फिर से लॉकडाउन लगने का डर, दिल्ली से लेकर पुणे तक घरों को लौटने लगे हजारों प्रवासी मजदूर

देश में कोरोना वायरस के संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। इसे देखते हुए लॉकडाउन की आशंका लोगों के बीच बढ़ गई है। यही वजह है कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में नाइट कर्फ्यू लगने के बाद कई प्रवासी श्रमिकों को दिल्ली छोड़कर अपने मूल स्थानों की ओर जाते हुए देखा गया।

न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए आनंद विहार बस टर्मिनल में एक ड्राई फ्रूट्स विक्रेता पिंटू ने कहा, “दिल्ली में COVID मामलों में तेजी से बढ़ रहे हैं। इस वजह से शहर में नाइट कर्फ्यू लगाया गया है। इस बात की संभावना अधिक है कि सरकार लॉकडाउन लगाएगी। इसलिए, मैं अपने परिवार के साथ झारखंड वापस जा रहा हूं।”

एक अन्य चाय विक्रेता परमिला देवी ने बताया, “मैं और मेरा परिवार झारखंड में अपने गांव वापस जा रहा है। हम पिछले लॉकडाउन जैसी स्थिति से बचना चाहते हैं। जिस तरह कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं उससे लॉकडाउन की संभावना प्रबल हो गई है।” उन्होंने कहा कि स्थिति सामान्य होने पर वापस आ जाएगी।

एक और महिला जो बिहार जाने की योजना बना रही थी, ने कहा, “लॉकडाउन के दौरान यहां फंस गई थी, फिर से ऐसी किसी भी स्थिति से बचना चाहती है। अभी के लिए घर जाना बेहतर है।” अपनी परीक्षा के लिए दिल्ली में पढ़ने आए छात्र सुनील गुप्ता ने कहा, “मैं अब अपने गृहनगर वापस जाने की योजना बना रहा हूं। संभावना है कि दिल्ली में लॉकडाउन की जाएगी।”

महाराष्ट्र के पुणे में भी प्रवासी मजदूरों को भी अपने घर की तरफ लौटते हुए देखा गया है। उनके मन में भी लॉकडाउन की आशंका घर कर रगई है। वे पिछले साल की स्थिति को फिर से नहीं झेलना चाहते हैं। आपको बता दें कि बीते साल मार्च में जब लॉकडाउन की घोषणा हुई तो भारी संख्या में प्रवासी लोग अपने-अपने घर लौटने के लिए निकल पड़े। उन्हें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। इतना ही नहीं, सूरत में भी इसको लेकर अफवाह फैली थी।

यह भी देखे:-

ग्रेटर नोएडा : आज शाम धू-धू कर जलेगा बुराई का प्रतीक रावण, जानिए कहाँ और किस समय
जीपीएल 4 क्रिकेट टूर्नामेंट : बढ़पुरा बनाम कुलेसरा बी व मिलक 2nd बनाम खानपुर के बीच खेला गया मैच
देखें VIDEO, जारचा SHO ने दिखाई बहादुरी, बंधक बनी माँ-बेटी को सिरफिरे के चंगुल से छुड़ाया
शारदा विश्वविधालय में कैमरून का दल प्रबंधन विकास कार्यक्रम के लिए पहुंचा
जानिए क्यों, #MeToo के फंदे पर लटका जेनपैक्ट कंपनी का सहायक उपाध्यक्ष
यात्रीगण सावधान! कहीं आप भी तो ट्रेनों में नहीं करते धूमपान, भारी जुर्माने के साथ हो सकती है इतने सा...
एक्सप्रेस वे पर तेज रफ्तार बस दुर्घटनाग्रस्त, सवारी हुई चोटिल
कोरोना काल में की गई सेवा के लिए आलोक नागर सम्मानित
जंगल से निकला नक्सलियों का झुंड और शुरू कर दी गोलीबारी... गांव के लोगों की जुबानी, बीजापुर नक्सली हम...
COVID19: डेल्टा-2 और गामा-1 में बनाया गया शेल्टर होम, कोरोना से जूझ रहे गरीबों के लिए....
मतदाताओं को रिझाने के लिए प्रत्याशी परोसने जा रहा था शराब ! पुलिस ने मंसूबे पर पानी फेरा
COVID 19 : जानिए आज क्या रहा गौतमबुद्ध नगर का रिपोर्ट
आने वाला समय होगा हाइब्रिड और डिजिटल, बदलेगा काम करने का तरीका, जानें कैसे
इलाहाबाद हाईकोर्ट का निर्देश यूपी में 30 अप्रैल से 15 मई के बीच कराएं पंचायत चुनाव
07 करोड़ 24 लाख 85 हज़ार रुपये की धनराशि से होगा कासना से खेरली हाफिजपुर मार्ग का निर्माण कार्य।
करणी सेना अध्यक्ष सूरजपाल सिंह 'अम्मू' के बेटे की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत, फ्लैट के अंदर फंदे प...