जून के पहले हफ्ते से लाकडाउन से राहत, स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी सावधानी से निर्णय लेने की सलाह

देश में कोरोना संक्रमण में तेजी से आ रही गिरावट और ठीक होते मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते जून के पहले हफ्ते से लाकडाउन से राहत मिलने की उम्मीद बढ़ गई है। आर्थिक गतिविधियां बहाल होंगी। हालांकि स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने लॉकडाउन हटाने में फिलहाल सावधानी बरतने की सलाह दी है। कहा गया है कि पाजिटिविटी दर तय मानक के दायरे में आने के बावजूद इस पर नजर रखनी होगी कि संख्या फिर से बढ़नी शुरू न हो।

संक्रमण में तेजी से आ रही गिरावट और ठीक होते मरीजों की बढ़ती संख्या से बढ़ी उम्मीद

स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि जहां भी संक्रमण दर 10 फीसद से नीचे है और यह लगातार कम होने की दिशा में है, वहां गतिविधियां शुरू होनी चाहिए। ऐसे जिलों की संख्या बढ़ी है और यह संकेत है कि देश दूसरी लहर से बाहर निकलने की राह पर है। पिछले तीन हफ्ते के आंकड़े इसकी गवाही दे रहे हैं।

दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, हरियाणा, छत्तीसगढ़, बिहार जैसे राज्यों में पाजिटिविटी दर पांच फीसद से कम या उसके आसपास आ गई है। इन राज्यों में पाजिटिविटी की दर और नए मामलों की संख्या मार्च के अंतिम हफ्ते के स्तर पर पहुंच गई है, जब कोई लॉकडाउन नहीं था। अधिकांश राज्यों ने लाकडाउन का फैसला 15 अप्रैल के आसपास किया था, जब कई जगहों पर पाजिटिविटी दर 36-37 फीसद तक पहुंच गई थी।

लॉकडाउन हटने के बाद संक्रमण बढ़ने की आशंका

जून के पहले हफ्ते से कई राज्यों में लाकडाउन से राहत मिलने की उम्मीद जताते हुए वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पाजिटिविटी दर कम होने के बावजूद लाकडाउन बढ़ाने का फैसला दो वजहों से लिया गया। एक तो लाकडाउन खुलने के तत्काल बाद पाजिटिविटी दर का बढ़ना तय माना जा रहा है। दूसरा मौजूदा सक्रिय मरीजों की संख्या अब भी बहुत ज्यादा बनी हुई है।

ऐसे में उन राज्यों को ज्यादा सतर्क होने की जरूरत है जहां पाजिटिविटी दर कम होने के बावजूद सक्रिय मामलों की संख्या बहुत ज्यादा है। लाकडाउन हटाने का फैसला अलग-अलग राज्य अपने स्वास्थ्य ढांचे, पाजिटिविटी दर और सक्रिय मामलों के आधार पर करेंगे। ध्यान देने की बात है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने स्थानीय स्तर पर लाकडाउन के लिए पाजिटिविटी दर के 10 फीसद से अधिक होने और आक्सीजन व आइसीयू बेड्स 60 फीसद भर जाने का मानदंड रखा है। पाजिटिविटी दर का मानदंड तो अधिकांश राज्य पूरा कर रहे हैं। एक हफ्ते में आइसीयू और आक्सीजन बेड्स की उपलब्धता भी काफी बढ़ जाएगी।

 

यह भी देखे:-

Weather Forecast: फिर से बदलेगा दिल्ली-NCR का मौसम, हिमाचल, उत्तराखंड सहित इन राज्यों में बारिश का अ...
युवाओं को बताएं कि कैसे भगवत गीता ने भारत की आजादी की लड़ाई को ऊर्जा दी: पीएम मोदी
Kisan Andolan Live: जंतर-मंतर पर किसानों की 'संसद', कृषि मंत्री बोले- हम बातचीत करने के लिए तैयार
सोशल मीडिया के दुरुपयोग को रोकने के लिए आज फेसबुक व गूगल के साथ संसदीय स्थायी समिति (IT) की बैठक
रेरा के बकाये की वसूली के लिए बकायेदार बिल्डरों पर कसा शिकंजा, 32 बिल्डरों की 315 करोड़ रुपए की संपत...
विजेता एथलेटिक खिलाड़ियों को किया सम्मानित
भारत में कोरोना ने मचाया कोहराम, 24 घंटे में करीब 3 लाख नए मामले, 2 हजार से अधिक की मौत
अब नॉन कोविड अस्पतालों में भी भर्ती होंगे संक्रमित
कौन हैं खान सर, जिसे यूपी-बिहार के युवा करते हैं पसंद; इनदिनों अपने नाम को लेकर हो रहे ट्रोल
मई और जून में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत गरीबों को मुफ्त अनाज उपलब्ध कराएगी सरकार
खेल प्रेमियों ने डीएम सुहास एल वाई अभिनन्दन किया, पैरा ओलिम्पिक में भारत का करने वाले हैं प्रतिनिधित...
यूपी: कांवड़ यात्रा पर सुप्रीम कोर्ट यूपी सरकार के जवाब से संतुष्ट, मामले को निस्तारित किया गया
जानिए आज क्या है गौतमबुद्ध जिले का CORONA UPDATE, कितने और COVID के मरीज आए, कितने हुए डिस्चार्ज, पू...
नहीं पता कैसे हुई दानिश की मौत, ...फोटो जर्नलिस्ट की हत्या से तालिबान का इनकार
पति की हत्या के आरोप में पत्नी समेत दो गिरफ्तार
कोरोना महामारी के चलते संगीतकार श्रवण का हुआ निधन, फैंस ने जताया दुख