जब रैली में बिगड़ी कार्यकर्ता की तबीयत, नजर पड़ते ही PM मोदी ने भेज दी अपनी डॉक्टरों की टीम

असम में दो चरणों के लिए वोटिंग हो चुकी है और तीसरे चरण के लिए चुनाव का प्रचार-प्रसार जोड़ों पर है। छह अप्रैल को होने वाले मतदान से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज तामुलपुर में एक जनसभा को संबोधित किया, इस दौरान एक ऐसा वाकया देखने को मिला, जब पीएम मोदी को बीच में ही अपना भाषण रोकना पड़ा और अपनी मेडिकल टीम को तुरंत एक कार्यकर्ता की देखरेख के लिए भेजना पड़ा।

दरअसल, पीएम मोदी जब तामुलपुर में भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे, तभी एक पार्टी कार्यकर्ता को पानी की कमी की वजह से कुछ तकलीफ हुई और वह बेहोश हो गया। इसके बाद जनसभा को संबोधित कर रहे पीएम मोदी की नजर उस कार्यकर्ता पर पड़ी और उन्होंने मंच से ही अपनी मेडिकल टीम को मदद करने को भेजा।

मंच से मोदी ने कहा, ‘ये जो पीएमओ की मेडिकल टीम है, वो जरा जाए वहां, एक कार्यकर्ता को पानी के अभाव में कुछ तकलीफ हुई है, तुरंत उनकी मदद कीजिए। मेरे साथ जो डॉक्टर आए हैं, वो जरा हमारे साथी की मदद करें। यहां का कोई अपना बंधु को पानी के अभाव में तकलीफ हुई है।’

तामुलपुर रैली में मोदी ने और क्या-क्या कहा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण की सभी प्रमुख बातें:

पीएम मोदी ने कहा कि मेरे राजनीतिक अनुभव के आधार पर, जनता के प्यार की भाषा, जनता के आशीर्वाद की ताकत पर मैं कहता हूं कि असम में एक बार फिर आप लोगों ने NDA सरकार बनाना तय कर लिया है। असम में हो रहा विकास यहां पर कनेक्टिविटी बढ़ा रहा है। असम में हो रहा विकास यहां पर लोगों का, महिलाओं का जीवन आसान बना रहा है। असम में हो रहा विकास, यहां पर नए अवसर बना रहा है, नौजवानों के लिए अवसर बढ़ा रहा है।

हम बिना पक्षपात के काम करते हैं

हम जब भी कोई योजना बनाते हैं, तो सबके लिए बनाते हैं। हर क्षेत्र के लोगों को, हर वर्ग के लोगों तक, बिना भेदभाव, बिना पक्षपात, उस योजना का लाभ पहुंचाने के लिए हम कड़ी मेहनत करते हैं। देश में कुछ बातें ऐसी गलत चल रही हैं, अगर हम समाज में भेदभाव करके, समाज के टुकड़े करके अपने वोटबैंक के लिए कुछ दे दें, तो दुर्भाग्य देखिए, उसे देश में सेक्युलरिज्म कहा जाता है। लेकिन अगर सबके लिए काम करें, बिना भेदभाव के सबको देते हैं, तो कहते हैं कि ये कम्युनल हैं। सेक्यूलरिज्म-कम्यूनिज्म के इस खेल ने देश का बहुत नुकसान किया है। हम परिश्रम करने वाले लोग हैं, समाज की सेवा के लिए दिन-रात एक करने वाले लोग हैं, विकास के लिए ईमानदारी से काम करने वाले लोग हैं। असम के लोग आज देख रहे हैं कि सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास हमारी नीति में भी है और नीयत में भी है।

यह भी देखे:-

केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल परिसर गुरुग्राम में आजादी का अमृत महोत्सव का अयोजन
यूपी: सीएम योगी के सामने जनसंख्या नीति पेश , विकास के लिए आबादी नियंत्रण जरूरी - सीएम योगी
PM का काशी दौरा : आगमन से पहले तैयारी परखने अाज आएंगे सीएम योगी, कार्यक्रम स्थलों का करेंगे निरीक्ष...
पाकिस्‍तानी सेना में चीन निर्मित VT-4 टैंक शामिल, जानें भारतीय टैंकों के आगे कहां ठहरता है यह
आज का पंचांग , 25 जून 2020 , जानिए शुभ व अशुभ मुहूर्त
Tokyo Olympic 2020 Updates: भारत के लिए मिलाजुला रहा 15वां दिन, गोल्फर अदिति ने बढ़ाई आस
ग्रेटर नोएडा पुष्पोत्सव देखने उमड़ी भीड़, बच्चों ने नृत्य-गीत का कार्यक्रम पेश कर समां बाँधा
इश्क के पागलपन में पूरे परिवार का कर दिया खात्मा, तीन साल बाद हुआ खुलासा
कारपेट कारोबारी के प्लॉट में मिला मानव कंकाल, DNA जांच के लिए नोएडा पुलिस ने लिखा खत
सुन्दर भाटी गैंग के सक्रिय सदस्य की अल्फा 2 में करोड़ों की संपत्ति जब्त
गोल्डन फेडरेशन ऑफ आरडब्ल्यूऐज ने एडीजे बनी सारिका अग्रवाल को किया सम्मानित
लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश के अधिकरियो से नाराज।
ईद की नमाज में मांगी मुल्क में अमन चैन की दुआएं
आईटीएस में "एडवांस कंकरीट कांस्ट्रेक्शन" विषय पर विशेष व्याख्यान का आयोजन
शारदा अस्पताल से डिस्चार्ज हुए ये मरीज
संक्रमण बढ़ने के संकेत मिले तो बंद होंगे स्कूल -उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा