ऑक्सीजन आपूर्ति : देश की लाइफ लाइन रेलवे अब जीवन की लाइफ सपोर्ट भी बनेगी

देश की लाइफ लाइन रेलवे अब जीवन की लाइफ सपोर्ट भी बनेगी। लॉकडाउन के दौरान कोरोना योद्धा रेल कर्मियों ने खाने-पीने की वस्तुओं को एक जगह से दूसरे जगह पहुंचाने में सहयोगी बने तो कोरोना की दूसरे लहर में ऑक्सीजन पहुंचाकर जीवन के लिए जरूरी ऑक्सीजन देने में मददगार होंगे।

 

रेलवे ने क्रोयोजेनिक टैंकरों से तरल चिकित्सा ऑक्सीजन के परिवहन को मंजूरी दे दी है। महाराष्ट्र सरकार के अनुरोध के बाद रेल मंत्रालय ने यह निर्णय लिया है।

 

रेल मंत्रालय ने मंजूरी देते हुए कहा कि राज्य में विभिन्न स्थानों तक तरल ऑक्सीजन को रोल ऑन-रोल ऑफ सेवा के तहत पहुंचाया जाएगा। इसका खर्च राज्य सरकार को ही वहन करना होगा। लोड किए जाने वाले कंटेनरों के साथ जाने वाले कर्मचारियों को द्वितीय श्रेणी का टिकट लेना होगा और केवल दो व्यक्तियों को ही कंटेनरों के साथ जाने की अनुमति दी जाएगी।

उल्लेखनीय है कि पहले महाराष्ट्र अब दिल्ली की सरकार ने मेडिकल सेवा के लिए ऑक्सीजन की कमी की बात की है। क्रायोजेनिक कंटेनर ट्रकों को विशेष रेलवे वैगनों के माध्यम से नजदीकी गंतव्य शहरों तक पहुंचाया जाएगा। इसके बाद ट्रक अपने निर्धारित स्थान पर ऑक्सीजन को लेकर पहुंचाएगा। मेडिकल ऑक्सीजन पहुंचाने में परिवहन लागत में कमी के साथ समय की बचत होगी।

पीयूष गोयल ने ऑक्सीजन की उपलब्धता के मुद्दे पर उद्धव ठाकरे पर साधा निशाना
केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने महाराष्ट्र में ऑक्सीजन की उपलब्धता के मुद्दे पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को निशाने पर लिया। एक ट्वीट में गोयल ने कहा कि देश में अब तक महाराष्ट्र को सबसे अधिक मात्रा में ऑक्सीजन मिली है।

केंद्र सरकार लगातार राज्य सरकार के संपर्क में है। महाराष्ट्र अक्षम व भ्रष्ट सरकार से जूझ रहा है। महाराष्ट्र के लोग माझा कुटुंब, माझी जवाबदारी का पालन कर रहे हैं। मुख्यमंत्री भी अब माझा राज्य, माझी जवाबदारी की भावना से कर्तव्य का निर्वहन करें।

पीयूष गोयल ने यह भी कहा कि उद्धव ठाकरे के कार्यालय द्वारा की जा रही राजनीति से दुखी और चकित हूं। राजनीति की दैनिक खुराक उन्हें अब बंद करनी चाहिए। औद्योगिक उपयोग के लिए उपलब्ध सभी ऑक्सीजन को चिकित्सा इस्तेमाल के लिए भेज रहे हैं।

यह भी देखे:-

योगी बोले, आने वाले दिनों में सोना उगलेगी बुंदेलखंड की धरती
त्रिस्तरीय पंचयात चुनाव के तैयारियों की डीएम ने की बैठक, शस्त्र जमा कराने में सुस्ती पर थानों को दो ...
यूपीपीएससी: उत्तर प्रदेश में 124 लेक्चरर पदों पर निकलीं भर्तियां, 19 जुलाई तक कर सकते हैं आवेदन
श्री रामलीला सेवा ट्रस्ट रामलीला, गौर सिटी में निकली राम बरात, सोसाइटी वासियों ने किया स्वागत
राकेश कुमार लगातार तीसरी बार इंडिया एक्स्पो मार्ट (आईईएमएल) के चेयरमैन चुने गए
टाटा मोटर्स ने दी ओलंपिक खिलाड़ियों को ये दमदार कनेक्टेड कार
कोविड से जंग: परिवार और आपके लिए 'कोरोना' का मनोवैज्ञानिक दबाव हो जाएगा कम, अगर करेंगे ये पांच जरूरी...
यूपी: आजादी के बाद से इस गांव में नहीं हुआ विद्युतीकरण, दिवाली पर प्रशासन ने लगवाए जेनरेटर
नव ऊर्जा युवा संस्था द्वारा प्लास्टिक कचरा प्रबंधन पर कार्यशाला का आयोजन
रक्षाबंधन त्योहार पर महिलाओं ने सीखे आत्मरक्षा के गुर
यूपी में एक लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, इन शहरों में लग रही हैं टेक्सटाइल फैक्ट्रियां
लॉयड लॉ कॉलेज के विधिक सहायता केंद्र ने तीन कैदियों को रिहा करवाया
बस  से पंजाब जा रहे थे मजदूर , पुलिस ने पकड़ा 
जरूरतमंदो को हर दिन नि:शुल्क खाना खिला रहा है एस्क्लेपियस फाउंडेशन
जीएसटी पंजीयन के लाभ से रूबरू हुए व्यापारी
एमिटी ग्रेनो:तनाव एवं प्रतिस्पर्धा भरे जीवन में अध्यात्म के महत्व पर हुई चर्चा