दिल्ली सरकार ने बदला ‘मुख्यमंत्री घर घर राशन योजना’ का नाम, केजरीवाल ने किया एलान

नई दिल्ली  । राशन की डोर स्टेप डिलीवरी योजना यानी मुख्यमंत्री घर घर राशन योजना में आए व्यवधान को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को कहा कि दिल्ली सरकार ने राशन की डोर स्टेप डिलीवरी योजना का नाम बदला है। पहले इस योजना का नाम रखा गया था मुख्यमंत्री घर घर राशन योजना। अब योजना का नाम नहीं होगा। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अब पहले की तरह ही राशन योजना रहेगी। उसी के तहत लोगों को घर घर राशन दिया जाएगा। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार को नाम पर आपत्ति थी, इसलिए नाम हटाया गया है। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सोमवार को हमने कैबिनेट बैठक बुलाई है, केंद्र की जो भी शर्तें हैं उन्हें मानेंगे, कैबिनेट फैसला लेकर केंद्र के पास भेज देंगे। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि अब कोई अड़चन नहीं आएगी। हमें कोई श्रेय नहीं लेना है। हमारा उद्देश्य लोगों को घर घर राशन पहुंचाना है। यह हमारा 22 साल पुराना सपना है। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री घर-घर राशन योजना 25 मार्च से शुरू होना था, लेकिन शुक्रवार को हमारे पास केंद्र सरकार की तरफ से एक चिठ्ठी आई है कि ये योजना लागू नहीं कर सकते क्योंकि योजना का नाम मुख्यमंत्री था। तो आज हमने इस पर बैठक की और अब इस योजना का कोई नाम नहीं है,हमें कोई क्रेडिट नहीं चाहिए।

यह भी देखे:-

यमुना एक्सप्रेस वे: छात्रों से भरी वैन पलटी, कई छात्र घायल
कोरोना अपडेट: जानिए गौतमबुद्ध नगर का क्या है हाल
गवाहों को धमकाने आये सुन्दर भाटी गैंग के दो शार्प शूटर गिरफ्तार
राष्ट्रीय शैक्षिक कार्यशाला एंव विज्ञान प्रोत्साहन सम्मान समारोह
बिहार: रेलवे यात्रियों को बड़ी राहत, 22 मार्च से चलेगी बरौनी-लखनऊ स्पेशल ट्रेन, देखें टाइम टेबल
शक्ति राय बनीं एडमीरिया मिसेज इंडिया
आईटीएस में "एडवांस कंकरीट कांस्ट्रेक्शन" विषय पर विशेष व्याख्यान का आयोजन
नहर में बहता मिला युवक का शव, पहचान नहीं हुई
लोगों को अन-सोशल बनाने में अहम भूमिका निभा रहा इंटरनेट मीडिया
कंपनी में लगी आग में मजदूर की जलने से मौत
पूर्व कृषि मंत्री ने किसानों को किया जागरूक
बंगाल: पीएम मोदी का ममता पर हमला, बोले- टीएमसी का फूल जनता के लिए शूल, रक्त का खेला नहीं चलेगा
मोबाईल लूट कर भाग रहे बदमाश कैब से टकराए, पहुंचे अस्पताल , एक नाजुक
पंकज बजाज क्रेडाई एनसीआर के अध्यक्ष चुने गए
जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह के हस्तक्षेप से द्रोण गौशाला दनकौर को मिली बड़ी धनराशी
पंचायत चुनाव : खौफ का अंत, 25 साल बाद बिकरू में बही लोकतंत्र की बयार