यूपी में वैक्सीन के कॉकटेल पर मचा बवाल: पहली डोज ‘कोविडशील्ड’ तो दूसरी ‘को-वैक्सीन’, दहशत में ग्रामीण

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कोरोना के टीकों की कमी के बीच स्वास्थ्य कर्मियों की लापरवाही का मामला सामने आया है. प्रदेश के सिद्धार्थनगर ज़िले के 20 लोगों को पहली डोज तो कोविड शील्ड की लगी लेकिन दूसरी डोज उन्हें को-वैक्सीन की लगा दी गई. वैक्सीन के इस कॉकटेल के कारण लोगों में दहशत का माहौल है. ज़िले के CMO ने माना कि यह गलती हुई है. दोषियों को पहचान लिया गया है, जल्द ही उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. सिद्धार्थनगर के औदहीकलां गांव के रामसूरत ने बताया कि उन्हें और उनके साथियों को ज़िले के बढ़नी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर एक अप्रैल को कोविशील्ड लगाई गई थी. 14 मई को उन लोगों को टीके की दूसरी डोज लगाई गई.

उनके टीका लगवाने के बाद जब ANM ने और टीका मंगवाया तब टीका जारी करने वाले डॉक्टर ने बताया कि उन लोगों को गलत टीका लग गया है. ग़लत टीका लगवाने वाले ग्रामीण अब किसी अनहोनी से डरे हुए हैं. रामसूरत ने NDTV से बात करते हुए हा कि ऐसा लगता है कि शरीर के अंदर कुछ गलत हो गया है. राम भरोसे को डर है कि उन्हें कहीं कुछ हो न जाए? सिद्धार्थनगर के CMO संदीप चौधरी ने बताया कि यह चूक हुई है, बड़े डॉक्टरों से इस मामले की की जांच भी कराई थी. जांच रिपोर्ट आ चुकी है और जिम्मेदार लोगों पर कार्रवाई की जाएगी.

इसके पहले अप्रैल के पहले हफ्ते में ऐसा ही एक लापरवाही भरा मामला यूपी के शामली में सामने आया था. जब कुछ गांव वालों को करीना की वैक्सीन के बजाए एन्टी रेबीज़ इंजेक्शन लगा दिए गए थे. इसकी जानकारी तब हुई जब कांदला के कम्युनिटी हेल्थ सेंटर पर 72 साल की अनारकली ने टीका लगवाने के बाद ANM को अपना आधार कार्ड दे कर कहा कि वह उनका आधार नंबर दर्ज कर लें. अनारकली कहती हैं कि इस पर एएनएम ने कहा कि कुत्ता काटने का टीका लगाने पर आधार की ज़रूरत नहीं होतr. तब उन्हें पता चला कि उन्हें कुत्ता काटने पर लगने वाला इंजेक्शन लगा दिया गया है.

यह भी देखे:-

क्षेत्रीय सासंद द्वारा कौशल विकास केन्द्र का कैम्प आयोजित करने की माँग
जहांगीरपुर में घायल साड़ की बचाई जान
दस्तक: तेज हवाओं और भारी बारिश के साथ आज केरल पहुंचेगा मानसून, जानें आपके राज्य में कब शुरू होगी बार...
कामनवेल्थ गेम्स में भारतीय खिलाडी ने लहराया परचम
Air India की बिक्री से खत्म हुई बड़ी बाधा, मोदी सरकार के लिए क्यों जरूरी थी यह डील?
विक्रम जोशी पत्रकार की हत्या के मामले में जहाँगीरपुर मीडियाकर्मियों ने की कठोर निंदा
COVID 19 फैलते संक्रमण के मद्धेनजर डीएम गौतमबुद्ध नगर ने किया 300 टीमों का गठन
पाकिस्तान में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामले, देश के कई क्षेत्रों में लागू किया गया स्मार्ट लॉकडाउन
ग्रेटर नोएडा: 19 साल बाद रेप पीड़िता को न्याय मिल सका, 2002 मे हुई थी घटना
कोविड-19 : वैक्‍सीन के बारे में देगा जानकारी गूगल , कोरोना के खिलाफ लड़ाई में शामिल
एलएलबी का छात्र निकला नशे का कारोबारी
छात्राओं को निडर ,स्वयंसिद्धा बनाने के लिऐ मिशन साहसी का आयोजन
प्राधिकरण की दमनकारी नीतियों के विरोध में भारतीय किसान यूनियन मैदान में
यूपी: तेजी से बढ़ रहा मौतों का आंकड़ा, श्मशान घाटों पर अव्यवस्था का आलम, पढ़िए पूरी रिपोर्ट
देश में कोरोना को लेकर बुरी ख़बर , 43 हजार से अधिक नए केस आए; केरल में सबसे ज्यादा मरीज
बदल जाएगा WhatsApp वॉइस रिकॉर्डिंग का तरीका, जानें क्या होगा फायदा?