BJP Foundation Day- 4 दशकों में बीजेपी ने लगातार छूईं नई ऊंचाइयां :चेतन

(विशेष संकलन चेतन वशिष्ठ):6 अप्रैल 1980 को बीजेपी की स्थापना की गई थी. 04 दशकों में बीजेपी ने लगातार नई ऊंचाइयां छूईं. पहले अटल बिहारी वाजपेयी की अगुवाई में बीजेपी ने 90 के दशक के आखिर में सरकार बनाई. अब पिछले 06 सालों से नरेंद्र मोदी बीजेपी की अगुवाई वाली एनडीए सरकार के प्रधानमंत्री हैं. वैसे इसके मूल में भारतीय जनसंघ है, जिसकी नींव डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी ने रखी थी.

बीजेपी की सक्सेस स्टोरी जानने के लिए हमें भारतीय जनसंघ के बारे में जानना होगा. जनसंघ ने साल 1952 के आम चुनावों में फाइट किया. कांग्रेस की जबरदस्त लहर के बावजूद इसकी झोली में तीन सीटें आईं. दूसरे आम चुनाव साल 1957 में चार सीटें हासिल कीं. इससे संघ का हौसला थोड़ा बढ़ गया.

साल 1962 में हुए तीसरे लोकसभा चुनाव में सीटों का आंकड़ा दहाई में पहुंचते हुए 14 हो गया. इसकी लोकप्रियता लगातार बढ़ती रही और चौथे लोकसभा चुनाव साल 1967 में इसकी सीटों की संख्या 35 हो गई. साल 1971 में इसकी सीटें पहली बार घटकर 22 रह गईं. इसके बाद पीएम इंदिरा गांधी द्वारा (1975-1976) में आपातकाल लागू कर दिया गया. फिर उन्हें हराने के लिए जनसंघ सहित कई पार्टियों ने विलय कर जनता पार्टी बनाई. इसने 1977 में हुए छठे आम चुनाव में रिकार्ड 295 सीटों पर कब्जा कर कांग्रेस को पहली बार सत्ता से बेदखल कर दिया. हालांकि आपसी कलह की वजह से यह सरकार ज्या‍दा नहीं चली.

साल 1980 में हुए लोकसभा चुनाव में इसकी सीटें सिर्फ 31 रह गईं और पार्टी बिखर गर्इ. इसके बाद जनसंघ की विचारधारा के नेताओं नें भारतीय जनता पार्टी का गठन किया. लेकिन, 1984 में हुए चुनावों में बीजेपी को सिर्फ 2 सीटों पर संतोष करना पड़ा. नौवीं लोकसभा के लिए 1989 में हुए चुनाव में इसे 85 सीटें हासिल हुईं. इसी प्रकार 1991 में 120, 1996 में 161, 1998-99 में 182 और 2009 के चुनाव में 116 सीट मिलीं.

भारतीय जनता पार्टी, भारतीय जनसंघ की उत्तराधिकारी है. डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी, मौलीचंद्र शर्मा, प्रेमनाथ डोगरा, आचार्य डीपी घोष, पीतांबर दास, ए रामाराव, वच्छ राज व्यास, बलराज मधोक, दीनदयाल उपाध्याय, अटल बिहारी वाजपेयी, लालकृष्ण आडवाणी, डॉ मुरली मनोहर जोशी, कुशाभाऊ ठाकरे, बंगारू लक्ष्मण, के जना कृष्णमुर्ति, एम वेंकैया नायडू, नितिन गडकरी और राजनाथ सिंह ने मेहनत कर इसे यहां तक पहुंचाने का काम किया. खासकर नब्बे के दौर में भाजपा को मजबूत करने में वाजपेयी और लालकृष्ण आडवाणी की अहम भूमिका रही.

बीजेपी इतनी बड़ी राजनीतिक पार्टी यूं ही नहीं बनी है. कई शख्सियतों ने इसे फर्श से अर्श तक पहुंचाया है. लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह ने इसे सबसे ज्यादा ऊंचाई प्रदान की है. अब जेपी नड्डा पार्टी के मौजूदा अध्यक्ष हैं. इन सभी ने न केवल दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी बनाने का काम किया बल्कि पूर्वोत्तर तक में बीजेपी का झंडा लहरा दिया, जहां सत्ता के लिए कभी बीजेपी के नेता सोचते भी नहीं थे.

संकलनकर्ता :     चेतन वशिष्ट भाजयुमो नेता व पूर्व प्रांत प्रमुख अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद

यह भी देखे:-

सेक्टर डेल्टा टू में ठप्प सीवर और ड्रेन सिस्टम से रेजिडेंट हताश
ग्रेटर नोएडा डेल्टा - 2 सेक्टर में समस्याओं का अम्बार, प्राधिकरण बेपरवाह, आरडब्लूए ने दिया ज्ञापन
द्रोण मेला के दंगल में महिला पहलवानों ने दिखाया दम-खम , उमड़ी भीड़, एसपी देहात सुनीति ने विजेता पहलवान...
तीन तलाक पर सुप्रीमकोर्ट का निर्णय, मुस्लिम महिलाओं के लिए स्वाभिमान पूर्ण एवं समानता के एक नए युग ...
UP Budget Session 2021: CM ने विपक्ष पे साधा निशाना बोले- किसानों की जमीन कब्जाने वाले अब बने हैं हि...
DATA STORY: ठगी से बचने के लिए सोच-समझकर बनाएं पासवर्ड, दुनिया में इनका होता है सबसे अधिक इस्तेमाल
दिल्ली : गाजीपुर बॉर्डर पर भाकियू की बड़ी बैठक आज
जीएसटी में पंजीयन कराने पर व्यापारियों को मिलेगा 10 लाख रूपये का मुफ्त बीमा : डिप्टी कमिश्नर
कोरोना काल मे की गई जनसेवा के लिए ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने नेफोमा टीम को किया सम्मानित ।
एडमिशन के लिए पैसे मांगने पर पिता ने की बेररहमी से पिटाई 
प्रेस की सकारात्मक सोच देश की सामाजिक प्रगति में सहायक - डीएम बी.एन सिंह
शिशुओं के लिए मां का दूध पहला कुदरती आहार
UP RESULT 2017 - गौतमबुद्धनगर की तीनों विधानसभा सीटों पर भाजपा का कब्जा
प्रधानमंत्री कर रहे हैं सिर्फ प्रवचन : स्वामी प्रबोधानंद गिरी , अनिल तोंगड़ बने हिन्दू रक्ष सेना के...
भाजपा का जेवर मंडल में प्रशिशक्षण शिविर शुरू 
RYAN GREATER NOIDA SHINES AT SOCIAL SERVICE CAMP AT DAMAN