कोरोना पर वार करने वाली 2DG Medicine Launch जानिए  कीमत… इस दवा के बारे में सबकुछ जानिए

DRDO 2DG Anti Covid Drug: कोरोना वायरस के सभी वेरिएंट्स के खिलाफ असरदार इस दवा को डिफेंस रिसर्च ऐंड डिवेलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (डीआरडीओ) ने विकसित किया है। यह शरीर में वायरस को बढ़ने से रोकती है।

भारत समेत दुनिया के अधिकांश हिस्‍से में कहर बनकर टूटे SARS-CoV-2 के लिए दवा आ चुकी है। 2-deoxy-D-glucose यानी 2डीजी नाम के इस ऐंटी-कोविड ड्रग को डीआरडीओ के वैज्ञानिकों ने बनाया है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री हर्षवर्धन ने इस दवा का पहला बैच (10,000 डोज) लॉन्‍च क‍िया।

हाइड्रॉक्‍सीक्‍लोरोक्विन, रेमडिसिविर, आइवरमेक्टिन जैसी तमाम दवाओं के कोविड-19 पर असर को लेकर पिछले साल से ही रिसर्च चलती रही, मगर 2DG वह पहली दवा है जिसे ऐंटी-कोविड ड्रग कहा जा रहा है। आइए इसके बारे में सबकुछ जानते हैं।

  • 2डीजी को डिफेंस रिसर्च ऐंड डिवेलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (DRDO) के इंस्टिट्यूट ऑफ न्‍यूक्लियर मेडिसिन ऐंड अलाइड साइंसेज (INMAS) ने विकसित किया है। इसमें हैदराबाद स्थित डॉ. रेड्डीज लैबोरेटरी (DRL) के रिसर्चर्स का भी योगदान है। DRL ही आम जनता के लिए इस दवा को बनाएगी। यह दवा एक पाउडर के रूप में उपलब्‍ध होगी।
  • पिछले साल जब भारत में कोविड-19 की पहली लहर की शुरुआत हुई थी, तभी से INMAS के वैज्ञानिकों ने इसपर काम शुरू कर दिया था। मई 2020 में ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने इस दवा के कोविड मरीजों पर फेज 2 ट्रायल की मंजूरी दे दी। यह ट्रायल अक्‍टूबर तक चले।
  • ट्रायल में सामने आया कि दवा कोविड मरीजों के लिए सेफ है और रिकवरी में भी मदद करती है। नतीजों के बाद DCGI ने नवंबर 2020 में फेज 3 ट्रायल की मंजूरी दी। आखिरकार ट्रायल डेटा के आधार पर 9 मई 2021 को DCGI ने इस दवा के आपातकालीन इस्‍तेमाल को मंजूरी दे दी।
  • 2डीजी असल में 2डीजी अणु का एक परिवर्तित रूप है जिससे ट्यूमर, कैंसर कोशिकाओं का इलाज होता है। ट्रायल में पता चला कि 2DG कोविड मरीजों के इलाज में तो कारगर है ही, हॉस्पिटल में एडमिट मरीजों की ऑक्सिजन पर निर्भरता को भी कम करती है।
  • फिलहाल इस दवा को सेकेंडरी मेडिसिन की तरह यूज करने की परमिशन दी गई है। यानी यह प्राइमरी मेडिसिंस के सपोर्ट में यूज की जाएगी। यह दवा काफी हद तक ग्‍लूकोज जैसी है, मगर ग्‍लूकोज नहीं है। वायरस शरीर में पहुंचते ही अपनी कॉपीज बनाना शुरू कर देता है, इसके लिए उसे ताकत चाहिए होती है जो ग्‍लूकोज से मिलती है।
  • जब यह दवा दी जाएगी तो वायरस इस ग्‍लूकोज एनालॉग को लेगा और उसी में फंस जाएगा। नतीजा ये होगा कि वायरस अपनी कॉपीज नहीं बना पाएगा यानी उसकी ग्रोथ रुक जाएगी।

 

INMAS के डायरेक्‍टर डॉ. अनिल मिश्रा के अनुसार, 2डीजी अपनी कॉपी बनाने वाले वायरस को कैद कर लेती है। यानी वायरस का कोई भी वेरिएंट हो, उसे खाने की जरूरत तो पड़ेगी ही और जैसे ही वह अपनी भूख मिटाने के लिए आगे बढ़ेगा, यह दवा उसे फंसा लेगी।

डॉ. मिश्रा के मुताबिक, यह दवा लेने के बाद ऑक्सिजन की डिमांड बढ़ जाती है क्‍योंकि वायरस तेजी से मल्‍टीप्‍लाई होने लगता है। एक बार वह प्रक्रिया रुक गई तो ऑक्सिजन का संकट भी खत्‍म हो जाएगा।

2DG दवा कब आएगी? क्‍या कोई साइड इफेक्‍ट्स भी हैं?

यह दवा 17 मई को लॉन्‍च होते ही आम जनता के लिए उपलब्‍ध हो गई है। इसका उत्‍पादन तेजी से बढ़ाया जा रहा है ताकि ज्‍यादा से ज्‍यादा मरीजों तक इसकी पहुंच हो सके।

साइड इफेक्‍ट्स के बारे में पूछने पर डॉ. चंदना ने कहा कि ट्रायल के दौरान, सामान्‍य और गंभीर मरीजों को यह दवा दी गई। सभी मरीजों को इस दवा से फायदा ही हुआ, किसी पर कोई प्रतिकूल प्रभाव देखने को नहीं मिला। उनके मुताबिक, यह कहा जा सकता है कि इस दवा का कोई साइड इफेक्‍ट नहीं है।

यह भी देखे:-

सफेद सरसों तेल का बाजार 5.48 प्रतिशत की सालाना दर से बढऩे का अनुमान : रविंदर पाल सिंह कोहली
कोरोना को लेकर गौतमबुद्ध नगर जिला प्रशासन अलर्ट, नियंत्रण कक्ष स्थापित, हेल्पलाइन नंबर जारी, पढ़ें पू...
गलगोटिया विश्वविद्यालय में रक्तदान शिविर, छात्रों ने दिखाया उत्साह
जे .आर .हॉस्पिटल में नि:शुल्क स्वास्थ्य परीक्षण, लोगो ने उठाया लाभ
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस :  विज़न हेल्थ एंएजुकेशन फाउंडेशन द्वारा  फ्री सैनिटरी पैड का वितरण 
शारदा में 2 जून तक कैंसर जाँच शिविर का आयोजन
दनकौर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर 200 लोगो को कोविड टीका लगाए गए
स्वास्थ विभाग में फैले भ्रष्टाचार पर जय हो संस्था के अनशनकारियों ने की स्वास्थ्य मंत्री से मुलाकात...
CORONA UPDATE : जानिए गौतमबुद्ध नगर में क्या है हाल 
Coronavirus Cases India: भारत में फिर से क्यों बढ़ने लगे कोरोना केस? स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ...
103 साल की दादी को लगा कोरोना का टीका, बनीं वैक्सीन लगवाने वाली देश की सबसे बुजुर्ग महिला
COVID 19 : ग्रेटर नोएडा में दो और नोएडा में एक पॉजिटिव केस मिला, ये इलाके हुए सील
कोरोना अपडेट: जानिए गौतमबुद्ध नगर का क्या है हाल, कोरोना के एक और मरीज ने दम  तोडा 
राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान में "माई कोविड स्टोरी-एक्सपीरियंस से सीख" कार्यक्रम,  चिकित्सासेवा प्रदत...
कोरोना अपडेट: जानिए गौतमबुद्ध नगर का क्या है हाल, 1  की मौत 
गौतमबुद्ध नगर में कोरोना का क्या है हाल, जानिए