कोरोना वैक्‍सीन लगवाने से पहले जरा जान लें WHO की तरफ से दी गई सलाह, इस पर करें जरूर अमल

नई दिल्‍ली । पूरी दुनिया में जिस तेजी से कोरोनी की दूसरी और तीसरी लहर फैल रही उतनी ही तेजी से पूरी दुनिया में टीकाकरण का काम भी चल रहा है। इस बीच वैक्‍सीन को लेकर तरह-तरह की अफवाहें भी फैलाई जा रही हैं। भारत समेत सभी देशों की सरकारें और विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन भी इस तरह की अफवाहों पर ध्‍यान न देने के बारे में बार-बार कह रहा है।

15-30 मिनट करें इंतजार

विश्‍व स्‍वास्थ्‍य संगठन लगातार वैक्‍सीन और कोरोना संक्रमण को लेकर जरूरी जानकारी सारी दुनिया को अपने वेबपोर्टल और ट्विटर के माध्‍यम से उपलब्‍ध करवा रहा है। इसलिए हर किसी को इन पर भरोसा करना चाहिए न कि अफवाहों के मायाजाल में आना चाहिए। डब्‍ल्‍यूएचओ की तरफ से किए गए एक ट्वीट में लोगों को सलाह दी गई है कि कोविड-19 की वैक्‍सीन लेने के बाद व्‍यक्ति को कम से कम 15-30 मिनट तक वहीं वैक्‍सीन सेंटर पर रुकना चाहिए। संगठन की तरफ से इसकी जरूरत बताते हुए कहा गया है कि ऐसा इसलिए जरूरी है कि व्‍यक्ति पर होने वाली डोज का वहां मौजूद स्‍वास्‍थ्‍यकर्मी तुरंत देख सकता है।

वैक्‍सीन के बाद हो सकता है हल्‍का बुखार 

संगठन की तरफ से ये कुछ लोगों पर पहली या दूसरी डोज लेने के बाद हल्‍का बुखार, दर्द या शरीर पर त्‍वचा लाल हो सकती है, जो कुछ दिनों के बाद अपने आप ही खत्‍म भी हो जाता है। संगठन की वेबसाइट पर वैक्‍सीन को लेकर लोगों के मन की शंकाओं का निवारण करने के लिए इस बात की भी जानकारी दी गई है कि किन लोगों को वैक्‍सीन लेने से पहले डॉक्‍टर से राय लेने की जरूरत है।

ऐसे काम करती हैं वैक्‍सीन की दो खुराक

विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन की तरफ से बताया गया है कि वैक्‍सीन की पहली खुराक में एंटीजन और प्रोटीन होता है जो शरीर में एंटीबॉडीज के निर्माण में सहायक होता है। वहीं दूसरी डोज इसके बूस्‍टर के रूप में दी जाती है जो ये तय करती है कि शरीर में वायरस से लड़ने के लिए जरूरी प्रतिरोधक क्षमता का निर्माण होता रहे और ये सही काम करता रहे। डब्‍ल्‍यूएचओ के मुताबिक उसने वैक्‍सीन की जरूरत के हिसाब से 21 से 42 दिनों तक के अंतराल तय करने की बात भी कही है।

अपनी बारी आने पर जरूर लें वैक्‍सीन

संगठन ने लोगों से अपील की है कि वो अपना समय आने पर वैक्‍सीन की खुराक जरूर लें, क्‍योंकि इस महामारी से खुद को और दूसरों को बचाने का फिलहाल यही एक तरीका है। वैक्‍सीन लेने के बाद भी कोरोना वायरस के प्रति लापरवाह न बनें। इसलिए संगठन ने कहा है कि हमेशा घर से बाहर जाते समय मुंह पर मास्‍क लगा कर रखें और कोविड-19 नियमों का पालन करें।

यह भी देखे:-

वाराणसी में हादसाः काशी विश्वनाथ कॉरिडोर में जर्जर मकान गिरा, दो मजदूरों की मौत, सात घायल
फोर्टिस में समय पर इलाज मिलने से 91-वर्षीय मरीज़ को अपनी रोज़मर्रा की गतिविधियों में आत्मनिर्भर होने...
जो नदियों का पानी पाकिस्तान जाता था, प्रोजेक्‍ट बनाकर उनको यमुना में लाएंगे: नितिन गडकरी
ईस्टर्न पेरिफेरल हाईवे पर तेज रफ्तार का कहर, ट्रक की भिड़ंत में चालक की मौत
Indian Railways : लॉकडाउन की आशंका के बीच रेल यात्रियों के लिए आई अच्छी खबर, जानें क्या कहा रेलवे
बड़ी खबर : एसटीएफ के हत्थे चढ़ा गौरव चंदेल का हत्यारोपी
प्रस्तावित जेवर एयरपोर्ट के सम्बन्ध में राजस्व परिषद् के अध्यक्ष ने दिया ये निर्देश
दशकों तक ताकतवर बनी रहेगी भाजपा- प्रशांत किशोर , गलतफहमी में जी रहे राहुल गांधी
पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों पर AIMIM ने सौंपा ज्ञापन
वाराणसी : गंगा में डाला जा रहा काशी विश्वनाथ धाम का मलबा, गंगाजल से उठ रही बदबू, प्रवाह बाधित
FASTags: 15 फरवरी हुआ अनिवार्य, जानें क्या है फास्टैग।
कैप्‍टन अमरिंदर सिंह का सीएम पद से इस्‍तीफा, कहा- मेरा अपमान किया गया
9/11 हमला: अफगानिस्तान में अल-कायदा को खत्म करने के दावे से लेकर तालिबान को सत्ता सौंपने तक, जानें 2...
वरिष्ठ समाजसेवी प्रकाश चंद नेताजी बने भाकियू कृषक शक्ति संगठन के राष्ट्रीय सचिव।
IHGF 2023 : हस्तशिल्प मेला का तीसरा दिन, 3000 से ज्यादा प्रदर्शक, 14 प्रदर्शन खंड, क्षेत्रीय शिल्प औ...
सीएम योगी का निर्देश: अधिकारी और कर्मचारी फील्ड में उतरकर बारिश से नुकसान का लें जायजा, पीड़ितों को ...