कर दिए हैं। उन पर आरोप है कि उनके इलाकों में शराब बिकती रही और मौत हो गई और उन्हें भनक तक नहीं लगी। वहीं, उन्होंने बीट सिपाहियों को जरूरी निर्देश भी दिए हैं। इधर, इंस्पेक्टर टप्पल पीके मान के निलंबन के बाद टप्पल में समय सिंह को नया इंस्पेक्टर तैनात किया है।

एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि मानवाधिकार सेल के प्रभारी समय सिंह को टप्पल में तैनाती दी गई है। वहीं बीट सिपाहियों पर भी शिकंजा कसा जा रहा है। उन्हें जरूरी हिदायतें दी गई हैं। इसी क्रम में आठ को निलंबित किया गया है।

जानकारी के अनुसार अलीगढ़ में सरकारी ठेके से जहरीली शराब बिकने की घटना को सरकार ने गंभीरता से लिया। अलीगढ़ शराब कांड में यह अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई है। इससे पहले संयुक्त आबकारी आयुक्त स्तर तक के अधिकारियों पर ही कार्रवाई हुई थी।

पिछली घटनाएं भी बनी आबकारी आयुक्त के हटने की वजह
प्रदेश में जहरीली शराब की वजह से केवल इस वर्ष एक दर्जन से अधिक घटनाएं हो चुकी हैं, जिसमें 100 से अधिक लोगों की जान जा चुकी है। इसमें प्रतापगढ़ और प्रयागराज में आधा दर्जन घटनाएं, फतेहपुर, चित्रकूट, अम्बेडकरनगर, बदायूं, आजमगढ़ और बुलंदशहर में हुई घटनाएं शामिल हैं।

इन सभी मामलों में शासन और प्रशासन द्वारा जिला स्तर पर कार्रवाई करके खाना पूरी कर दी जा रही थी। पहले इन घटनाओं को पंचायत चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा था। लेकिन पंचायत चुनाव समाप्त होने के बाद भी घटनाओं का सिलसिला जारी था। लेकिन इस बार अलीगढ़ में सरकारी ठेके से लेकर पी गई शराब से दर्जनों लोगों की जान चली गई। इस घटना ने तब और तूल पकड़ लिया जब सता पक्ष के सांसद और विधायक ने ही अधिकारियों पर सवाल उठाने शुरु कर दिए। जिसके बाद सरकार पर कार्रवाई का दबाव काफी बढ़ गया था। माना जा रहा है कि इसी दबाव के कारण ही आबकारी आयुक्त को उनके पद से हटाया गया है।
सहारनपुर और कुशीनगर की घटना के बाद के भी हटाए गए थे आबकारी आयुक्त
फरवरी 2019 में सहारनपुर और कुशीनगर में जहरीली शराब पीने से 100 से अधिक लोगों की जान चली गई थी। इस घटना के बाद तत्कालीन आबकारी आयुक्त धीरज साहू को हटा दिया गया था। उनके स्थान पर पी गुरुप्रसाद को आबकारी आयुक्त बनाया गया था। अब अलीगढ़ की घटना के बाद पी गुरुप्रसाद को हटाया गया है। सपा शासन काल में 2015 में मलिहाबाद में जहरीली शराब से हुई 35 लोगों की मौत के बाद तत्कालीन आबकारी आयुक्त अनिल गर्ग को हटाया गया था।

आबकारी विभाग के दो और अधिकारी किए गए निलंबित
उधर, शासन ने आबकारी विभाग के दो और अधिकारियों को अलीगढ़ शराब कांड मामले में निलंबित कर दिया है। इसमें आगरा जोन के संयुक्त आबकारी आयुक्त रविशंकर पाठक और अलीगढ़ प्रभाग के उप आबकारी आयुक्त ओपी सिंह को निलंबित कर उनके खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दिए गए हैं। रवि शंकर पाठ के स्थान पर लखनऊ जोन के संयुक्त आबकारी आयुक्त धीरज सिंह को आगरा जोन का अतिरिक्त चार्ज दिया गया है। इसी तरह आगरा प्रभाग के उप आबकारी आयुक्त विजय कुमार मिश्र को अलीगढ़ प्रभाग के उप आबकारी आयुक्त का अतिरिक्त चार्ज दिया गया है।

