पता लगाएं कहां से आया कोरोना, नहीं तो कोविड-26, कोविड-32 का सामना करने को रहें तैयार; अमेरिकी विशेषज्ञों की चेतावनी

अमेरिका के दो विशेषज्ञों ने रविवार को कहा कि कोविड-19 की उत्पत्ति का पता लगाने के लिए दुनिया को चीन सरकार के सहयोग की आवश्यकता है ताकि भविष्य में महामारी के खतरे को रोका जा सके। ट्रंप सरकार में फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन में कमिश्नर रहे और फाइजर के बोर्ड के मौजूदा सदस्य स्कॉट गोटलिब ने कहा है कि कोरोना वायरस के चीन के वुहान लैब से निकलने की थ्योरी के समर्थन में सूचनाएं मिल रही हैं।

गोटालिब ने सीबीएस न्यूज पर कहा, ”थ्योरी के खंडन में चीन ने सबूत नहीं दिए हैं, जबकि वन्यजीवों से वायरस आने को लेकर जांच में संकेत नहीं मिले हैं।” टेक्सास चिल्ड्रेन हॉस्पिटल सेंटर फॉर वैक्सीन डिवेलपमेंट के को-डायरेक्टर पीटर होत्ज ने एक अलग टीवी कार्यक्रम में कहा कि कोरोना वायरस की उत्पत्ति का पता नहीं लगने से भविष्य में नई महामारी का खतरा है।

एनबीसी चैनल पर एक कार्यक्रम में पीटर ने कहा, ”यदि हम कोविड-19 की उत्पत्ति को अच्छी तरह से नहीं समझ लेते हैं तो कोविड-26 या कोविड-32 भी आ सकते हैं।” चीन के वुहान सीफूड मार्केट में वायरस मिलने के एक साल बाद भी इसकी सही उत्पत्ति का पता नहीं चला है। वैज्ञानिकों ने अनुमान लगाया कि यह किसी जंगली जानवर से मानवों तक पहुंचा। ट्रंप सरकार में कुछ विशेषज्ञों ने यह भी कहा कि वायरस गलती से चीन के वुहान लैब से बाहर आ गया। अब ट्रंप प्रशासन की ओर से भी इसका समर्थन किया जा रहा है।

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने पिछले बुधवार को कहा कि वायरस की उत्पत्ति का पता लगाने की आवश्यकता है। उन्होंने एजेंसियों को इसका पता लगाकर 90 दिनों में रिपोर्ट देने को कहा है। उन्होंने कहा कि अमेरिकी इंटेलिजेंस एजेंसियों में इस बात को लेकर मतभेद है कि वायरस प्राकृतिक तरीके से मानवों तक पहुंचा या यह वुहान के लैब से लीक हुआ।

यह भी देखे:-

सीएए पर 'बजरंगी' की पुस्तक का विधायक पंकज सिंह ने किया विमोचन
कपड़ा मंत्री पीयूष गोयल नेएक्सपोमार्ट के एक्सपोर्टर के राजेश जैन को दिया अवार्ड
जीएनआईओटी ने कोरोना काल मे दो नए संस्थान की शुरुआत 
गेंहूं खरीद के लिए व्यापक प्रबंधक, किसानों को नही होगी कोई परेशानी : धीरेन्द्र सिंह
शानदार बिजनेस इंक्वाइरी के साथ आईएचजीएफ-दिल्ली मेले के 52वां संस्करण समपन्न हुआ
सोशल मीडिया फर्म के प्रतिनिधियों से IT मंत्री अश्विनी वैष्णव कर सकते हैं मुलाकात
जिला पंचायत चुनाव: BJP ने लहराया परचम , मैनपुरी के साथ रामपुर में भी जीते
मेरी ही पार्टी के नेताओं ने मुझ पर हमला किया था- राहुल गांधी
पीएम व सीएम के संबोधनों में भी नोएडा-ग्रेनो छाए रहे
भारत की सिरिंज भी कोरोना के खिलाफ लड़ाई में बनी अहम हथियार, आशा भरी नजरों से देख रही दुनिया
बस  से पंजाब जा रहे थे मजदूर , पुलिस ने पकड़ा 
WHO बोला- 53 देशों में कोरोना वायरस की नई लहर का खतरा, यूरोप कोरोना महामारी का केंद्र
आनन-फानन में राष्ट्रीय संपत्ति बेचना देशहित में नहीं- कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी
जीऍनआईओटी  ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस का एडूस्कील्स फाउंडेशन के साथ अनुबंध
शारदा विश्विद्यालय में फ्रेशर पार्टी, छात्र-छात्राएं म्यूजिक पर थिरके, उमंग सेठी मिस्टर फ्रेशर तो चा...
12 दिसंबर को राष्ट्रीय लोक अदालत का होगा आयोजन