अंतरिक्ष में भारतीय सेना की दस्तक से घबराया पाकिस्तान, ‘नए खतरे’ को लेकर कर रहा बैठकें

पाकिस्तान को इन घटनाक्रमों का जवाब देना होगा और वह आत्मसंतुष्ट नहीं रह सकता. पैनलिस्टों ने बताया कि इन मुद्दों को लेकर सरकार चिंतित है और लगातार बैठकों के माध्यम से रणनीतियों पर चर्चा की जा रही है. इस्लामाबाद: पाकिस्तान के परमाणु परीक्षण के 23 साल हो पूरे हो गए. पाकिस्तान ने भारत के परमाणु परीक्षण के जवाब में ये धमाके किये थे. और आज भारत से ज्यादा परमाणु हथियार पाकिस्तान के पास हैं. भले ही परमाणु हथियारों के मामले में पाकिस्तान भारत के साथ होड़ कर रहा है, लेकिन वो अंतरिक्ष के मामले में भारत से कोसों से पीछे है और इसकी वजह से पाकिस्तान के कर्ता धर्ता अक्सर खीझते रहते हैं.

अंतरिक्ष में भारत का दमदार दखल

भारत अंतरिक्ष के क्षेत्र में दुनिया की प्रमुख ताकतों में शुमार है. जिसे लेकर पाकिस्तान के अंदर हमेशा से असुरक्षा की भावना रही है. अब जबकि पाकिस्तान के परमाणु परीक्षण के 23 साल पूरे हुए तो पाकिस्तान के शीर्ष वैज्ञानिकों ने एक कार्यक्रम में हिस्सा लिया, जहां उनकी चिंता खुलकर सामने आ गई.

परिचर्चा का आयोजन

पाकिस्तान के प्रमुख मीडिया संस्थान डॉन के मुताबिक, ‘Pakistan’s Quest for Peace and Strategic Stability in South Asia’ नाम से एक परिचर्चा का आयोजन हुआ, जिसमें दो पैनलिस्ट, रणनीतिक योजना प्रभाग के सलाहकार जमीर अकरम और विदेश कार्यालय में महानिदेशक शस्त्र नियंत्रण और निरस्त्रीकरण कामरान अख्तर ने हिस्सा लिया. इस परिचर्चा में भारत को लेकर पाकिस्तान की चुनौतियों पर चर्चा हुई.

भारत से पिछड़ने पर चिंतित पाकिस्तान

इस कार्यक्रम में पाकिस्तानी अधिकारियों ने भारत (India) द्वारा अंतरिक्ष (Space) और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (Artificial Intelligence) के सैन्यीकरण को पाकिस्तान (Pakistan) की सुरक्षा के लिए एक ‘उभरता हुआ खतरा’ करार दिया. इस परिचर्चा के दौरान पैनलिस्टों ने क्षेत्र की ‘कमजोर’ रणनीतिक स्थिरता और भारत की आक्रामक मुद्रा के बारे में अपनी चिंताओं को दोहराया.

पाकिस्तान बहुत पीछे

परिचर्चा में पैनलिस्टों ने पाकिस्तान के सामने विशेष रूप से उन उभरती चुनौतियों पर जोर दिया, जिन्हें अब और नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है. राजदूत अकरम ने उल्लेख किया कि भारत अमेरिकी समर्थन के साथ अपने शस्त्रागार में नई युद्ध तकनीकों – साइबर युद्ध, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, रोबोटिक्स और घातक स्वायत्त हथियारों को एकीकृत करने पर काम कर रहा है. उन्होंने जोर देकर कहा कि पाकिस्तान को इन घटनाक्रमों का जवाब देना होगा और वह आत्मसंतुष्ट नहीं रह सकता. पैनलिस्टों ने बताया कि इन मुद्दों को लेकर सरकार चिंतित है और लगातार बैठकों के माध्यम से रणनीतियों पर चर्चा की जा रही है.

यह भी देखे:-

कोरोना की बेकाबू हुई रफ्तार, PM मोदी आज मुख्यमंत्रियों के साथ करेंगे चर्चा, वैक्सीन पर भी होगी बात
अच्छी खबर: अब आप घर बैठे कर सकेंगे कोरोना की जांच, एबॉट ने कम कीमत में लॉन्च की होम टेस्ट किट
कर्मचारी नही करना चाहते वर्क फ्रॉम होम, ऑफिस से काम की इच्छा जताई
एंटीलिया केस में NIA का बड़ा एक्शन, 12 घंटे की पूछताछ के बाद सचिन वाझे गिरफ्तार, आज होगी कोर्ट में प...
अस्पताल के बेड से ममता ने जारी किया वीडियो, कहा- व्हीलचेयर पर ही करूंगी चुनाव प्रचार
The Family Man Season 3 को लेकर मनोज वाजपेयी ने कही ये बात, पढ़ें पूरी खबर
दिल्ली में राहत : बारिश और लॉकडाउन ने धो डाला हवा में घुला प्रदूषण, वायु गुणवत्ता में सुधार
बीजेपी कार्यकर्ताओं ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय की पुण्यतिथि को  'समर्पण दिवस' के रूप में मनाया
मेरी ही पार्टी के नेताओं ने मुझ पर हमला किया था- राहुल गांधी
दिल्ली सरकार ने बदला 'मुख्यमंत्री घर घर राशन योजना' का नाम, केजरीवाल ने किया एलान
रोटरी क्लब ग्रीन ग्रेनों ने मनाया तीज महोत्सव
यूपी बोर्ड इंटरमीडिएट के नतीजे घोषित , अंजलि परमार बनी जिला टॉपर
लखनऊ: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद अपने दो दिवसीय लखनऊ दौरे पर, राज्यपाल व मुख्यमंत्री ने किया स्वागत
नासा का मार्स मिशन : परसिवरेंस रोवर की सफलता के पीछे जुड़ा है एक भारतीय मूल की महिला का भी नाम!
समसारा विद्यालय में Cbse Career Guidance कार्यशाला का आयोजन
शिव लीला के साथ 10 अक्टूबर से श्री धार्मिक रामलीला ग्रेटर नोएडा का होगा शुभारम्भ, मात्र तीन घंटे मे...