न हो ऑक्सीजन की कमी, शुरू हुआ ऑक्सीजन बैंक, पढें पूरी ख़बर

विगत दो वर्षो से भारत सहित पूरी दुनिया में कोरोना महामारी ने तबाही मचाई हुई है। मार्च 2019 से शुरू हुई ये बीमारी 2021 में और भी विकराल रूप लेके आज सम्पूर्ण मानव समाज के सामने खड़ी है। कोरोना की दूसरी लहर में वृद्धजनों के साथ साथ युवा और नौजवान वर्ग भी इसका शिकार बन रहे हैं। इस लहर में हमने देखा कि जो भी कोरोना के चपेट मे आ रहे है उन्हें साँस लेने में काफ़ी परेशानी हुई है, और इसकी वजह से ही कई लोगों को अपनी जान से भी हाथ धोना पड़ा है।
अब जब साँस लेने में परेशानी हुई तो लोग कृत्रिम ऑक्सीजन के सहारे हो गए क्योंकि हमारे देश मे पेडों की अंधाधुंध कटाई के कारण ऐसे पेडों की बहुत कमी हो गयी जो हमें लम्बे समय तक ऑक्सीजन देते थे।
इसी को ध्यान मे रखते हुए वाराणसी के युवा पत्रकार राजेश मिश्रा जी ने एक मुहिम छेड़ी है जिसका उद्देश्य है कि हर जगह ऐसे पेडों को लगाया जाए जो हमें ज़्यादा से ज़्यादा ऑक्सीजन देते हैं। इस मुहिम मे कई लोगों का सकारात्मक सहयोग भी मिल रहा है, चूँकि अभी घरों से निकलना मुश्किल है लेकिन जैसे ही परिस्थितियां सामान्य होती हैं हम सब द्वारा वृक्षारोपण की इस मुहिम को तेजी से किया जाएगा।

क्या है ऑक्सीजन बैंक :
ऑक्सीजन बैंक एक ऐसी मुहिम का नाम है जिसमें हमें ज़्यादा से ज़्यादा उन पेडों को लगाने पे ध्यान केंद्रित करना है जो हमें ज़्यादा से ज़्यादा ऑक्सीजन देते हैं और मिट्टी को अपनी जड़ों से बांध कर रखते है। साथ ही साथ हमें ऐसे पेडों को अपने आस पास तलाशना है जो लगे हुए तो हैं लेकिन उनको देखभाल की बहुत ज़्यादा ज़रूरत है। इस मुहिम मे हमारा विशेष ध्यान मुख्यतः आम, जामुन, नीम, पीपल, बरगद, अशोक, पाकड़, अर्जुन जैसे वृक्षों को लगाने पे होगा।

क्या करना होगा:
ऑक्सीजन बैंक मे सभी का सहयोग बहुत ज़रूरी है। सहयोग आप जहाँ है वही से कर सकते है। आप नीचे दि गयी बातों को ध्यान से पढें:

1. अपने आस पास जगह तलाशें जिसका कोई उपयोग न हो और वहाँ ऊपर दिए गए किसी एक क़िस्म के दो पेड़ लगाएं।

2. आप सड़क के किनारे, पार्क के किनारे, तालाब के किनारे ऐसी सार्वजनिक जगहों का भी इस्तेमाल कर सकते है।

3. हमें पेड़ ऐसी जगह पे लगाने है जहाँ हम उन तक आसानी से जा सकें, मतलब उनकी देखभाल कर सकें।

4. आप जहाँ भी रहते हो वहाँ अपने आस पास के लोगों को पेड़ लगाने के लिए प्रेरित करें।

5. आप ऐसे पेडों की भी तलाश करें जिन्हें देखभाल की ज़रूरत है, उन्हें नियमित रूप से पानी दे।

 

6. हमें शहरी क्षेत्रों में विशेष रूप से कार्य करने की आवश्यकता है। यदि आप इन क्षेत्रों से जुड़े हैं तो खुद इस मुहिम का हिस्सा बनें और अपने मित्रों और प्रियजनों को भी इसके लिए प्रेरित करें।

7. यदि आप कोई विद्यालय चलाते हैं या उससे किसी प्रकार से जुड़े हैं तो इस मुहिम को वहाँ भी साझा करें ताकि हमारे आने वाले भविष्य के कर्णधार भी इस मुहिम का हिस्सा बने और वो भी इस नेक कार्य में भागीदार हों।

8 .अगर आप ऐसी एक्टिविटी करते है तो एक सेल्फी या अपने साथ पेडों की ली हुई फ़ोटो आप नीचे दिए गए वाट्सअप ग्रुप के लिंक पे भेज सकते है, जिससे और लोगों को भी मोटिवेशन मिल सकें।

https://chat.whatsapp.com/LddeVcFPcgq9aspkMLIpsc

नोट : अगर आप इस मुहिम का हिस्सा बनना चाहते है तो 8303390311 नंबर पे  से जुड़ सकते है या इसके फेसबुक पेज से भी आप जुड़ सकते है।

https://www.facebook.com/Oxygen-Bank-धरा-को-बनाएं-हरा-भरा-101507882134189/

यह भी देखे:-

भूल गए हैं UPI PIN, Google Pay पर ऐसे करें चेंज, यह है आसान तरीका
IITian बनना चाहता है UP बोर्ड 12 वीं के जिले का टॉपर आशीष गंगवार
शारदा विश्विधालय ने रबर कौशल विकाश परिषद् तथा विद्युत क्षेत्रीय कौशल परिषद् के साथ किया करार
जाने–माने फीजिशियन डा़. जी. सी वैष्णव यथार्थ ग्रुप आफ हॉस्पीट्ल्स के साथ जुडे
विदेशी छात्रों को बौद्ध अध्ययन के लिए अंतर्राष्ट्रीय बौद्ध परिसंघ देगा छात्रवृति
केन्दीय मंत्री डॉ. महेश शर्मा ने सीबीएसई 12 वीं की टॉपर रक्षा गोपाल को सम्मानित किया
शारदा डेंटल कॉलेज में दांतों के मरीज़ों का इलाज शुरू
आईटीएस कॉलेज में उद्यमिता विकास पर फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम
गौतमबुद्ध नगर कोरोना अपडेट, आंकड़ा 3000 के पार, 918 कर रहे हैं संघर्ष
आईआईएमटी कॉलेज में शिक्षक मिलन समारोह ‘समागम- 2019’ का आयोजन
Padma Awards 2022: पद्म पुरस्कारों के लिए आज नामांकन की अंतिम तिथि, जानें पूरी प्रक्रिया
कोरोना की तीसरी लहर आएगी, लेकिन कितनी घातक होगी, कहना मुश्किल  -चंडीगढ़ पीजीआई
कैम्ब्रिज स्कूल में एमएस सुब्बुलक्ष्मी मैमोरियल ऑडिटोरियम का उद्घाटन
CORONA UPDATE  : जानिए गौतमबुद्ध नगर का क्या है हाल 
जीएनआईओटी प्रबंध एवं शिक्षण संस्थान में उद्यमिता पर संगोष्टी का आयोजन
पांच शिविर केंद्रों पर 676 कोविड जांच व 476 टीका लगाए गए