राहत की बात : टीका लगवा चुके लोगों पर कोरोना का वायरस बेदम, खतरा हुआ कम

कोरोना टीका लगवा चुके कुछ लोगों में संक्रमण के मामले सामने आ रहे रहैं,हालांकि ऐसे ज्यादातर लोगों को अस्पतालों में भर्ती होने की जरुरत नहीं पड़ रही है। इन लोगों पर वायरस का कोई खास प्रभाव नहीं देखा जा रहा है। विशेषज्ञों का कहना है कि वैक्सीन के प्रभाव से शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता अधिक रहती है। इससे उनमें अन्य मरीजों की अपेक्षा कम लक्षण हैं, और वह जल्दी स्वस्थ हो रहे हैं।

 

दिल्ली ऐसे लोग भी संक्रमित हो रहे हैं जो अपनी कोरोना टीके की दो डोज या सिगल डोज लगवा चुके हैं। लेकिन इसमें फर्क यह है कि बिना टीका लगवाने वाले संक्रमितों को जंग ज्यादा लड़नी पड़ती है। ज्यादा दिनों तक उपचार के बाद वह स्वस्थ हो रहे हैं। जबकि जो कोरोना वैक्सीन की एक या दो डोज लगवा चुके हैं वह अन्य संक्रमितों की अपेक्षा जल्दी ठीक हो रहे हैं।

 

रोहिणी की रहने वाली रंजना बताती है कि वह एक माह पहले वैक्सीन की दोनों खुराक ले चुकी थी, लेकिन कुछ दिन बाद ही वह संक्रमित हो गई। उन्हें मधुमेह ही बीमारी भी थी, ऐसे में कोरोना से संक्रमण उनके लिए घातक साबित हो सकता था, चूंकि उन्होंने पूर्ण टीकाकरण कराया लिया था। इसके चलते संक्रमित होने के बावजूद भी उनकी हालात ज्यादा गंभीर नहीं हुई और  वह कुछ समय बाद स्वस्थ हो गई।

उन्होंने कहा कि ये वैक्सीन का असर था कि वह गंभीर रूप से कोरोना संक्रमित नहीं हुई।  इसलिए वैक्सीन जरूर लगवाएं। उसके बाद भी कोरोना आपको हो सकता है, लेकिन वो ख़तरनाक नहीं होगा।  वैक्सीन के बाद भी मास्क लगाए, दो ग़ज की दूरी बनाए रखें और बार बार हाथ जरूर धोएं।

दोनों डोज लेने वाले  स्वास्थ्यकर्मियों को हुआ हल्का असर
कुछ दिन पहले दिल्ली के सर गंगा राम अस्पताल के कई डॉक्टर कोरोना से संक्रमित हो गए थे। इनमें से अधिकतर ने टीके कि दोनों डोज लगवा ली थी। ऐसे में इनमें कोरोना संक्रमण का असर ज्यादा नहीं हुआ है। हल्का गले में दर्द व मामूली बुखार आदि के ही लक्षण प्रकट हुए हैं। उनकी रिपोर्ट कुछ दिन के अंदर निगेटिव भी आ गई है।

इसी प्रकार दिल्ली के आकाश अस्पताल में भी ऐसे कुछ मामले आए थे। जहां टीके की दोनो खुराक लगने के बाद लोग संक्रमित पाए गए थे, हालांकि इन सभी मरीजों में संक्रमण के बेहद हल्क लक्षण दिखाई दिए थे।

क्या कहते हैं विशेषज्ञ
सफदरजंग अस्पताल के कम्युनिटी मेडिसन विभाग के अध्यक्ष डॉक्टर जुगल किशोर बतात है कि वैक्सीन के विषय में पहले ही कहा गया था कि जरूरी नहीं कि इसको लगने के बाद लोग संक्रमित नहीं होंगे, लेकिन यह है कि पूर्ण टीकाकरण के बाद जो लोग संक्रमित हो भी रहे हैं, उनमें कोरोना के बेहद हल्के लक्षण हैं।

सीधे तौर पर माना जाए तो वैक्सीन शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है। इससे संक्रमण का असर कम रहता है। अभी तक ऐसे मरीज सामने नहीं आए हैं। जो वैक्सीन लगवा चुके हैं। और उनकी स्थिति गंभीर व अतिगंभीर बनी हो।इसलिए जरूरू है कि अधिक से अधिक संख्या में लोग टीकाकरण कराएं। साथ ही वैक्सीन लगवाने के बाद भी सभी जरूरी सावधानी बरतें।

टीकाकरण के आंकड़े
कुल वैक्सीनेशन- 2614006
पहली डोज- 2155085
दूसरी खुराक- 458921

 

यह भी देखे:-

एयर इंडिया की 70 साल बाद घर वापसी, सबसे ज्यादा बोली लगाकर टाटा ग्रुप ने खरीदा: रिपोर्ट
India Coronavirus Cases: पिछले 24 घंटों में संक्रमितों की संख्या घटकर 15,786 हुई
ग्लोबल कॉलेज में बसंत पंचमी का आयोजन
Tokyo Olympics 2020 India Live Updates: रवि दहिया और दीपक पूनिया ने सेमीफाइनल में बनाई जगह
दुःखद : सावित्री बाई फूले बालिका इंटर कॉलेज की प्रिंसिपल का निधन
अच्छी खबर: अब आप घर बैठे कर सकेंगे कोरोना की जांच, एबॉट ने कम कीमत में लॉन्च की होम टेस्ट किट
चुनाव में धन दुरपयोग रोकने के लिए लगी स्टेटिक टीम ने लाखों रूपये की रकम बरामद की
दिल्ली विश्वविद्यालय ; 16 अगस्त से नहीं चलेंगी कक्षाएं, कोरोना संक्रमण के मामले अभी भी आ रहे सामने
उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने जेवर विधायक के आवास पर की कार्यकर्ताओं से मुलाकात, कहा "भारतीय जनता पार...
जमालपुर कांड के बाद दनकौर पुलिस हुई सतर्क, लोगों से की अपराधिक घटनाओं की तुरंत जानकारी देने की अपील
ASEAN Summit 2021 : कोरोना महामारी के मुश्किल दौर में भी दोस्‍ती की कसौटी रहा भारत-आसियान- पीएम मोदी
बारहवीं कक्षा के छात्र केशव देव शर्मा ने बनाई पुलिस आयुक्त की तस्वीर, व्यक्त की अपनी भावनाएं
इलाहाबाद हाईकोर्ट को मिले सात नये एडिशनल जज
गेटर नोएडा में कांग्रेस की साझी रसोई का शुभारंभ
किसान आंदोलन : दिल्ली बॉर्डर पर पक्के मकान निर्माण के बाद अब खेती भी करेंगे किसान
स्कूल के बच्चों को पर्सनल हाइजीन के बारे में दी जानकारी