उन्नाव रेप के दोषी कुलदीप सिंह सेंगर की पत्नी को बीजेपी ने दिया जिला पंचायत का टिकट

भारतीय जनता पार्टी ने उन्नाव जिले की 51 जिला पंचायत सीटों पर अपने अधिकृत प्रत्याशियों के नाम की घोषणा कर दी है। संगठन ने रेप केस के दोषी कुलदीप सिंह सेंगर की पत्नी पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष संगीता सिंह सेंगर को चुनाव मैदान में उतारा है। इसके साथ ही पूर्व ब्लाक प्रमुख और पूर्व जिलाध्यक्ष को भी समर्थन दिया है। खासबात तो यह है कि विधानसभा तक पहुंचने का ख्वाब देख रहे तमाम नेता जिला पंचायत सदस्य के लिए जोर आजमाएंगे। टिकट की घोषणा के बाद से ही जिला पंचायत अध्यक्ष को लेकर शह मात का खेल चलने लगा।

संगठन की ओर से गुरुवार को जारी की गई लिस्ट में कई चेहरे नए भी हैं। हालांकि पार्टी ने पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष संगीता सेंगर को फतेहपुर चौरासी चतुर्थ से प्रत्याशी बनाया गया है। इसके अलावा भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष अविनाश चंद्र उर्फ आनंद आवस्थी को सिकंदरपुर सरोसी प्रथम से प्रत्याशी बनाया गया है। नवाबगंज के पूर्व ब्लॉक प्रमुख अरुण सिंह औरास द्वितीय से टिकट मिला है। आनंद अवस्थी पूर्व में उन्नाव सदर से विधानसभा सदस्य के लिए चुनाव लड़ चुके हैं। हालांकि उन्हें सफलता नहीं मिली थी। संगीता सिंह सेंगर बांगमरऊ उप चुनाव में भाजपा से टिकट मांग रही थी। हालांकि उन्हें टिकट नहीं मिला था।

वहीं पूर्व ब्लाक प्रमुख अरुण सिंह भी बांगरमऊ से दावेदारी कर रहे थे। नवाबगंज ब्लाक प्रमुख की सीट आरक्षित होने के बाद अरुण सिंह अपनी राजनीति मजबूत करने के लिए जिला पंचायत सदस्य बनने हेतु मैदान में आ गए।  जिला पंचायत अध्यक्ष पद के पूर्व प्रत्याशी प्रवेश सिंह उर्फ सिंडीकेट को बिछिया द्वितीय से प्रत्याशी बनाया गया है। भाजपा की लिस्ट जारी होते ही सोशल मीडिया पर बधाई देने वाला का तांता लगा रहा।

कमल का निशान लगाकर करने लगे प्रचार
भाजपा की ओर से जैसे ही समर्थित उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की गई सफलता पाने वाले दावेदारों की वांछे खिल गई। वह भूल गए कि भाजपा ने सिर्फ समर्थन दिया है अपना चुनाव चिह्न नहीं दिया है। अति उत्साह में तमाम दावेदारों ने कमल चुनाव निशान लगाकर अपना फोटो सोशल मीडिया पर जारी कर दिया। हालांकि सोशल मीडिया पर उनकी खूब चुटकी ली जा रही है।

अध्यक्ष के लिए होगा घमासान

भाजपा की ओर से समर्थित उम्मीदवारों की लिस्ट जारी करने के बाद से ही सवाल तेजी से उछला कि अगला जिला पंचायत अध्यक्ष कौन होगा। अगर भाजपा के समर्थित उम्मीदवारों की जीत हुई और वह बहुमत में आई तो अध्यक्ष के लिए घमासान होना तय माना जा रहा है। भाजपा के दिग्गज अंदर खाने में ताकत लगाए हैं कि उनके पक्ष का दावेदार चुनाव जीते और उसे ही जिला पंचायत अध्यक्ष का टिकट मिले। हालांकि यह तस्वीर 2 मई को साफ हो पाएगी कि कौन जीतेगा और कौन हारेगा। कयास लगाया जा रहा है कि संगठन यह देखने में लगा है कि कौन प्रत्याशी कितने पानी में है और कितने अंतर से जीतकर आता है।

पार्टी के विरोध को थामना आसान नहीं

पंचायत चुनाव में पार्टी समर्थित उम्मीदवारों की लिस्ट जारी होने के बाद से ही पार्टी में भितरघात शुरू हो गया है। दावेदारी कर रहे जिन लोगों को टिकट नहीं मिला वह खुलकर नहीं तो अंदर ही अंदर विरोध कर सकते हैं। मुद्दा यह है कि कई प्रत्याशी ऐसे हैं जो दूसरे ब्लाक के हैं। ऐसे में उनको स्थानीय नेताओं का समर्थन मिलेगा की नहीं यह तो वक्त ही बताएगा।

