महाराष्ट्र वसूली कांड: देशमुख की याचिका खारिज, सुप्रीम कोर्ट ने कहा- आरोप गंभीर, जांच हो

महाराष्ट्र सरकार और राज्य के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख की ओर से दाखिल याचिका को गुरुवार को सर्वोच्च न्यायालय ने खारिज कर दिया। यह याचिका बॉम्बे उच्च न्यायालय के पांच अप्रैल को दिए गए उस फैसले के खिलाफ दायर की गई थी जिसमें अदालत ने देशमुख के खिलाफ प्राथमिक जांच का आदेश जारी किया था। अदालत ने यह आदेश मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह की ओर से देशमुख पर लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोपों पर दिया था।

 

मामले की सुनवाई के दौरान सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश एसके कौल ने कहा कि अनिल देशमुख पर लगाए गए आरोप गंभीर हैं, गृह मंत्री और पुलिस कमिश्नर इसमें शामिल हैं। ये दोनों करीबी से साथ काम करते रहे जब तक दोनों की राह अलग नहीं हो गई और दोनों के पास प्रतिष्ठित पद था। उन्होंने सवाल किया कि क्या सीबीआई को इसकी जांच नहीं करनी चाहिए? उन्होंने कहा कि आरोपों की प्रवृत्ति और इसमें शामिल लोगों की स्वतंत्र जांच होनी चाहिए।

 

न्यायाधीश कौल ने इस दौरान कहा, ‘वह व्यक्ति आपका (अनिल देशमुख का) दुश्मन नहीं था, जिसने आपके ऊपर आरोप लगाए। बल्कि, यह काम उस व्यक्ति ने किया जो लगभग आपका दायां हाथ (परमबीर सिंह) था।’ न्यायाधीश एसके कौल ने कहा, ‘दोनों के खिलाफ जांच की जानी चाहिए।’ वहीं, अनिल देशमुख की ओर से अदालत में पेश हुए अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने कहा कि बिना अनिल देशमुख का पक्ष सुने कोई प्राथमिक जांच नहीं की जा सकती है।

वहीं, अनिल देशमुख ने अदालत से कहा कि मुझ पर बिना किसी आधार के मौखिक आरोप लगाए गए और मेरी बात सुने बिना ही बिना उच्च न्यायालय की ओर से सीबीआई जांच के आदेश दिए गए। इस पर अदालत ने कहा कि आरोप इतने गंभीर हैं, इसकी सीबीआई जांच क्यों नहीं होनी चाहिए। बता दें कि बॉम्बे उच्च न्यायालय ने पांच अप्रैल को आरोपों की सीबीआई जांच का आदेश दिया था, जिसके बाद देशमुख ने महाराष्ट्र के गृह मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था।

इन याचिकाओं के जरिए बॉम्बे उच्च न्यायालय के उस आदेश को चुनौती दी गई थी, जिसके तहत देशमुख के खिलाफ भ्रष्टाचार और कदाचार के आरोपों की सीबीआई जांच का निर्देश दिया गया था। इन दोनों याचिकाओं की सुनवाई न्यायमूर्ति संजय किशन कौल और न्यायमूर्ति हेमंत गुप्ता की पीठ ने की। उधर, सीबीआई ने अनिल देशमुख के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों की अपनी जांच आगे बढ़ाते हुए मंगलवार को उनके खिलाफ एक प्राथमिक जांच दर्ज की थी।

यह भी देखे:-

जिला कांग्रेस की मासिक बैठक में मेरठ किसान सम्मेलन की हुई विस्तृत चर्चा
ग्रेटर नोएडा; यूपी सरकार के 4 वर्ष पूरे होने पर गौतम बुद्ध विश्विद्यालय मे हुआ कार्यक्रम, जानें क्या...
रणदीप गैंग का 15 हज़ार इनामी शार्प शूटर गिरफ्तार, बदालपुर की एक बड़ी डकैती व हत्या काण्ड का खुलासा
दिल्ली में आज सामने आए 3583 संक्रमित, केजरीवाल बोले- अभी लॉकडाउन लगाने जैसे स्थिति नहीं
अब सीधे चुनाव प्रेक्षक से कर सकते हैं शिकायत, जानिए कैसे
विपक्षी सांसदों का स्पीकर को पत्र, कहा- गाजीपुर बॉर्डर पर भारत-पाक सीमा जैसे हालात
हजारों आंदोलनकारियों ने केएमपी और केजीपी पर लगाया जाम, सड़क पर खड़े हैं वाहन
प्रधानमंत्री बने तो क्या करेंगे, राहुल गांधी ने बताया अपना मास्टरप्लान
50 हजार मीट्रिक टन ऑक्सीजन का होगा आयात, आपूर्ति सुचारू करने में जुटी सरकार, उठाए कई कदम
सामाजिक एम्पीयरस अकादमी ने शिक्षा को बनाया गरीबी मिटाने का मंत्र
राकेश नागर बने करप्शन फ्री इंडिया संगठन के जिला उपाध्यक्ष
सुखबीर प्रधान शिक्षा समिति के सदस्यों ने प्रतिभा का किया सम्मान
लॉकडाउन में एटीएम तोड़ते रंगे हाथ गिरफ्तार
शारदा हॉस्पिटल से डिस्चार्ज हुए कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या सैकड़ा पार
पौधा लगाकर पूरे परिवार ने दिया पर्यावरण की सुरक्षा का सन्देश
गलगोटियाज विश्वविद्यालय के तत्वाधान में प्रथम शतरंज प्रतियोगिता का आयोजन