कोरोना की दूसरी लहर ने कितने लोगों को किया बेरोजगार, जानिए हैरान कर देने वाला ये आंकड़ा

Unemployment By Coronavirus: कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के कारण देश में एक करोड़ से अधिक लोगों को नौकरी से हाथ धोना पड़ा है जबकि पिछले साल महामारी की शुरूआत से लेकर अबतक 97 प्रतिशत परिवारों की आय घटी है। सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन एकोनॉमी (सीएमआईई) के मुख्य कार्यपालक अधिकारी महेश व्यास ने सोमवार को यह कहा। व्यास ने पीटीआई-भाषा से कहा कि शोध संस्थान के आकलन के अनुसार बेरोजगारी दर मई में 12 प्रतिशत रही जो अप्रैल में 8 प्रतिशत थी। इसका मतलब है कि इस दौरान करीब एक करोड़ भारतीयों को नौकरी से हाथ धोना पड़ा है।

उन्होंने कहा कि रोजगार जाने का मुख्य कारण कोविड-9 संक्रमण की दूसरी लहर है। ‘‘अर्थव्यवस्था में कामकाज सुचारू होने के साथ कुछ हद तक समस्या का समाधान हो जाने की उम्मीद है। लेकिन यह पूरी तरह से नहीं होगी।’’ व्यास के अनुसार जिन लोगों की नौकरी गयी है, उन्हें नया रोजगार तलाशने में दिक्कत हो रही है। असंगठित क्षेत्र में रोजगार तेजी से सृजित होते हैं, लेकिन संगठित क्षेत्र में अच्छी नौकरियों के आने में समय लगता है।

उल्लेखनीय है कि पिछले साल मई में कोरोना वायरस महामारी की रोकथाम के लिये लगाये गये देशव्यापी ‘लॉकडाउन’ के कारण बेरोजगारी दर 23.5 प्रतिशत के रेकॉर्ड स्तर तक चली गयी थी। कई विशेषज्ञों की राय है कि संक्रमण की दूसरी लहर चरम पर पहुंच चुकी है और अब राज्य धीरे-धीरे पाबंदियों में ढील देते हुए आर्थिक गतिविधियों की अनुमति देना शुरू करेंगे।

व्यास ने आगे कहा कि 3-4 प्रतिशत बेरोजगारी दर को भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए ‘सामान्य’ माना जाना चाहिए। यह बताता है कि स्थिति ठीक होने में समय लग सकता है। उन्होंने कहा कि सीएमआई ने अप्रैल में 1.75 लाख परिवार का देशव्यापी सर्वे का काम पूरा किया। इससे पिछले एक साल के दौरान आय सृजन को लेकर चिंताजनक स्थिति सामने आयी है।

व्यास के अनुसार सर्वे में शामिल परिवार में से केवल 3 प्रतिशत ने आय बढ़ने की बात कही जबकि 55 प्रतिशत ने कहा कि उनकी आमदनी कम हुई है। सर्वे में 42 प्रतिशत ने कहा कि उनकी आय पिछले साल के बराबर बनी हुई है। उन्होंने कहा, ‘‘अगर महंगाई दर को समायोजित किया जाए, हमारा अनुमान है कि देश में 97 प्रतिशत परिवार की आय महामारी के दौरान कम हुई है।’’

यह भी देखे:-

यूपी: भारी बारिश के कारण मुख्यमंत्री योगी ने बाराबंकी दौरा रद्द किया, अब तक कई मौतें
अवधेश अग्रवाल एक बार फिर आईएचजीएफ दिल्ली फेयर स्प्रिंग 2023 की स्वागत समिति के प्रेसिडेंट नामित
भारी बारिश की वजह से उत्तराखंड में अलर्ट, गंगा और अन्य नदियां खतरे के निशान से ऊपर
ग्रेटर नोएडा में रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम को अनिवार्य रूप से लागू करे प्राधिकरण : गोल्डन फेड...
पुलिस से घिरता देख कुख्यात ने खुद को गोली से उड़ाया
यूपी चुनाव 2022: यूपी में फिर आएगी योगी सरकार, मिलेंगी 300 से ज्यादा सीटें
Corona Third Wave : केंद्र ने कहा- भीड़ वाली जगहों पर अंकुश लगाएं राज्य, दोबारा प्रतिबंध की चेतावनी
लखनऊ : कोरोना के नए केसों संख्या 300 से भी नीचे पहुंची
दिल्ली में आयोजित रोलर स्केटिंग में ग्रेनो के बच्चों का शानदार प्रदर्शन
"जनता के लिए ज्यादा से ज्यादा विकास करना हमारा लक्ष्य ": धीरेन्द्र सिंह
श्री धार्मिक रामलीला मंचन : रामजन्म होते ही जय श्री राम के जयकारे से गूंज उठा मैदान
समसारा विद्यालय Excellence in Education अवार्ड से सम्मानित
कोरोना अपडेट, जानिए प्रदेश में क्या है हाल 
यूपी : आज जारी हो सकती है शिक्षकों के पारस्परिक तबादले की सूची
पेड़ से टकराई कार, दो की मौत
कोरोना के दुष्परिणाम 48 फीसदी छात्र पढ़ना-लिखना भूले-सर्वे