पुलिस दंपत्ति को कमरे में बंद कर उड़ाया लाखों का माल , पीछा करने पर बदमाशों ने की फायरिंग

ग्रेटर नोएडा : बादलपुर थाना क्षेत्र ने बदमाशों ने यूपी पुलिस में कार्यरत दंपत्ति और उनके परिवार को बंधक बनाकर लूट की वारदात को अंजाम दिया। और तो और जब पीड़ित के छोटे भाइयों ने बदमाशों का पीछा किया तब बदमाशों ने उनपर फायरिंग की और फरार हो गए।

मामला डेरी स्कनर गाँव का है। यहाँ बीती रात बदमाशों ने उत्तर प्रदेश पुलिस में तैनात अमित भाटी के घर को निशाना बनाया। अमित भाटी और उनकी पत्नी ममता भाटी दोनों यूपी पुलिस में सिपाही के पद पर अमरोहा में कार्यरत हैं। जब बदमाश घुसे उस समय अमित और उनकी पत्नी ममता, माँ , छोटा भाई सुमित और बहन कविता मौजूद थे। बदमशों ने कमरे के बाहर कुण्डी लगा दी। फिर एक कमरे में घुस कर सारा सामान खंगाल डाला। बदमाशों ने घर से 15 तोला सोना और 35 हज़ार रूपये नगद समेत 10 लाख के माल पर हाथ साफ़ किया। । इधर अमित के पड़ोस में रहने वाले उसके चचेरे भाई मोहन को बदमाशों की आहट लगी तो उसने शोर मचा दिया। जिसके बाद बदमाश दीवार फांद कर भागने लगे। वहीँ मोहन और उसका छोटा भाई तरुण बदमाशों का पीछा करने लगे तब बदमशों ने फायरिंग कर दी और फरार हो गए। इधर मोहन और तरुण दोनों बाल-बाल बच गए। इधर सुचना मिलने के दो घंटे बाद पुलिस मौके पर पहुंची। फिलहाल पुलिस घटना की जांच कर रही है।

यह भी देखे:-

अवैध शराब और गांजा के साथ एक गिरफ्तार
पीड़ित बिल्डर ने लूटा हुआ माल समेत चोर को दबोचा
तीन शातिर लूटेरे गिरफ्तार , लूट की मोबाईल बरामद
बेटी ने दूसरी जाति के लड़के से शादी की तो परिजनों ने उठाया ये खौफनाक कदम
यहाँ बेचा जा रहा था ब्रांडेड कंपनियों के नाम पर नकली पार्ट्स
ऑटो चालक से मारपीट कर की लूट
बादलपुर पुलिस ने नाजायज चाकू के साथ अभियुक्त को किया गिरफ्तार
लूट-हत्या की साजिश रचने वाला ईनामी बदमाश गिरफ्तार
जश्न के दौरान भाइयों ने एक दूसरे पर चलाई गोली
कासना पुलिस के हत्थे चढ़े शातिर वाहन लूटेरे , लूट की बाइक व मोबाईल बरामद
सूरजपुर पुलिस ने शातिर चोर गिरोह का किया पर्दाफाश, तीन चोर गिरफ्तार
पुलिस मुठभेढ में फरार शातिर लुटेरा बंदूक व चार कारतूस के साथ गिरफ्तार
अमूल दूध के वितरक के घर दिन दहाड़े डकैती
रेलवे ट्रेक पर मिला अज्ञात महिला का शव, शिनाख्त में जुटी पुलिस
निर्माणाधीन साइट पर बदमाशों ने की फायरिंग
खेल प्रतियोगिता में भाग लेने गए छात्र के साथ यौन उत्पीड़न