जब रैली में बिगड़ी कार्यकर्ता की तबीयत, नजर पड़ते ही PM मोदी ने भेज दी अपनी डॉक्टरों की टीम

असम में दो चरणों के लिए वोटिंग हो चुकी है और तीसरे चरण के लिए चुनाव का प्रचार-प्रसार जोड़ों पर है। छह अप्रैल को होने वाले मतदान से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज तामुलपुर में एक जनसभा को संबोधित किया, इस दौरान एक ऐसा वाकया देखने को मिला, जब पीएम मोदी को बीच में ही अपना भाषण रोकना पड़ा और अपनी मेडिकल टीम को तुरंत एक कार्यकर्ता की देखरेख के लिए भेजना पड़ा।

दरअसल, पीएम मोदी जब तामुलपुर में भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे, तभी एक पार्टी कार्यकर्ता को पानी की कमी की वजह से कुछ तकलीफ हुई और वह बेहोश हो गया। इसके बाद जनसभा को संबोधित कर रहे पीएम मोदी की नजर उस कार्यकर्ता पर पड़ी और उन्होंने मंच से ही अपनी मेडिकल टीम को मदद करने को भेजा।

मंच से मोदी ने कहा, ‘ये जो पीएमओ की मेडिकल टीम है, वो जरा जाए वहां, एक कार्यकर्ता को पानी के अभाव में कुछ तकलीफ हुई है, तुरंत उनकी मदद कीजिए। मेरे साथ जो डॉक्टर आए हैं, वो जरा हमारे साथी की मदद करें। यहां का कोई अपना बंधु को पानी के अभाव में तकलीफ हुई है।’

तामुलपुर रैली में मोदी ने और क्या-क्या कहा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण की सभी प्रमुख बातें:

पीएम मोदी ने कहा कि मेरे राजनीतिक अनुभव के आधार पर, जनता के प्यार की भाषा, जनता के आशीर्वाद की ताकत पर मैं कहता हूं कि असम में एक बार फिर आप लोगों ने NDA सरकार बनाना तय कर लिया है। असम में हो रहा विकास यहां पर कनेक्टिविटी बढ़ा रहा है। असम में हो रहा विकास यहां पर लोगों का, महिलाओं का जीवन आसान बना रहा है। असम में हो रहा विकास, यहां पर नए अवसर बना रहा है, नौजवानों के लिए अवसर बढ़ा रहा है।

हम बिना पक्षपात के काम करते हैं

हम जब भी कोई योजना बनाते हैं, तो सबके लिए बनाते हैं। हर क्षेत्र के लोगों को, हर वर्ग के लोगों तक, बिना भेदभाव, बिना पक्षपात, उस योजना का लाभ पहुंचाने के लिए हम कड़ी मेहनत करते हैं। देश में कुछ बातें ऐसी गलत चल रही हैं, अगर हम समाज में भेदभाव करके, समाज के टुकड़े करके अपने वोटबैंक के लिए कुछ दे दें, तो दुर्भाग्य देखिए, उसे देश में सेक्युलरिज्म कहा जाता है। लेकिन अगर सबके लिए काम करें, बिना भेदभाव के सबको देते हैं, तो कहते हैं कि ये कम्युनल हैं। सेक्यूलरिज्म-कम्यूनिज्म के इस खेल ने देश का बहुत नुकसान किया है। हम परिश्रम करने वाले लोग हैं, समाज की सेवा के लिए दिन-रात एक करने वाले लोग हैं, विकास के लिए ईमानदारी से काम करने वाले लोग हैं। असम के लोग आज देख रहे हैं कि सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास हमारी नीति में भी है और नीयत में भी है।

यह भी देखे:-

पनामा केस में भ्रष्टाचार के आरोप में नप गए नवाज, पाक सुप्रीम कोर्ट ने PM पद से हटाया
LIVE: राज्यसभा से गुलाम नबी आजाद की विदाई, आतंकी घटना को याद करके भावुक हुए PM मोदी
गाजीपुर बॉर्डर पर दिल्ली से गाजियाबाद जाने वाला रास्ता फिर से बंद, आज सुबह ही खोला गया था एक छोर
शांति समिति की बैठक में आपसी सद्भाव की अपील
दूसरी लहर के थमने पर कई राज्यों ने दी पाबंदियों में ढील, अनलॉक होने लगेगी जिंदगी
ग्रेटर नोएडा वेस्ट वासियों की शिकायत का निरंतर होगा निस्तारण : विधायक तेजपाल नगर
ग्रेटर नॉएडा इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलोजी-आईपीयू कॉलेज के ओरिएंटेशन प्रोग्राम के साथ शैक्ष्रिक सत्र का ...
प्रभु की रसोई लगातार जनता को भोजन करवा रही है
जी. एल. बजाज संस्थान में पीजीडीएम छात्रों के दीक्षांत समारोह का सफल आयोजन, शैक्षणिक उत्कृष्टता के ...
राकेश टिकैत बोले- पीछे हटना हमारी डिक्शनरी में नहीं, सेना की तरह हम भी मोर्चे पर
अब आम लोगों को भी कल से शारदा अस्पताल में लगेगा कोरोना का वैक्सीन, तैयारी पूरी
विश्व जल दिवस : पानी की चोरी रोकने में जुटे कई पुलिसकर्मी, जानिए एक मिनट में कितना पानी होता है बर्ब...
कोरोना की लहर बेकाबू : नौ माह तक नहीं बदला उपचार प्रोटोकॉल, बेपरवाह रहे अफसर
ग्रेटर नोएडा वेस्ट में निवेशकों का जोरदार प्रदर्शन
आई. टी. एस. इन्जीनियरिंग कालेज : विश्व आहार दिवस पर नवादा गाँव में भोजन वितरित किया
गौरव चंदेल के परिवार के साथ हर समय हर परिस्थितियों में खड़ा हूँ : डॉ. महेश शर्मा