आम लोगों को मिल सकती है बड़ी राहत; अब नीचे आ सकते हैं पेट्रोल, डीजल व LPG के दाम

नई दिल्ली, पीटीआइ। पेट्रोल, डीजल और घरेलू गैस के दाम आने वाले समय में कमी देखने को मिलेगी क्योंकि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तेल की कीमतों में नरमी आई है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बुधवार को यह बात कही। उल्लेखनीय है कि पेट्रोल और डीजल के दाम पिछले महीने रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गए थे। इसके साथ ही हाल के हफ्तों में एलपीजी की कीमतों में भी प्रति सिलेंडर 125 रुपये की बढ़ोत्तरी देखने को मिली थी। एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर बताया कि पेट्रोल और डीजल के दाम में पहले ही एक सप्ताह में तीन बार कटौती हो चुकी है। एलपीजी के दाम में भी आने वाले समय में गिरावट देखने को मिलेगी। इससे देश के आम लोगों को बड़ी राहत मिलने की संभावना है जो इन वस्तुओं की ऊंची कीमतों की वजह से फिलहाल परेशान हैं।

हालांकि, फरवरी महीने के समाप्त होने के बाद पेट्रोल और डीजल के दाम में स्थिरता देखने को मिली। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पेट्रोलियम पदार्थों के दाम के एक निश्चित रेंज में रहने की वजह से घरेलू स्तर पर सोने एवं चांदी की कीमतों में स्थिरता देखने को मिली। वैश्विक स्तर पर ईंधन की कीमतों में नरमी आने से घरेलू स्तर पर पेट्रोल और डीजल के दाम में तीन बार में अब तक करीब 60-61 पैसे की कटौती हो चुकी है।

अधिकारी ने कहा, ”ट्रेंड इस बात की ओर इशारा करते हैं कि आने वाले कुछ समय में दाम में किसी तरह की बढ़ोत्तरी नहीं होगी। यहां तक कि हम और कटौती देख सकते हैं।”

दिल्ली में पेट्रोल का दाम 90.56 रुपये प्रति लीटर पर है जो एक समय में 91.17 रुपये प्रति लीटर के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया था। इसी तरह शहर में एक लीटर डीजल का भाव 80.87 रुपये पर है।

अधिकारी ने कहा कि आने वाले हफ्तों में एलपीजी के दाम में भी कमी देखने को मिली।

पेट्रोलियम वितरण कंपनियां हर दिन सुबह छह बजे पूरे दिन के लिए पेट्रोल और डीजल के दाम तय करती हैं। यह अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल की 15 दिन की औसत कीमत के आधार पर निर्धारित किया जाता है। दूसरी ओर, एलपीजी सिलेंडर के दाम हर महीने की पहली तारीख को तय होते हैं।

अधिकारी ने कहा कि एलपीजी के दाम अब ऊपर नहीं जाएंगे। उन्होंने कहा, ”एलपीजी की 819 रुपये की वर्तमान कीमत पिछले साल के समान अवधि के 858 रुपये की कीमत से कम है।”

यह भी देखे:-

वाराणसी में हुई बारिश तो सरकार की खुली पोल सड़क पर पानी ही पानी अन्दर गढ्ढा ऊपर वाहन
Mission 2022: बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी, किसानों की दुर्दशा और बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर यूपी कां...
'आपने शहर का गला घोंट रखा है, क्या लोग बिजनेस बंद कर दें',- सुप्रीम कोर्ट , किसान महापंचायत को लगाई ...
भाजपा नेता को गोलियों से भूनकर मौत के घाट उतारा , दो गार्ड और राहगीर युवती की भी मौत
जीवन रक्षक दवाओं की कालाबाजारी रोकेगी एसटीएफ, अन्य राज्यों से लाकर की जा रही जमाखोरी
बाघ दिवस पर विशेष: कार्बेट पार्क में 250 हुई बाघों की संख्या, पढ़िए 48 सालों में कब-कब क्या हुआ
पीएम के संसदीय क्षेत्र वाराणसी मे बनेगा 70 एकड़ जमीन पर ईको पार्क व वेटलैंड
ग्रेटर नोएडा: यमुना एक्सप्रेसवे पर घने कोहरे की वजह से आधा दर्जन वाहन आपस में भिड़े
अजूबा! पहले से प्रेगनेंट होने के बाद भी गर्भवती हुई महिला, जुड़वा बच्चों को दिया जन्म
पकिस्तान के नंबर से विधायक को मिली जान से मारने की धमकी , जांच में जुटी पुलिस 
महाशिवरात्रि पर श्रद्धालुओं से पटी काशी, हर तरफ बम-बम की गूंज
लॉकडाउन खत्म, शुरू हुआ अनलॉक-1, गृह मंत्रालय ने जारी किया गाइड लाइन
रिपोर्टर से अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने क्यों मांगी माफी, भारत में ऐसा होता तो ‘क्या होता’?
इलेक्ट्रिक व्हीकल का भविष्य: देश में बनेगा बड़ा बाजार, निवेश के साथ रोजगार और कमाई भी होगी
यूपी चुनाव 2022: यूपी में फिर आएगी योगी सरकार, मिलेंगी 300 से ज्यादा सीटें
आईटीएस में "एडवांस कंकरीट कांस्ट्रेक्शन" विषय पर विशेष व्याख्यान का आयोजन