ग्राउंड रिपोर्ट : कठपुतली भर हैं ग्राम पंचायत सदस्य, न निर्णय में हिस्सेदारी और न अधिकार का पता

गांव की सरकार में मंत्रियों की हैसियत से कामकाज में अहमियत रखने वाले पंचायत सदस्यों को न तो मीटिंग में बुलाया जाता है, न ही उनसे राय मांगी जाती है। उन्हें न तो अपने अधिकारों की जानकारी होती है न उनकी दिलचस्पी रहती है। यहां तक की बंद कमरों में बनने वाली करोड़ों की योजनाओं पर उनके दस्तखत भी कोई और ही कर देता है।

 

जिस तरह से सदस्य अपनी शक्तियों को लेकर जागरुक नहीं हैं, उसी तरह इनके चुनाव में बस खानापूर्ति ही की जाती है। इस बार पहले चरण नामांकन को देखें तो जहां जिला पंचायत सदस्यों और प्रधान पदों के लिए पदों से कई गुना पर्चे दाखिल हुए वहीं, पंचायत सदस्यों के नामांकन पहले चरण में कुल पदों के सापेक्ष मात्र 53% ही दाखिल हुए हैं।

 

पहले चरण में ग्राम पंचायत सदस्यों के कुल 1,86,583 पद थे जबकि 99,083 नामांकन हुए। बाकी सीटें उपचुनाव के जरिए छह माह के भीतर ही भरी
जाएंगी। 2015 के चुनावों में पंचायत सदस्यों की संख्या कुल 7,42,269 थी।

पूरे कार्यकाल में सिर्फ दो बार किए दस्तखत…
गोंडा जिले के रुपईडीह ब्लॉक के टेढ़वा गुलाम ग्राम पंचायत के निवर्तमान पंचायत सदस्य विश्राम ने पांच वर्षों में दो बार ही हस्ताक्षर किए। पहला जब प्रधान को शपथ लेना था, दूसरा पहली बैठक में। इसके बाद हस्ताक्षर कौन करता है, उन्हें नहीं पता। विश्राम बताते हैं,  पांच सालों में कभी बैठक में नहीं बुलाया गया, सारा काम प्रधान करते हैं।

टेढ़वा गुलाम ग्राम ग्रामसभा की ही पंचायत सदस्य ममता देवी को भी मीटिंग में नहीं बुलाया? वह बोलती हैं, ससुर से बात करके हमारा नाम लिख ले गए। ममता निर्विरोध चुनी थीं। सोनभद्र के घोरावल के विसुंधरी निवासी गुड्डू निवर्तमान प्रधान के सामने बोलते हैं, हम  मीटिंग में ही नहीं गए, हम लोग 15 सदस्य हैं, लेकिन पंचायत में कभी खुली मीटिंग ही नहीं हुई।

यह भी देखे:-

जेवर के नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट से नॉलेज पार्क तक कि मेट्रो कनेक्टिविटी पर आई बड़ी खबर, पढ़ें
वर्चुअल संवाद: मुख्यमंत्री योगी बोले- खुद को कोरोना से बचाते हुए जनता को बचाने में जुटें मंत्री
गौतमबुद्ध नगर पुलिस : कई कोतवाल हटाए गए , 10 इंस्पेक्टर समेत 13 के तबादले
गलगोटिया में "टेक्नो फेस्ट" का आयोजन 
'राम सेतु' फिल्म के 45 जूनियर आर्टिस्ट कोरोना संक्रमित, टली अक्षय के फिल्म की शूटिंग
GNIOT मे अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य मे टॉक शो का आयोजन
कश्मीर को पाकिस्तान का बताने वाले तुर्की ने भारत को भेजी कोविड मदद, चाहते क्या हैं एर्दोगन?
कोविड संक्रमितों की संख्या के आधार पर जिलाधिकारी लें नाइट कर्फ्यू का फैसला, अफसरों से बोले सीएम योगी
ऑक्सीजन के लिए मोदीनगर से मेरठ तक बना ग्रीन कॉरिडोर, 75 मरीजों की बची जान
लॉकडाउन संकट : ग्रेटर नोएडा के सामाजिक कार्यकर्ताओं में सेवा का जज्बा काबिले तारीफ
Prayagraj Bandh: इलाहाबाद हाई कोर्ट बार एसोसिएशन के आह्वान पर बंद का दिखा असर, व्‍यापारिक प्रति‍ष्‍ठ...
मीटिंग के टेलीकास्ट पर PM की केजरीवाल को नसीहत, संयम का पालन करें, दिल्ली सीएम ने मांगी माफी
गाजियाबाद: कई इलाकों में गंगाजल की आपूर्ति आज से शुरू
ग्रेटर नोएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण की 123 वीं बोर्ड में लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय, जानिए
Paytm में निकली हैं 20,000 भर्तियां, गांव-शहर में नौकरी पाने का बेहतर मौका
रोटरी क्लब ग्रेटर नोएडा के सदस्य रक्तदान कर जरुरतमंदों की कर रहे हैं मदद