कोरोना में होम्योपैथी भी हो रही कारगर, चिकित्सक दे रहे यह सलाह

वाराणसी में कोरोना महामारी से संक्रमित मरीजों और इससे बचाव में होम्योपैथी भी कारगर हो रही है। जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा ने होम्योपैथी चिकित्सकों की मदद से तैयार सलाह के प्रचार का निर्देश दिया है।

 

आरआरटी प्रभारी डॉ. मनीष तिवारी और वरिष्ठ चिकित्सक डॉ. पंकज शुक्ला ने बताया कि कोविड गाइडलाइन का पालन करते हुए होम्योपैथी दवाओं का लक्षण के अनुसार सेवन करने से लाभकारी परिणाम आ सकते हैं।

 

कोविड-19 में आने वाले लक्षणों को बहुत हद तक होम्योपैथिक दवाइयों से नियंत्रित किया जा सकता है जिसमें फॉस्फोरस 200, आर्सेनिक एलबम 30, कार्बो वेज 6, ब्रायोनिया एलबम 200 के बहुत ही अच्छे परिणाम सामने आ रहे हैं।

कार्बो वेज 6 और 30 पोटेंसी की दवा ऐसे मरीजों में बहुत लाभदायक है जिनको ऑक्सीजन की कमी महसूस हो रही हो। लगातार खिड़की दरवाजे खोल के स्वांस लेना चाहते हैं और बाहर खुले में जाने की इच्छा होती है, ऑक्सीजन कंसेंट्रेसन कम होने से सायीनोसिस की स्थिति उत्पन्न हो, होंठ और चेहरा नीला पड़ने लगे हीमोग्लोबिन की कमी हो जाए ऐसी परिस्थितियों में कार्बो वेज 6 या 30 दिन में 3 या चार बार दें।

फास्फोरस 200 पोटेंसी की दवा फेफड़े के बीमा रियों में प्रभावकारी है, ये ऐसे मरीजों को देना चाहिए जिनको सांस लेने में बहुत दिक्कत होती हो ऐसा प्रतीत होता है कि फेफड़ा काम करना बंद कर दिया हो और फेफड़े में जकड़न हो गई हो लगातार सूखी खांसी आए, ऐसी परिस्थितियों में फास्फोरस 200 दिन में एक या दो बार दे, 3 दिन से ज़्यादा लगातार ना दें ।

ब्रायोनिया एलबम 200 पोटेंसी की दवा में सांस लेने में दिक्कत होना, फेफड़े गले और नाक की म्यूकस मेंब्रेन पूरी तरह से सूखने की स्थिति में सूखी ख़ासी आना, स्वाँस फूलना, फटने वाला सर दर्द, उल्टी महसूस होना, ज़रा भी चलने फिरने में दिक़्क़त बढ़ जाना, कफ निकलने में बहुत दिक्कत आना ऐसे मरीजों को 2 या  3 बार दिया जा सकता है।

आर्सेनिक एलबम 30 एक जीवन रक्षक होम्योपैथिक दवा है, यह दवा कोविड19 के लक्षणों जैसी बीमारियों में एक प्रतिरोधक दवा है। इसमें शरीर में जबरदस्त कमजोरी और बहुत ज्यादा घबराहट होती है लगता है कि वो नहीं बच पाएगा, जरा भी हिलने डुलने में थकान, स्वाँस लेने में दिक़्क़त होना, सिर्फ़ बैठकर ही स्वाँस लेना, लेटते ही स्वाँस फूलना और घबराहट। ऐसी परिस्थितियों में आर्सेनिक एलबम 30 दिन में 2 या 3 बार लेने से बहुत राहत मिल सकती है ।

अधिक जानकारी और दवा की खुराक के लिए अपने निकटम होम्योपैथिक चिकित्सक की सलाह अवश्य लें।

 

यह भी देखे:-

भारत का झंडा दिल्ली में नहीं तो क्या इस्लामाबाद में लहराएगा? भड़के अरविंद केजरीवाल का सवाल
तेज प्रताप का पत्नी ऐश्वर्या राय के खिलाफ तलाक याचिका पर यूटर्न
जानिए गौतमबुद्ध नगर में आज क्या है कोरोना का हाल , 24  घंटे में एक और मौत 
पाकिस्तान कश्मीरी छात्रों को दाखिला और छात्रवृत्ति अपने भारत विरोधी एजेंडे को आगे बढ़ाने के लिए देता...
Hindu Nav Varsh 2021: नव संवत्सर का स्वागत करने के साथ ईश्वर से प्रार्थना करें कि हमारे सारे कष्ट दू...
देश के इन तीन शहरों में सबसे पहले एंट्री करेंगी टेस्ला की गाड़ियां, भारत में शोरूम खोलने के लिए कंपन...
बीएल मीणा शिया वक्फ बोर्ड के प्रशासक पद से हटे, अगले महीने होंगे चुनाव
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का 2 दिवसीय वाराणसी दौरा,15 मार्च को काशी विश्वनाथ में करेंगे पूजन
पड़ोसी ने लूटवाया था 100 मोबाईल फ़ोन, पहुंचा हवालात
जीबीयू में गांधी दर्शन केन्द्र का हुआ उद्घाटन
आज का पंचांग , 27 जून 2020, जानिए शुभ व अशुभ मुहूर्त
COVID 19 : यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ पहुंचे ग्रेटर नोएडा , अधिकारीयों के साथ समीक्षा बैठक शुरू
मध्य प्रदेश: भोपाल और इंदौर में भी लगा नाइट कर्फ्यू, 8 शहरों में बाजारों पर पाबंदी
कोरोना आंखों के संक्रमण से करें बचाव, जानिए कैसे
Navratri 2021 Day 8: नवरात्रि के आठवें दिन मां महगौरी की होती है पूजा, जानें आरती और कथा समेत हर जान...
जी.एल बजाज प्रबन्धन संस्थान को मिला अवार्ड ऑफ एक्ससलेंस का सम्मान