जम्मू-कश्मीर: गलती से सीमा पार कर पीओके पहुंचे युवक को पाकिस्तान ने लौटाया

उत्तरी कश्मीर में बांदीपोरा जिले के गुरेज इलाके का 18 वर्षीय मोहम्मद सैयद पिछले साल सितंबर महीने में एलओसी के उस पार पीओके में गलती से दाखिल हो गया था। इसके बाद पुलिस अधिकारियों और सेना की कोशिशों के चलते मंगलवार को पाकिस्तानी रेंजरों द्वारा युवक को कुपवाड़ा के तंगधार सेक्टर के करनाह में टीटवाल क्रासिंग पॉइंट पर स्थित पुल के रास्ते वापस भेजा गया।

एक अधिकारी ने बताया कि दोपहर करीब 12 बजे भारतीय सेना और जिला प्रशासन के अधिकारियों को युवक को सौंपा गया। इस दौरान उसे मिठाइयां भी दी गई थीं। अधिकारी के मुताबिक स्थानीय लोगों ने बताया कि एलओसी पर सख्ती के कारण ऐसी घटनाओं में काफी कमी देखने को मिली है।

स्थानीय लोगों ने यह भी कहा कि अभिभावकों को भी अपने बच्चों पर नजर रखनी चाहिए। बता दें कि गलती से सीमा पार कर आए ऐसे ही एक युवक को भारतीय सेना ने कुछ दिन पहले पाकिस्तानी सेना के हवाले किया था।

 

यह भी देखे:-

हिन्दू जागरण मंच की बैठक में भारत को अखंड बनाने का लिया संकल्प
बांदा: मुख्तार के काफिले पर परिंदा भी न मार सकेगा पर, सभी जवान आधुनिक राइफलों से होंगे लैस
सामाजिक संगठन महिला उन्नति संस्था (भारत) ने बुलन्दशहर में किया विस्तार
राहुल गांधी का ट्विटर पर बड़ा कदम, इन 50 लोगों को किया अनफॉलो, क्या है तैयारी?
आईआईएमटी कॉलेज छात्रवृत्ति पाकर छात्रों के चेहरे खिले
काश ! अटल जी की बात मानी होती : विनोद बंसल
अलकायदा के संदिग्ध आतंकियों की सीरियल ब्लास्ट के बाद यह थी प्लानिंग, तैयार था पूरा नक्शा
बंगाल बीजेपी नेताओं को PM नरेंद्र मोदी की हिदायत- चुनाव प्रचार में गलत शब्दों के इस्तेमाल से बचें
उत्तर प्रदेश में आईएएस अधिकारीयों के तबादले 
भाजपा बिसरख मंडल का जनसंपर्क अभियान शुरू
पीएम मोदी के वाराणसी आगमन की तैयारियों का जायजा लेने आएंगे सीएम योगी, परियोजनाओं का करेंगे निरीक्षण
राम भक्त केजरीवाल सरकार : दिल्ली के बुजुर्गों को मुफ्त कराएगी अयोध्या की यात्रा
डीएम बी.एन. सिंह का कार्यालयों पर औचक निरीक्षण, कड़े दिशा-निर्देश दिए 
खेल रत्न पुरस्कार का नाम बदले जाने पर कांग्रेस बोली, नरेंद्र मोदी और जेटली स्टेडियम भी खिलाड़ियों के...
यूपी: सुभासपा की नई रणनीति; क्या राजभर के इस कदम का समर्थन करेंगे अखिलेश?
अखिल भारतीय मिथिला राज्य संघर्ष समिति का जंतर मंतर पर विशाल धरना एवं प्रदर्शन