आजमपुर गढ़ी में ग्राम पुस्तकालय को बनाया गया क्वारन्टीन सेंटर, दिल्ली पुलिस का हेड कॉन्स्टेबल निभा रहा है महत्वपूर्ण भूमिका

आजमपुर गढ़ी में ग्राम पुस्तकालय को बनाया गया क्वारन्टीन सेंटर, दिल्ली पुलिस का हेड कॉन्स्टेबल निभा रहा है महत्वपूर्ण भूमिका

बिलासपुर:(खालिद सैफी)टीम ग्राम पाठशाला के द्वारा चलाई जा रही मुहिम “मेरा गाँव मेरी जिम्मेदारी” को आगे बढ़ाते हुए और टीम ग्राम पाठशाला से प्रेरणा लेकर। आज ग्राम आजमपुर गढ़ी के ग्राम पुस्तकालय पर क्वॉरेंटाइन सेंटर की स्थापना गांव के ही एक युवा अमित भाटी ने की हैं, जो दिल्ली पुलिस में हैड कॉन्स्टेबल के पद पर कार्यरत है। जहां गांव वासियों के लिए यह विभिन्न प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध होंगी जैसे कि दस ऑक्सीमीटर, पांच स्टीम वेपोराइजर, सैनिटाइजर, चार पीपीई कीट, ऑक्सीजन सिलेंडर, फ्लोमीटर, 500 मास्क, 100 ग्लब्स, कोरोना में कारगर दवाइयां, थर्मामीटर, साथ साथ गांव में जो व्यक्ति कॉविड वैक्सीन लगवाने के लिए अपना रजिस्ट्रेशन या स्लॉट बुक करने में असमर्थ हैं, उन्हें भी यहां फ्री उनका रजिस्ट्रेशन और स्लॉट बुक करने में भी उनकी मदद की जाएगी। गांव में बनाए गए क्वॉरेंटाइन सेंटर में सारी सुविधाएं गांव वासियों के लिए मुफ्त होगी, किसी भी गांव वासी से इसका कोई भी चार्ज नहीं लिया जाएगा। आपको बता दें कि कोरोना महामारी के कारण गांव का ग्राम पुस्तकालय लाइब्रेरी कुछ समय के लिए बंद कर दी गई थी। अब देखिए इस यूवा ने उसी लाइब्रेरी में जहां युवा पढ़ते थे। उसी जगह का सदुपयोग करते हुए, ग्राम पुस्तकालय को ही बनाया क्वारेंटाइन सेंटर का रूप दे दिया और अब देखिए इस महामारी के समय में जहां चारों तरफ त्राहिमाम त्राहिमाम मचा हुआ है, इन्होंने अपने गांव में ही एक छोटा-सा क्वारेंटाइन सेंटर ही स्थापित कर दी। इन्होंने बताया कि हम सभी ग्रामवासी मिलकर अपने गांव को इस कोरोना महामारी से दूर रखने का प्रयास करेंगे। उसी कड़ी में मेरा बस यह एक प्रयास है कि अगर किसी गांव वासियों को किसी भी प्रकार की कोई स्वास्थ्य संबंधित परेशानी आती है, तो उन्हें दर-दर भटकने की जरूरत नहीं है। गांव में ही निशुल्क उनके लिए सारी सुविधाएं उपलब्ध है। मैं भारत देश के प्रत्येक गांव के प्रधान, सरपंच एवं गांव के युवाओं से यह अपील करता हूं कि आप भी इस महामारी से लड़ने के लिए सरकार का साथ दें और आगे आकर टीम ग्राम पाठशाला के द्वारा चलाई जा रही मुहिम **मेरा गांव मेरी जिम्मेदारी** से जुड़े और अपने-अपने गांव में एक क्वारेंटाइन सेंटर स्थापित करने का प्रयास करें। जिससे कि गांव के निवासियों को गांव में ही सारी स्वास्थ्य संबंधित सुविधाएं मिल सकें।

यह भी देखे:-

दबिश देने गई पुलिस टीम के साथ मारपीट
एवरग्रीन फेडरेशन ने केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा से कहा , आरडब्लूए को संवैधानिक अधिकार दिलाओ
World Tuberculosis Day 2021: कोरोनाकाल में टीबी की दवा न छोड़ें मरीज, हो सकता है खतरा
विज़न हेल्थ एंड एडुकेशन फाउंडेशन द्वारा सैनेटरी पैड्स बैंक की शुरुआत, गरीब महिलाओं को नि:शुल्क पैड्स...
साया ज़िऑन में धूमधाम से मनाया गया दिवाली मिलन, बच्चों ने बेहद अनोखे अंदाज से बड़ों को दिलई पर्यावर...
देश भर के 3 लाख के डाक्टरों की हड़ताल शुरू, ओपीडी में पसरा सन्नाटा, मरीज परेशान
नेक्स्ट जनरेशन होंडा अमेज़ का वैश्विक अनावरण
किसानों के बाद अब डॉक्टर हुए नाराज़, कल करेंगे ओपीडी बंद, जानिए क्यों 
भारत को आत्मनिर्भर बनाने वाला है 2021 का बजट - प्रो. मनीष शर्मा
सीएम  योगी  ने दिया  निर्देश- 10 दिन में स्कूलों में शुरू हो छठी से 12वीं तक की पढ़ाई
सड़क पार करते हुए वाहन ने कुचला, किसान की मौत
यमुना अथॉरिटी को इलाहाबाद हाईकोर्ट से झटका, नये कानून से मुआवजा देने का निर्देश
डिजिटल मार्केटिंग में उत्कृष्ट कार्य करने पर गौरव कुमार सम्मानित
ताइवान के डेलीगेशन ने इंटीग्रेटिड इंडस्ट्रीयल टाउनशिप का दौरा किया
कोरोना काल में किसी श्रमिक को हो परेशानी तो इस नंबर पर करें कॉल 
महिला सुरक्षा को लेकर ऑटो चालकों को किया गया जागरूक