पुलिस महकमे में अब तक 13 निलंबित
उधर, अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि अलीगढ़ की घटना में अब तक 13 पुलिस कर्मियों को निलंबित किया गया है जिसमें इंस्पेक्टर और सब इंस्पेक्टर रैंक के पांच कर्मी व 8 मुख्य आरक्षी व आरक्षी शामिल हैं। उन्होंने बताया कि विस्तृत रिपोर्ट मिलने के बाद कुछ और अधिकारियों के खिलाफ भी कार्रवाई की जा सकती है।
साल दर साल होते रहे हादसे
मई 2021- अलीगढ़ में जहरीली शराब पीने से 40 से अधिक लोगों की मौत
मई 2021- अम्बेडकरनगर में जहरीली शराब से 16 की मौत
मई 2021-आजमगढ़ में जहरीली शराब से 20 से अधिक की मौत
अप्रैल 2021-बदायूं में जहरीली शराब पीने से 4 लोगों की मौत
मार्च-अप्रैल 2021- प्रतापगढ़ के तीन थाना क्षेत्रों में एक दर्जन से अधिक लोगों की मौत
मार्च-अप्रैल 2021- प्रयागराज के तीन अलग अलग थाना क्षेत्रों में जहरीली शराब से 36 से अधिक की मौत
मार्च 2021- फतेहपुर में जहरीली शराब से 3 लोगों की मौत
मार्च 2021- चित्रकूट में जहरीली शराब पीने से 5 लोगों की मौत
जनवरी 2021- बुलंदशहर में जहरीली शराब पीने से 7 की मौत
नवंबर 2020- फिरोजाबाद में जहरीली शराब पीने से 3 लोगों की मौत
नवंबर 2020- प्रयागराज में जहरीली शराब पीने से 6 लोगों की मौत
नवंबर 2020-  लखनऊ में जहरीली शराब पीने से चार लोगों की मौत
फरवरी 2019- सहारनपुर में जहरीली शराब पीने से 65 लोगों की मौत
फरवरी 2019- कुशीनगर में जहरीली शराब पीने से 11 लोगों की मौत
मई 2018- कानपुर देहात के रूरा में 9 लोगों की मौत
मई 2018- कानपुर नगर के सचेंडी में 7 लोगों की मौत
जनवरी 2018- बाराबंकी में 9 लोगों की मौत
जुलाई 2017-  आजमगढ़ में जहरीली शराब पीने से 25 लोगों की मौत

अलीगढ़ शराब कांड: अब तक 85 की मौत, फैक्टरी संचालक गिरफ्तार
जिले में जहरीली शराब से सोमवार को 14 और लोगों की मौत के साथ ही इस हादसे में मरने वालों की संख्या 85 हो गई है। वहीं, पुलिस ने शहर के कारोबारी और स्याही-सैनिटाइजर फैक्टरी के संचालक विजेंद्र कपूर को गिरफ्तार कर लिया है। कपूर के पास से 6000 लीटर मिथाइल-इथाइल अल्कोहल जब्त की गई है और फैक्टरी को सील कर दिया गया है।

आबकारी विभाग की मेरठ स्थित प्रयोगशाला ने घटना के पहले दिन करसुआ के ठेके से जब्त शराब के नमूनों में मिथाइल अल्कोहल की पुष्टि की है। इससे लोगों की आंखों की रोशनी जाने से लेकर मौत तक हो जाती है

 

यह भी देखे:-

Fastag यमुना एक्सप्रेस-वे पर है 'बेकार', जानें क्या है वजह
खुलासा: प्रधानमंत्री मोदी के साथ मंच साझा कर चुका है धर्मांतरण का आरोपी इरफान शेख, पीएम ने थपथपाई थी...
सड़क सुरक्षा का टीका की शुरुआत करेंगे हेलमेट मैन
मुठभेड़ में मुन्ना बजरंगी और मुख्तार अंसारी गैंग के दो बदमाश ढेर, डिप्टी जेलर हत्याकांड में थे शामिल
कोरोना : बोरिस जॉनसन का भारत दौरा रद्द, दोनों देशों के बीच '2030 रूपरेखा' पर लगनी थी मुहर
जी-7 की बैठक में बड़ा फैसला, तालिबान के साथ बातचीत के लिए रोडमैप बनाएंगे सात देश
कृषि कानून के विरोध में बीकेयू ने बन्द किया ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस वे, वाहनों की लगी लंबी कतार
कोरोना के नए वैरिएंट 'लैम्बडा' की चपेट में आए 29 देश, इसके आगे एंटीबॉडी भी होगी बेअसर
अस्पताल के बेड से ममता ने जारी किया वीडियो, कहा- व्हीलचेयर पर ही करूंगी चुनाव प्रचार
DL के लिए नही देना पड़ेगा अब कोई टेस्ट, जाने प्रोसेस
गलगोटियाज विश्वविद्यालय में कोविड -19 पर एक ऑनलाइन वेबिनार साप्ताहिक व्याख्यान
सीएम योगी ने किया कैलाश मानसरोवर भवन का शिलान्यास
संकल्प संस्था का हुआ गठन,समाज को करेंगे जागरूक
ग़ाज़ियाबाद : बच्ची में मंकीपॉक्स के लक्षण दिखने के बाद  मचा हड़कंप, जांच के लिए पुणे भेजे गए सैंपल
किसान आंदोलन या उपद्रव, आखिर क्या है माजरा !
भारतीय राष्ट्रीय पत्रकार महासंघ के राष्ट्रीय सचिव बने, नंद गोपाल वर्मा