बड़ा फैसला: मुख्तार अंसारी को तगड़ा झटका, सुप्रीम कोर्ट ने कहा- दो हफ्ते में भेजें उत्तर प्रदेश

यूपी के बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी के मुकदमे और उनकी कस्टडी ट्रांसफर की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को अपना फैसला दिया। अंसारी को उत्तर प्रदेश की जेल में दो हफ्ते के अंदर शिफ्ट करना होगा। पंजाब सरकार की दलीलों से कोर्ट संतुष्ट नहीं था और इस पर अपना फैसला सुनाया। इसके साथ ही विशेष कोर्ट तय करेगा कि अंसारी को इलाहाबाद या बांदा में से किस जेल में रखा जाएगा।

 

इससे पहले पंजाब सरकार ने रूपनगर जेल में बंद विधायक व माफिया डॉन मुख्तार अंसारी को उत्तर प्रदेश सरकार को सौंपने से इनकार कर दिया था। 14 आपराधिक मुकदमों के लिए यूपी सरकार को अंसारी की कस्टडी की दरकार है। जनवरी 2019 से अंसारी पंजाब की जेल में है, जहां उसे जबरन वसूली मामले में नामजद किया गया था। यूपी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर कहा था कि अंसारी की अनुपस्थिति के कारण यूपी में मुकदमों की सुनवाई नहीं हो पा रही है।

 

यूपी सरकार की याचिका पर पंजाब सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर कर अंसारी को यूपी सरकार की हिरासत में देने से इनकार किया था। पंजाब सरकार ने इसका कारण अंसारी के स्वास्थ्य को बताया था। जेल अधीक्षक के माध्यम से दायर हल्फमामे में कहा गया था कि अंसारी कथित तौर पर उच्च रक्तचाप, मधुमेह, अवसाद, पीठ दर्द और त्वचा की एलर्जी से पीड़ित है।

यूपी सरकार की रिट याचिका को खारिज करने की मांग करते हुए पंजाब-सरकार ने कहा था कि वह चिकित्सकों की राय के अनुसार काम कर रही है। अंसारी को यूपी से दूर रखने के लिए कोई पूर्वकल्पित साजिश नहीं थी। हलफनामे में कहा गया था कि यूपी की रिट याचिका विचार करने योग्य नहीं है क्योंकि पंजाब में अंसारी को हिरासत में रखे जाने को यूपी अपने मौलिक अधिकार के उल्लंघन का दावा नहीं कर सकती।

यूपी सरकार की याचिका में कहा था कि राज्य में अंसारी के खिलाफ गंभीर मुकदमे लंबित हैं लेकिन बावजूद इसके अंसारी एक छोटे अपराध के मामले में दो वर्ष से पंजाब के जेल में है। राज्य सरकार का कहना था कि अदालत ने कई बार अंसारी को पेशी वारंट जारी किया लेकिन जेल अथॉरिटी ने स्वास्थ्य का हवाला देते हुए अंसारी को यूपी भेजने में तालमटोल कर रही थी।

 

यह भी देखे:-

मुख्यमंत्री योगी ने अपने जन्मदिन के उपलक्ष्य में जेवर विधानसभा को दिया एक नायाब तोहफा
हरी झंडी: कई ट्रेन पटरी पर दौड़ने को तैयार , यात्रियों का सफर फिर होगा सस्ता, सुरक्षित और आरामदेह
शिक्षण संस्थानों में धूम-धाम से मनाई गयी जन्माष्टमी
यूपी: डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी हुए रिटायर, एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार बने कार्यवाहक डीजीपी
जीएलबीआईएमआर में एक दिवसीय आउटरीच कार्यक्रम का आयोजन
Elon Musk ने बेचे टेस्ला के 6.9 बिलियन डॉलर से अधिक के शेयर
Monsoon Latest Update: समय से पहले पहुंचा मानसून, यूपी-बिहार में अलर्ट जारी
पांच रुपये का मास्क पहन कर निकलो भैया, क्यों सौ रुपये जुर्माना दे रहे हो
बड़ी खबर : एसटीएफ के हत्थे चढ़ा गौरव चंदेल का हत्यारोपी
प्रज्ञा नागर ने नीट परीक्षा में छह सौ अंक प्राप्त कर नवादा गांव का मान बढाया
बढ़ती महंगाई व खराब कानून व्यवस्था के खिलाफ राष्टीय लोक दल ने किया प्रदर्शन, सौंपा ज्ञापन
पीड़ितों की सुनवाई ना होने की वजह से आए दिन विधानभवन के पास हो रहा आत्मदाह का प्रयास
AKTU की होने वाली अतिरिक्त कैरी ओवर की परीक्षा स्थगित
शिक्षक पर्व 2021: NEP के कई पहल लांच, पढें पूरी रिपोर्ट
Corona update : घट रहे है कोविड के मरीज़, पढ़े पूरी रिपोर्ट
WORLD DAIRY SUMMIT 2022 : डेयरी क्षेत्र में सहकारी संस्थाएं महिलाओं को बनाती हैं सशक्त  : अमित शाह