दिल्ली के लिए राहत की खबर, केजरीवाल बोले- केंद्र ने राजधानी का ऑक्सीजन कोटा बढ़ाया

कोरोना महामारी के दौरान बीते कई दिन से ऑक्सीजन की कमी से जूझ रही दिल्ली के लिए बड़ी राहत की खबर है। आम आदमी पार्टी (आप) सरकार के आग्रह के बाद केंद्र सरकार ने बुधवार को दिल्ली का ऑक्सीजन कोटा बढ़ाकर 480 मीट्रिक टन कर दिया गया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने यह जानकारी दी है। इससे पहले दिल्ली के लिए 378 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन का कोटा निर्धारित था जो अब बढ़कर 480 मीट्रिक टन हो गया है।

केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, ”केंद्र सरकार ने दिल्ली में ऑक्सीजन का कोटा बढ़ा दिया है। हम इसके लिए केंद्र के प्रति बहुत आभारी हैं।”

दिल्ली को नए आदेश के बाद कहां से कितनी ऑक्सीजन मिलेगी

  • 140 मीट्रिक टन : एयर लिक्वेडी, पानीपत, हरियाणा
  • 20 मीट्रिक टन : आईनॉक्स बरोटीवाला, हिमाचल प्रदेश
  • 40 मीट्रिक टन : लिंडे राउरकेला RSP BOO-1/2, ओडिशा
  • 30 मीट्रिक टन : लिंडे कलिंगानगर टाटा- केपीओ 1/2, ओडिशा
  • 20 मीट्रिक टन : आईनॉक्स भिवाड़ी, हरियाणा
  • 30 मीट्रिक टन : गोयल एमजी गैसेस गाजियाबाद, यूपी
  • 35 मीट्रिक टन : आईनॉक्स सूरजपुर, यूपी
  • 30 मीट्रिक टन : आईनॉक्स मोदीनगर, यूपी
  • 30 मीट्रिक टन : इंडिया ग्लाइकोल्स लिमिटेड काशीपुर, उत्तराखंड
  • 55 मीट्रिक टन : लिंडे सेलेकी, उत्तराखंड
  • 20 मीट्रिक टन : एयर लिक्विड रुड़की, उत्तराखंड
  • 30 मीट्रिक टन : लिंडे सेल डीजीपी, पश्चिम बंगाल
  • कुल: 480 मीट्रिक टन

जानकारी के अनुसार, मुख्यमंत्री केजरीवाल ने मंगलवार को ऑक्सीजन उपलब्ध कराने के लिए केंद्र सरकार से आग्रह करते हुए कहा था कि यहां ऑक्सीजन का गंभीर संकट बना हुआ है। केजरीवाल ने हाथ जोड़कर केंद्र से दिल्ली में ऑक्सीजन की आपूर्ति करने की अपील की थी और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि अगर बुधवार सुबह तक ऑक्सीजन की नए सिरे से आपूर्ति नहीं की गई तो शहर में हाहाकार मच जाएगा।

केजरीवाल ने कोरोना के वर्तमान हालात पर अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक करने के बाद कहा कि राजधानी में ऑक्सीजन का गंभीर संकट है। वह पुन: केंद्र सरकार से आग्रह करते हैं कि दिल्ली को तत्काल ऑक्सीजन उपलब्ध कराए। कुछ अस्पतालों में कुछ ही घंटों के लिए ऑक्सीजन बची है। दिल्ली में ऑक्सीजन की सप्लाई सुनिश्चित करने के लिए युद्ध स्तर पर काम कर रहे हैं। हम केंद्र सरकार से भी लगातार बात कर रहे हैं। दिल्ली में बड़े स्तर पर ऑक्सीजन बेड्स बढ़ाने का काम भी जारी है।

इस दौरान अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को अवगत कराया था कि दिल्ली में नोएडा और राजस्थान से ऑक्सीजन के सिलेंडर आते हैं। नोएडा और राजस्थान से ऑक्सीजन के सिलेंडरों को दिल्ली तक पहुंचने में कई तरह की बांधाओं का सामना करना पड़ता है और जब भी बाधाएं आती हैं, तब केंद्र सरकार से बात करनी पड़ती है।

यह भी देखे:-

गायत्री शर्मा राष्ट्रीय ब्राह्मण महसंघ (रजि०) की जिलाध्यक्ष (महिला प्रकोष्ठ) नियुक्त  
मुग़ल गार्डन: सैलानियों के लिए कल से खुल जाएगा ,ऑनलाइन करानी होगी टिकट बुकिंग
ग्रेटर नोएडा : गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय एवं ठेकेदार के द्वारा सफाई कर्मचारियों का शोषण बिल्कुल भी बर...
कोरोना योद्धाओ के लिए जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह को उपलब्ध कराई पीपीई किट व सैनेटाइजर
समाजवादी छात्र सभा करेगी बड़ा आंदोलन
ग्रेटर नोएडा का दायरा बढ़ेगा, पार्ट 2 को बसाने का काम शुरू
करणी सेना अध्यक्ष सूरजपाल सिंह 'अम्मू' के बेटे की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत, फ्लैट के अंदर फंदे प...
बेरोजगार युवाओं को खाद-बीज की दुकान का लाइसेंस देगी योगी सरकार
ग्लोबल ज्ञान ज्योति अभियान- 2021.
बाइकर्स गैंग ने प्रोफ़ेसर से मोबाइल लूटा, विरोध करने पर मारपीट
'मेट्रो मैन' चलाएंगे केरल में जीत की मेट्रो, जाने किस पार्टी से लडेंगे चुनाव
भगवान परशुराम जी की जयंती घर में रहते हुए मनाई गई  
आदर्श युवा समिति बिशनूली द्वारा गर्म कपडे का वितरण 
किरण खेर को ब्लैड कैंसर होने की खबर पर अनुपम खेर ने किया इमोशनल पोस्ट, फैंस से की खास अपील
तीन महिलाओं से रेप का मामला, सात आरोपी गिरफ्तार, दो फरार
राजस्थान, छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की जबरदस्त वापसी, मध्य प्रदेश में भी आगे-रुझान