कोरोना का कहर : अब रेलवे परिसर में मास्क नहीं पहनना दंडनीय अपराध, लगेगा 500 रुपये तक का जुर्माना

रेलवे परिसर और ट्रेनों में मास्क नहीं पहनने पर 500 रुपये तक का जुर्माना हो सकता है ,क्योंकि रेलवे ने अब इसे रेलवे अधिनियम के तहत अपराध के तौर पर शामिल किया है। यह जानकारी शनिवार को जारी एक आदेश से मिली।

यह रेलवे द्वारा किया गया नवीनतम उपाय है। रेलवे ने वायरस के प्रसार को प्रतिबंधित करने के लिए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मामलों के मंत्रालय द्वारा जारी किए गए विभिन्न कोरोना प्रोटोकॉल का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए इसे अपनाया है।

रेलवे द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए जारी विशिष्ट दिशानिर्देशों में मास्क पहनना शामिल है। भारतीय रेलवे द्वारा ट्रेनों की आवाजाही के लिए 11 मई, 2020 को जारी मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) में कहा गया है कि सभी यात्रियों को सलाह दी जानी चाहिए कि उन्हें प्रवेश और यात्रा के दौरान फेस कवर या मास्क पहने हुए होना चाहिए।

इसमें कहा गया है कि मास्क के अनिवार्य उपयोग और जुर्माने को अब भारतीय रेलवे (रेलवे परिसर में स्वच्छता को प्रभावित करने वाली गतिविधियों के लिए दंड) नियम, 2012 के तहत सूचीबद्ध किया जाएगा, जिसमें रेल परिसर में थूकने वालों के लिए भी जुर्माने का प्रावधान है।

आदेश में कहा गया है कि रेलवे की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि कोविड-19 स्थिति के मद्देनजर, किसी व्यक्ति द्वारा मास्क नहीं पहनने और रेलवे परिसर (ट्रेनों सहित) में प्रवेश करने और थूकने एवं इस तरह के कृत्य पर रोक लगाना अस्वच्छ परिस्थितियों के निर्माण से बचने के लिए महत्वपूर्ण है जिससे जीवन और सार्वजनिक स्वास्थ्य को खतरा हो सकता है।

इसमें कहा गया है, ‘‘तदनुसार, थूकने और इस तरह के कृत्यों को रोकने के लिए और रेलवे परिसर (रेलगाड़ियों सहित) में सभी व्यक्तियों द्वारा फेस मास्क या फेस कवर पहनना सुनिश्चित करने के लिए रेलवे अधिकारियों द्वारा भारतीय रेलवे (रेलवे परिसर में स्वच्छता को प्रभावित करने वाली गतिविधियों के लिए दंड) नियम, 2012 के तहत जुर्माना 500 रुपये तक का लगाया जाएगा।

आदेश में यह भी कहा गया है कि यह छह महीने की अवधि के लिए तत्काल प्रभाव से इस संबंध में अगले निर्देश जारी होने तक लागू रहेगा। स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को कहा कि एक दिन में कोविड-19 के 2,34,692 नये मामले सामने आने और 1,341 और मरीजों की मौत होने से भारत में संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 1,45,26,609 हो गई जबकि मृतक संख्या बढ़कर 1,75,649 हो गई। मंत्रालय द्वारा सुबह आठ बजे अद्यतन किये गए आंकड़े के अनुसार देश में कोरोना वायरस के उपचाराधीन मामलों की संख्या 16 लाख से अधिक है।

 

यह भी देखे:-

नो स्कूल नो फीस जब स्कूल गए ही नहीं तो फीस किस लिए : रविन्द्र भाटी
हनुमान चालीसा का मातोश्री के बाहर जाप करना कोई राजद्रोह नहीं : शांडिल्य
आज का पंचांग, 16 जून 2020, जानिए शुभ -अशुभ मूहर्त
वैक्सीन लगवाने के बाद भी हो रहा संक्रमण, जानिए इस सवाल पर क्या बोले एम्स के डायरेक्टर
आँखों में लाल मिर्च पाउडर डाल कॉलेज छात्रा से लूट, महिलाओं ने किया प्राधिकरण का घेराव
कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव बोले- मुख्तार को बांदा क्यों ले जा रहे हो, काशी लाना चाहिए ताकि मोक्ष प्राप...
मानसून सत्र: शरद पवार से मिलने घर पहुंचे केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, इन नेताओं से भी की मुलाकात
शोध: पेट्रोल-डीजल की तरह सीएनजी भी खतरनाक, हवा में बढ़ा रही नाइट्रोजन ऑक्साइड
गौतमबुद्ध नगर : LOCKDOWN में फेज मजदूरो को घर भेजने की तैयारी शुरू
थम नहीं रहा सम्राट मिहिर भोज प्रतिमा विवाद, गुर्जर परिषद ने पुलिस से की एफआईआर दर्ज करने की मांग
जानें- आज से कहां हो रहा अनलॉक, किन राज्‍यों में बढ़ा लॉकडाउन? जानें अपने प्रदेश का हाल
लखीमपुर खीरी कांड : मुख्‍य आरोपित आशीष मिश्र की जमानत अर्जी सीजेएम कोर्ट ने की खारिज
गौशाला में गायों के मौत का मामला, जिम्मेदार अधिकारीयों के खिलाफ बड़ी कार्यवाही, मुकदमा  दर्ज 
दिल्ली में सोनिया गांधी, शरद पवार समेत कई नेताओं से मिलेंगी ममता बनर्जी, करेंगी 2024 पर मंथन
सिटी हार्टअकादमी में नवनिर्वाचित एमएलसी शिक्षक श्रीचंद शर्मा का भव्य स्वागत   
Tokyo Olympics 2020 Day 9 Live: वंदना की हैट्रिक, महिला हॉकी टीम के क्वार्टर फाइनल की आस बढ़ी