दिल्ली में रोहिंग्याओं के अवैध कब्जे को हटाएगी योगी सरकार, अरबों रुपए की है जमीन

दिल्ली में यमुना किनारे उत्तर प्रदेश के सिंचाई विभाग की अरबों रुपये की भूमि पर पिछली सरकारों की मिलीभगत से रोहिंग्या ने अवैध कब्जा कर लिया है। इसमें अतिक्रमण और अवैध कब्जे करने / दिलाने में दिल्ली के एक विधायक और उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग के तत्कालीन कुछ अधिकारियों के नाम सामने आ रहे हैं। पूरे मामले की जानकारी होने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सख्त नाराजगी जताते हुए दिल्ली में सिंचाई विभाग की भूमि पर हुए अवैध कब्जे को खाली कराने के निर्देश दिए हैं।

दिल्ली के एक विधायक की मिलीभगत से हुआ कब्जा

सीएम के निर्देश पर पिछले दिनों दिल्ली में सिंचाई विभाग की 21 हेक्टेयर जमीन में से छह एकड़ को मुक्त कराया था। उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग की यमुना खादर में दिल्ली की सीमा में कुल 1007 हेक्टेयर जमीन है। ये जमीनें ओखला, जसोला, मदनपुर खादर, आली, सैदाबाद, जैतपुर, मोलरवंद और खुरेजी खास में हैं। इसमें सिंचाई विभाग की 20.9077 हेक्टेयर यानि 51.66 एकड़ जमीनों पर अवैध कब्जा है।

आरोप हैं कि दिल्ली के एक अल्पसंख्यक विधायक और उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग के तत्कालीन अधिकारियों ने इन जमीनों पर मिलीभगत कर अतिक्रमण और अवैध कब्जे कराए थे। सिंचाई विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि आने वाले दिनों में बाकी जमीन भी मुक्त कराने का अभियान चलाया जाएगा। इसके लिए बड़े पैमाने पर तैयारी चल रही है।

सपा-बसपा की सरकार में हुए कब्जे

सपा और बसपा के शासनकाल में यमुना के किनारे दिल्ली में सिंचाई विभाग की अरबों रुपये कीमत की 21 हेक्टेयर जमीन पर अवैध कब्जे हो गए थे, लेकिन तत्कालीन सरकारों ने इसे खाली कराने का प्रयास नहीं किया।

आरोप है कि तत्कालीन सरकारों की सरपरस्ती में ही सिंचाई विभाग की इस जमीन पर रोहिंग्या को बसाया गया था। सीएम योगी ने उत्तर प्रदेश में सरकार आने के बाद सरकारी जमीनों से अवैध कब्जे खाली कराने को लेकर एंटी भूमाफिया पोर्टल बनाया है और अभियान चलाकर हजारों एकड़ भूमि खाली भी कराया गया है।

यह भी देखे:-

जुलाई में होगी पॉलीटेक्निक की वार्षिक परीक्षाएं, MCQ पैर्टन पर लिया जाएगा एग्जाम
क्रिकेट मैच में सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ी धज्जियाँ, पुलिस ने की कार्यवाही, मुकदमा दर्ज
पीडीडीयू नगर (मुगलसराय) :रेल कर्मचारी के ऊपर से ही धड़धड़ाते हुए गुजर गई ट्रेन ,बाल-बाल बची जान पढ़े ...
सांसदों-विधायकों के खिलाफ मामला हाईकोर्ट की मंजूरी के बगैर वापस नहीं होगा - सुप्रीम कोर्ट
कांग्रेस पार्टी के सबसे संकटपूर्ण दौर में ही युवा पीढ़ी के चेहरे होने लगे तितर-बितर
Monsoon Update: मानसूनी बादलों ने पकड़ी रफ्तार, इन राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट, व्यापक बारिश से ...
देश को बचाने का है आंदोलन, हेलीकॉप्‍टर और ट्रैक्‍टर के बीच है इस बार की लड़ाई- कन्‍हैया कुमार
एपीजे इंटरनैशनल स्कूल ने मनाया अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस
दिल्ली मेट्रो : अगले साल से सभी लाइनों पर मोबिलिटी कार्ड की शुरुआत, चल रहा है तेजी से काम
यूपी सरकार के साथ हुआ नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का अनुबंध, अब ये सुविधाएं भी होंगी उपलब्ध
पीएम मोदी की सभा मे सीएम का विरोध करने जाने से ऐडवोकेट रविन्द्र भाटी को पुलिस ने रोका
कोरोना की बेकाबू रफ्तार: संक्रमण की दर 12 दिन में दोगुनी, मृत्युदर गिरकर 1.20 फीसदी
ग्रीस से सीधे इसरो मुख्यालय पहुंचे पीएम मोदी, वैज्ञानिकों को दी बधाई
शुभेंदु अधिकारी ने अमित शाह से की मुलाकात, आज पीएम से मिलेंगे, जानें किन-किन मसलों पर हुई बात?
सुनवाई: कांवड़ यात्रा पर सुप्रीम कोर्ट फिर सख्त, यूपी सरकार से कहा- फैसले पर करें पुनर्विचार, वरना ह...
यूपी : पॉलिटेक्निक के चार छात्रों ने महिला से किया गैंगरेप