भाजपा ने इनको बनाया प्रत्याशी 

जिला पंचायत वार्ड           प्रत्याशी का नाम
नवाबगंज प्रथम            अमरेंद्र शेखर पासी
नवाबगंज द्वितीय        सुमन देवी धोबी
नवाबगंज     तृतीय        सुनीत कुमार
नवाबगंज चतुर्थ            शिव देवी पासी
हसनगंज प्रथम            विजय कुमार शर्मा
हसनगंज द्वितीय            रेनू सिंह
हसनगंज तृतीय            परमेश्वरदीन वर्मा
मियागंज प्रथम            शकुं तला शर्मा
मियागंज द्वितीय            रत्नेश सिंह
मियागंज तृतीय            फूलचंद्र रावत
औरास प्रथम            आरिफ अली
औरास द्वितीय            अरूण सिंह
औरास तृतीय            राणा संग्राम सिंह
गंज मुरादाबाद प्रथम        विमल चंद्र शुक्ला
गंज मुरादाबाद द्वितीय        सरोज कटियार
गंज मुरादाबाद तृतीय        गीता विश्वकर्मा
बांगरमऊ प्रथम            कैलाश नाथ निषाद
बांगरमऊ द्वितीय            मुकेश पाल
बांगरमऊ तृतीय            योगेंद्र प्रताप सिंह
फतेहपुर चौरासी प्रथम    आशीष कुमार कुरील
फतेहपुर चौरासी द्वितीय    महेश चंद्र दीक्षित उर्फ मुन्ना
फतेहपुर चौरासी तृतीय    संगीता सेंगर
सफीपुर प्रथम            जयदेवी कुरील
सफीपुर द्वितीय            कमला गौतम
सफीपुर तृतीय            दिलीप कुमार उर्फ गुड्डू मिश्रा
सिकंदरपुर सरोसी प्रथम    अविनाश चंद्र उर्फ आनंद अवस्थी
सिकंदरपुर सरोसी द्वितीय    सरिता राजपूत
सिकंदरपुर सरोसी तृतीय    सोनी अशोक शुक्ला
सिकंदरपुर सरोसी चतुर्थ    शिवनंदनी लोधी
सिकंदरपुर कर्ण प्रथम    प्रमोद कुमार रावत
सिकंदरपुर कर्ण द्वितीय    चंद्रभूषण रावत
सिकंदरपुर कर्ण तृतीय    सुरेशा देवी गौतम
बीघापुर प्रथम            बंशी लाल लोधी
बीघापुर द्वितीय            सुषमा कन्नौजिया
बीघापुर तृतीय            फूलमती
सुमेरपुर प्रथम            जया तिवारी
सुमेरपुर द्वितीय            सुनीता देवी शर्मा
सुमेरपुर तृतीय            आरती देवी लोधी
हिलौली प्रथम            शशांक प्रताप सिंह
हिलौली द्वितीय            कृष्ण नारायण पाठक
हिलौली तृतीय            रामप्रकाश लोधी
हिलौली चतुर्थ            सोनी पाल
असोहा प्रथम            रविंद्र यादव
असोहा द्वितीय            केतकी रावत
असोहा तृतीय            ज्योति रावत
पुरवा प्रथम                सत्यम चौधरी
पुरवा द्वितीय            सज्जन लाल लोधी
बिछिया प्रथम            आशीष कुमार रावत
बिछिया द्वितीय            प्रवेश सिंह उर्फ सिंडिकेट
बिछिया तृतीय            अनीता देवी
बिछिया चतुर्थ            कृष्ण कुमार वर्मा

यह भी देखे:-

Coal Scam News: डोमको प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक बिनय प्रकाश समेत 3 दोषी करार, सजा पर बहस आज
श्री राधा स्काई गार्डन सोसाइटी के निवासियों ने विधायक तेजपाल नगर को गिनाई समस्या,   मिला आश्वाशन 
पीएम मोदी के वीडियो संदेश के साथ आज से शुरू होगा रायसीना डायलॉग, 50 देशों के 150 वक्ता लेंगे हिस्सा
दिल्ली: एलजी की शक्तियां बढ़ने से बेचैन क्यों हैं केजरीवाल, क्या बिखर जाएगा आम आदमी पार्टी का यह सपन...
पॉलिथीन बैग पर पूरी तरह प्रतिबंध लगाएगी उत्तर प्रदेश सरकार
केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल परिसर गुरुग्राम में आजादी का अमृत महोत्सव का अयोजन
भारतीय नववर्ष स्वागत उत्सव, कवि सम्मेलन का लोगो ने उठाया लुफ्त
घूसा जड़ने वाले Zomato के डिलीवरी बॉय ने किया यह बड़ा दावा, महिला ने खुद को किया घायल
किसानों की समस्या को लेकर भारतीय किसान यूनियन का धरना प्रदर्शन
डायरेक्ट सेलिंग: भारत मे बेरोजगारी ख़त्म करने का विकल्प कैसे बन सकता है, पढ़े पूरी रिपोर्ट
रिपोर्ट: राष्ट्रीय स्तर पर एक महीने के ‘लॉकडाउन’ से जीडीपी में हो सकता है दो प्रतिशत नुकसान
योगी सरकार की 39 जातियों को अन्य पिछड़ा वर्ग में शामिल करने की तैयारी
फिर दिखा तेंदुआ, वन विभाग ने जाल बिछाया 
खिलौना मेले का उद्घाटन, मोदी बोले- बच्चों के विकास में खिलौनों की भूमिका को समझें माता-पिता व अध्याप...
मिला इन्साफ, फांसी पर लटके निर्भया के गुनाहगार
बैंक घोटाला कांड: माल्या के बाद अब मोदी की बारी, होगा पाई पाई का हिसाब, CBI को मिली दूसरी बड़ी कामयाब...