चीन के निशाने पर है फाइव फिंगर के साथ लद्दाख और अरुणाचल प्रदेश, तिब्बती नेता ने बताया ‘ड्रैगन’ का प्लान

नई दिल्ली, प्रेट्र। तिब्बत पर कब्जा कर चीन ने शुरुआत की है, उसके निशाने पर फाइव फिंगर कहे जाने वाले इलाके भी हैं। यह बात तिब्बत की निर्वासित सरकार के प्रमुख लोबसांग सांग्ये ने कही है। वह लोकतंत्र, मानवाधिकारों और बहुलतावाद पर आयोजित कार्यक्रम में बोल रहे थे। सांग्ये ने कहा, चीन की विस्तारवादी नीति पूरे विश्व समुदाय और उसके बनाए नक्शे में आने वाले क्षेत्रों के लिए खतरा है। चीन और भारत के बीच के बफर स्टेट तिब्बत पर कब्जा कर चीन ने अपनी सीमा भारत तक बढ़ा ली है।

चीन अब भारत के साथ सीमा विवाद बनाए रखना चाहता है। तिब्बत पर कब्जा चीन की शुरुआत थी। अब वह उससे आगे बढ़ना चाह रहा है। उसके निशाने पर फाइव फिंगर हैं। इन पर कब्जा कर वह पूरे इलाके में अपनी स्थिति मजबूत करना चाहता है। चीन की कम्युनिस्ट पार्टी तिब्बत को हथेली मानती है जबकि लद्दाख, नेपाल, सिक्किम, भूटान और अरुणाचल प्रदेश को पांच फिंगर मानती है। इन पर कब्जा करना अपना धर्म मानती है। ऐसा कर वह अपने हाथ को मजबूत करना चाहती है।

भारत को यह बात समझनी चाहिए। देखना चाहिए कि शिनजियांग और हांगकांग में क्या हो रहा है। सभी बातों को समझते हुए चीन के साथ संबंध बनाने चाहिए। शिनजियांग का मामला किसी एक देश और समुदाय का नहीं है। इसके लिए पूरी विश्व बिरादरी को एकजुट होकर खड़े होना चाहिए। क्योंकि अगर अभी उन्होंने ऐसा नहीं किया तो चीन का दायरा बढ़ता जाएगा और वह अपनी सुविधा के अनुसार इलाकों पर कब्जा करता चला जाएगा। एक समय के बाद कोई उसका कुछ नहीं कर पाएगा।

लोबसांग ने कहा कि भारत को समझना चाहिए कि तिब्बत में जो हो रहा है वह ब्लूप्रिंट है और यह शिनजियांग और हांगकांग में भी हो रहा है। चीन को समझिए और उसी मुताबिक उससे निपटिए। उन्होंने कहा कि बहुलवाद और विविधता, मानवाधिकार और स्वतंत्रता भारत को एकजुट करते हैं। लोबसांग ने आरोप लगाए कि चीन की विस्तारवादी नीतियां विश्व समुदाय के लिए ‘‘खतरा’’ है।

यह भी देखे:-

Third Wave: अगस्त के बीच में बढ़ने लगेंगे कोरोना के मामले; हर दिन लाख से डेढ़ लाख केस होंगे दर्ज
Bengal Vidhan Sabha Chunav: सिंगुर में ममता के खिलाफ हुंकार भरेंगे अमित शाह, रोड शो में दिखाएंगे दम
बंगाल चुनाव में 'जय श्री राम' के नारे पर सुप्रीम कोर्ट ने नहीं लगाई रोक, जानिए जनहित याचिका खारिज कर...
Eid 2021: कोरोना संकट के साये में मनाई जा रही ईद, राष्ट्रपति-प्रधानमंत्री ने देशवासियों को दी बधाई
दिल्ली : विशेषज्ञ समिति तय करेगी कब खुलेंगे स्कूल, आपदा प्रबंधन की बैठक में हुआ फैसला
जमीन घोटाले के मामले में ग्रेनो प्राधिकरण के दो सर्वे अमीन निलंबित, तत्कालीन तहसीलदार के खिलाफ कार्...
ग्रेनो प्राधिकरण में साप्ताहिक जनसुनवाई शुरू
नवजात बच्चियों के माता-पिता को प्रोत्साहन किट देकर महिला उन्नति संस्थान ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस ...
मुंबई: महलों के बाद अब आर्थर जेल मे रहेगा भगोड़ा मोदी, तैयार है "स्पेशल सेल"
गलगोटिया यूनिवर्सिटी: कोविड-19 और शिक्षा की भावी दिशा पर वेबीनार का आयोजन
गौतमबुद्ध नगर पंचायत चुनाव, जानिए शाम 5 बजे तक क्या रहा मतदान प्रतिशत 
कोरोना: बिना मास्क चुनाव प्रचार पर हाईकोर्ट ने आयोग और केंद्र को भेजा नोटिस
दक्षिण एशिया का सबसे बड़ा जल कार्यक्रम : सोलहवां “एवरीथिंग अबाउट वॉटर एक्सपो प्रदर्शनी का उद्घाटन
कोविड-19 : पीएम मोदी कल 8 राज्यों के मुख्यमंत्रियों से करेंगे बातचीत, स्थिति पर होगी नजर
ग्रेटर नोएडा : नाबालिग से रेप के दोषी को कोर्ट ने सुनाई सजा
जेवर एयरपोर्ट : किसानों ने सीएम योगी को सौंपा जमीन कब्जा का प्रमाणपत्र