World Water Day 2021 : विश्व जल दिवस जाने क्यों मनाया जाता है और क्या है उद्देश्य

World Water Day 2021 : सभ्यताओं और परंपराओं के जन्म के साथ ही मनुष्य द्वारा जल (Water) को महत्व दिए जाने में कमी आने लगी. प्रथम दार्शनिक कहे जाने वाले थेल्स ने सैकड़ों वर्ष ईसा पूर्व कहा था कि जल ही समस्त भौतिक वस्तुओं का कारण और समस्त प्राणी जीवन का आधार है लेकिन अब लोग इस बात को महत्व नहीं दे रहे हैं. अफसोस के साथ कहना होगा कि भारत (India) समेत पूरी दुनिया तब से अब तक इस अमूल्य धरोहर को सहेजने में विफल रही है. इसी वजह से हर साल विश्व जल दिवस (World Water Day) मनाया जाता है.

कब हुई विश्व जल दिवस मनाने की शुरुआत

दुनिया को पानी की जरूरत से अवगत कराने के मकसद से संयुक्त राष्ट्र ने विश्व जल दिवस World Water Day मनाने की शुरुआत की थी. साल 1992 में रियो डि जेनेरियो में आयोजित पर्यावरण तथा विकास पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन (UNCED) में विश्व जल दिवस को मनाने की शुरुआत की गई थी, जिसका आयोजन पहली बार साल 1993 में 22 मार्च को हुआ था.

क्या है विश्व जल दिवस मनाने का उद्देश्य

दुनिया को पानी बचाना कितना जरूरी है, ये हमारा मूलभूत संसाधन है, इससे कई काम संचालित होते हैं और इसकी कमी से ज्यातार क्रिया कलाप ठप हो सकते हैं जोसी महत्वपूर्ण बातों को समझाना ही इसकी उद्देश्य है. लोगों को बताना कि पानी के बिना उनके अस्तित्व पर संकट गहरा सकता है- यही इसका मूल उद्देश्य है.

विश्व जल दिवस 2021 की थीम

हर साल विश्व जल दिवस को एक थीम के साथ मनाया जाता है. इस साल की थीम- वेल्यूइंग वॉटर valuing water है, जिसका लक्ष्य लोगों को पानी का महत्व समझाना है. दुनिया में कई देश ऐसे हैं जहां लोगों को पीने तक का पानी नहीं मिल पाता और फिर लोग गंदा पानी पीकर कई सारी स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना करते हैं.

ऐसे मनाया जाता है विश्व जल दिवस

हर साल विश्व जल दिवस के मौके पर कई तरह के कार्यक्रमों का आयोजन होता है. भाषण, कविताओं और कहानियों के माध्यम से लोगों को जल संरक्षण और इसका महत्व समझाने की कोशिश की जाती है. तमाम तरह की तस्वीरें और पोस्टर साझा किए जाते हैं जिनका लक्ष्य लोगों को पानी की महत्वता समझाना होता है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 22 मार्च को जल शक्ति अभियान (Jal Shakti Abhiyan) 2021 की करेंगे शुरुआत

विश्व जल दिवस (World Water Day) के अवसर पर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 22 मार्च को जल शक्ति अभियान (Jal Shakti Abhiyan) 2021 की शुरुआत करेंगे. इस का थीम वेयर इट फॉल्स, वैन इट फॉल्स होगा. ये अभियान 22 मार्च से 30 नवंबर तक चलेगा इस दौरान सभी शहरी और ग्राणीण क्षेत्रों के लोगों को जागरुक किया जाएगा और ये बताया जाएगा की किस तरह से वह जल बचाकर अपने भविष्य को बेहतर कर सकते हैं. इसे लोगों की भागीदारी के माध्यम से जमीनी स्तर पर जल संरक्षण के लिए एक जन आंदोलन के रूप में लॉन्च किया जाएगा. इसका उद्देश्य सभी हितधारकों को बारिश के पानी के भंडारण को सुनिश्चित करने के लिए जलवायु परिस्थितियों और उप-समतल क्षेत्रों के लिए उपयुक्त बारिश का पानी संरक्षित करना है.

यह भी देखे:-

ऑक्‍सीजन की आपूर्ति दुरुस्‍त करने को पीएम मोदी ने खुद संभाली कमान, उपलब्धता बढ़ाने के लिए बताए तीन उ...
ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने की नई प्रक्रिया से बढ़ी अनट्रेंड ड्राइवर की मुश्किल
आरटीई के तहत दाखिले के लिए आज से शुरू होंगे ऑनलाइन आवेदन
कोरोना संक्रमित ध्‍यान दें... खान-पान में इन चीजों का करें प्रयोग, बिना जरूरत अस्‍पताल में न हों भर्...
नई ऊंचाई पर शेयर बाजार, पहली बार 52400 के पार खुला सेंसेक्स
Jagannath Puri Rath Yatra 2021: पुरी में दूसरी बार श्रद्धालुओं के बिना आज निकलेगी रथ यात्रा, कर्फ्यू...
भारतीयम स्कूल ग्रेटर नोएडा में विश्व पृथ्वी दिवस समारोह का आयोजन
रूस में फिर लौटा लॉकडाउन, रिकॉर्ड संख्या में कोरोना के नए केस और मौतों के बाद 11 दिन की पाबंदी
पता लगाएं कहां से आया कोरोना, नहीं तो कोविड-26, कोविड-32 का सामना करने को रहें तैयार; अमेरिकी विशेषज...
खेल रत्न पुरस्कार का नाम बदले जाने पर कांग्रेस बोली, नरेंद्र मोदी और जेटली स्टेडियम भी खिलाड़ियों के...
ग्रेटर नोएडा के सेक्टर डेल्टा टू में सेक्टर वासी आवारा पशु और आवारा कुत्तों के आतंक से परेशान
एबीवीपी के प्रांतीय अधिवेशन में ग्रेटर नोएडा से जुड़े कार्यकर्ताओं को मिला अहम जिम्मेवारी
जानिए, श्री कृष्ण जन्माष्टमी व्रत कथा एवं विधि, बता रहे हैं पं.मूर्तिराम आनन्द बर्द्धन नौटियाल
जेवर में बनने वाला नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का भूमि अधिग्रहण बनेगा, देश व विदेश में मिसाल : धीरेन्द्...
मानवाधिकार व कानूनी सहायता पर आयोजित विश्व सम्मलेन में शामिल हुए गलगोटिया वि.वि. के छात्र
Petrol Diesel Price: कच्चे तेल में आई नरमी तो अपने यहां कोई तब्दीली नहीं