कोरोना की बेकाबू रफ्तार: संक्रमण की दर 12 दिन में दोगुनी, मृत्युदर गिरकर 1.20 फीसदी

देश में कोरोना वायरस की बेकाबू होती रफ्तार के चलते बीते 12 दिन में संक्रमण की दर दोगुनी हो गई है। छह अप्रैल को संक्रमण की दर आठ फीसदी थी, जो अब 16.69 फीसदी हो गई है। वहीं, एक महीने में साप्ताहिक संक्रमण दर 3.05 से बढ़कर 13.54 फीसदी तक जा पहुंची है।

 

इसी के साथ चार दिन में नौ लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं, जो बाकी देशों की तुलना में सबसे ज्यादा है। बीते एक दिन में पहली बार 2,61,500 मामले पहली बार सामने आए और सबसे ज्यादा 1,501 लोगों की मौत भी हुई है।

 

देश में लगातार दूसरे दिन मौतों के रिकॉर्ड मामले दर्ज किए गए। कोरोना की पहली लहर में एक दिन में सर्वाधिक मौत का आंकड़ा 1190 था, जिसे बीते साल 16 सितंबर को दर्ज किया गया था।

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, बीते दो महीनों में दौरान सक्रिय मामलों की संख्या में 12 गुना तक वृद्धि हुई है। कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,47,88,109 हो गई। महामारी से मरने वालों की कुल संख्या बढ़कर 1,77,150 हो गई है। इसी के साथ सक्रिय मरीजों की संख्या 18,01,316 दर्ज की गई जो संक्रमण के कुल मामलों का करीब 12.14 फीसदी है।

छत्तीसगढ़ में संक्रमण दर सबसे ज्यादा
मंत्रालय के मुताबिक, संक्रमण की दर सबसे ज्यादा छत्तीसगढ़ में 30.38 फीसदी है। वहीं, यह दिल्ली में 13.91, चंडीगढ़ में 14.47, पुडुचेरी में 15.30, दादर नगर हवेली में 15.86, हरियाणा में 15.97, लद्दाख में 17.80, मध्यप्रदेश में 18.99, राजस्थान में 23.33, महाराष्ट्र में 24.17 और गोवा में 24.24 फीसदी दर्ज की गई है।

मृत्युदर गिरकर 1.20 फीसदी
कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की दर घटकर 86.6 फीसदी पर आ चुकी है। कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या फिलहाल 1,28,09,643 है। हालांकि, मृत्युदर गिरकर 1.20 फीसदी हो गई है। दो हफ्ते पहले तक यह 1.30 थी। देश में कोरोना की जांच का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। देश में अब तक साढ़े 26 करोड़ से ज्यादा कोरोना जांच की जा चुकी है। बीते शनिवार को देश में पहली बार एक दिन में 15.66 लाख से भी ज्यादा सैंपल की जांच की गई जिनमें 16 फीसदी संक्रमित मिले।

यूपी समेत चार राज्यों में 100-100 से ज्यादा मौतें
देश के चार राज्यों में सबसे ज्यादा मौतें सामने आ रही हैं। कोरोना वायरस की दूसरी लहर में मौत का आंकड़ा इसलिए भी बढ़ रहा है क्योंकि अस्पतालों में चिकित्सीय प्रोटोकॉल का व्यवस्थित तौर पर पालन नहीं किया जा रहा है।

एक वजह यह भी है कि अस्पतालों में मरीज सबसे ज्यादा गंभीर अवस्था में पहुंच रहे हैं। महाराष्ट्र, दिल्ली, छत्तीसगढ़ और उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा मौतें पिछले एक दिन में हुई हैं। यहां क्रमश: 419, 167,158 और 120 लोगों की मौत हुई है।

यह भी देखे:-

पीड़ितों की सुनवाई ना होने की वजह से आए दिन विधानभवन के पास हो रहा आत्मदाह का प्रयास
मोबाइल दुकान में लाखों की चोरी घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद
मेट्रो में बढ़ने वाले हैं कोच : मिलेगा अधिक यात्रियों को सफर का मौका
ऑनलाइन ठगी : तुरंत करें इस नंबर पर कॉल, सरकार करेगी आपकी हेल्प
पंजाब बजट: माफ होंगे 1.13 लाख किसानों के 1,186 करोड़ रुपये के लोन, आंदोलन के बीच कांग्रेस सरकार का ब...
ग्रेटर नोएडा : तीसरे आयुर्योग एक्सपो, हिमालयन हर्बल एक्सपो और आरोग्य मेला का उद्घाटन
विश्व पर्यावरण दिवस पर एंटरटेनमेंट सिटी की ओर से प्रकृति मां को 10,000 पौधों का तोहफा
दिल्ली में आयोजित ताइक्वांडो प्रतियोगिता में रयान ग्रेटर नोएडा ने चैंपियंस ट्रॉफी पर किया कब्ज़ा
बजट 2018 - जानिए रेलवे और हवाई यात्रा के लिए क्या रहा ख़ास
जीडी गोयनका में ऑनलाइन प्लेटफार्म पर ईद असेम्बली का आयोजन
जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़: ऑनलाइन विवाद समाधान में न्याय प्रणाली को विकेंद्रीकृत करने की क्षमता
कोरोना के बढ़ते मामलों पर रेलवे बोर्ड अलर्ट, एसी बोगियों का बढ़ेगा तापमान, हेपा फिल्टर भी लगेंगे
वैक्सीन की मांग: कहीं रसोई गैस पहुंचाने वाले ना बन जाएं सुपर स्प्रेडर, रोजाना आते हैं तीन करोड़ लोगो...
केंद्र तीन कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग के अलावा किसी भी अन्य प्रस्ताव पर चर्चा को तैयार- नरेंद...
सुन्दर भाटी  के भतीजे ने किया सरेंडर , पढ़ें पूरी खबर 
फैक्ट्री में तैनात सुरक्षा गार्ड की रोड डंडे से पीटकर हत्या