Navratri 2021 Kanya Pujan: नवरात्रि में क्या है कन्या पूजन का महत्व, जानें यहां

Navratri 2021 Kanya Pujan: चैत्र नवरात्रि चल रही है। आज नवरात्रि की षष्ठी तिथि है। आज के दिन मां कात्यायनी की पूजा की जाती है। नवरात्रि 9 दिनों तक चलती है। इस पर्व की अष्टमी और नवमी तिथि के दिन कन्या पूजन किया जाता है। हिंदू धर्म में कन्या पूजन का महत्व बेहद अत्याधिक है। दरअसल, छोटी कन्याओं को मां का स्वरूप माना जाता है। ऐसे में अष्टमी व नवमी तिथि के दिन तीन से नौ वर्ष की कन्याओं का पूजन किए जाने का विधान है। धर्म ग्रंथों के अनुसार, 3 से लेकर 9 वर्ष तक की कन्याओं को मां का साक्षात स्वरूप माना जाता है। तो आइए जानते हैं कन्या पूजन का महत्व क्या है और इस दौरान किन बातों का ख्याल रखना चाहिए।

नवमी में 9 कन्याओं को पूजने का महत्व:

नवमी के दिन 9 कन्याओं को पूजा जाता है तो एक कन्या को पूजने का मतलब ऐश्वर्य, दो की पूजा से भोग और मोक्ष, तीन की अर्चना से धर्म, अर्थ व काम, चार से राज्यपद, पांच से विद्या, छ: की पूजा से छ: प्रकार की सिद्धि, सात से राज्य, आठ की पूजा से संपदा और नौ की पूजा से पृथ्वी के प्रभुत्व की प्राप्ति होती है।

दक्षिणा है बेहद जरूरी:

नवरात्रि में कन्या पूजन करने के बाद कन्याओं को प्रसाद खिलाना चाहिए। साथ ही दक्षिणा भी देनी चाहिए। यह बेहद अहम होता है। इससे मां दुर्गा प्रसन्न होकर सभी मनोकामनाएं पूरी करती हैं।

अष्टमी तिथि शुभ मुहूर्त:

ब्रह्म मुहूर्त- 20 अप्रैल 2021, मंगलवार, सुबह 04 बजकर 11 मिनट से सुबह 04 बजकर 55 मिनट तक

अभिजित मुहूर्त- 20 अप्रैल 2021, मंगलवार, सुबह 11 बजकर 42 मिनट से दोपहर 12 बजकर 33 मिनट तक

गोधूलि मुहूर्त- 20 अप्रैल 2021, मंगलवार, शाम 06 बजकर 22 मिनट से शाम बजकर 06 बजकर 46 मिनट तक

विजय मुहूर्त- 20 अप्रैल 2021, मंगलवार, दोपहर 02 बजकर 17 मिनट से शाम 03 बजकर 08 मिनट तक

अमृत काल- 21 अप्रैल 2021, बुधवार, मध्यरात्रि 01 बजकर 17 मिनट से 21 अप्रैल 2021 सुबह 02 बजकर 58 मिनट तक

नवमी तिथि शुभ मुहूर्त:

ब्रह्म मुहूर्त- 21अप्रैल 2021, बुधवार, सुबह 04 बजकर 10 मिनट से, सुबह 04 बजकर 54 मिनट तक

विजय मुहूर्त- 21 अप्रैल 2021, बुधवार, दोपहर 02 बजकर 17 मिनट से 03 बजकर 09 मिनट तक

गोधूलि मुहूर्त- 21 अप्रैल 2021, बुधवार, शाम 06 बजकर 22 मिनट से 06 बजकर 46 मिनट तक

निशिता मुहूर्त- 21 अप्रैल 2021, बुधवार, रात्रि 11 बजकर 45 मिनट से 22 अप्रैल मध्य रात्रि 12 बजकर 29 मिनट तक

रवि योग मुहूर्त- 21 अप्रैल 2021, बुधवार, शाम 07 बजकर 59 मिनट से 22 अप्रैल को शाम 05 बजकर 39 मिनट तक

डिसक्लेमर

‘इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।’  

यह भी देखे:-

प्रयागराज : उच्च न्यायालय इलाहबाद का कोविड संक्रमण को लेकर बड़ा आदेश
कटाक्ष : जनता देख रही है साहब जी..-रोहित कुमार
न्यूज़ एंकर रवि शर्मा की सड़क हादसे में मौत
रबूपुरा: शराबी पिता ने अपनी 6 माह की बेटी की पटककर की हत्या
किसान आंदोलन के बीच केंद्र का फैसला- खरीफ फसलों पर MSP 50% तक बढ़ाई गई, तिल पर सबसे अधिक 452 रूपए प्...
नोएडा प्राधिकरण की 201 वीं  बोर्ड बैठक संपन्न, जानिए क्या निर्णय लिए गए , पढ़ें पूरी खबर
ग्रेटर नोएडा: रोटरी क्लब ने स्कूल बैग व स्टेशनरी बाँटी
पंजाब के माेगा में Airforce का मिग-21 विमान गिरा, धमाके के साथ लगी आग, पायलट की मौत
आईसीआईसीआई की सीईओ चंदा कोचर पर कसा सीबीआई का सीखंजा
पीडीडीयू नगर (मुगलसराय) :रेल कर्मचारी के ऊपर से ही धड़धड़ाते हुए गुजर गई ट्रेन ,बाल-बाल बची जान पढ़े ...
डीआरडीओ ने विकसित की एंटीबॉडी डिटेक्शन आधारित किट, कोरोना के इलाज में है मददगार
गैंग का पर्दाफाश, एमबीबीएस  में दाखिला दिलाने के नाम पर ठगी, दो गिरफ्तार
नोएडा में युवक ने पंखे से फांसी लगाकर की आत्महत्या, जांच में जुटी पुलिस
भगवान परशुराम जी की जयंती घर में रहते हुए मनाई गई  
गलगोटियाज विश्वविद्यालय में फैकल्टी र्स्पोटस फैस्ट 2021 का भव्य आयोजन
जम्मू-कश्मीर: पुंछ में सुरक्षाबलों के साथ आतंकियों की मुठभेड़, JCO समेत सेना के 5 जवान शहीद