बंगाल में बवाल जारी: भाजपा सांसद के घर के पास हुई बमबारी, बच्चे समेत तीन लोग घायल

पश्चिम बंगाल में होने वाले विधानसभा को लेकर राज्य की राजनीति हिंसक रूप ले रही है। यहां आए दिन किसी न किसी पार्टी के चुनावी कार्यक्रम या रैली में हिंसक झड़प की घटनाएं सामने आ रही हैं, जिसमें कभी किसी पार्टी का कार्यकर्ता चोटिल होता है तो कभी कोई नेता। अभी बीते बुधवार को भी कुछ ऐसा ही हुआ। दरअसल, उत्तरी 24 परगना के जगदल में भाजपा सांसद अर्जुन सिंह के घर से पास क्रूड बम से हमला किए जाने की खबर आई है, जिसमें एक बच्चे समेत तीन लोग घायल हो गए।

अर्जुन सिंह बैरकपुर से भाजपा के सांसद हैं और यह घटना उनके घर के नजदीक 18 नंबर गली में घटित हुई। सांसद के अनुसार बम हमले करीब 15 स्थानों पर किए गए हैं और पुलिस द्वारा लगाए गए सीसीटीवी कैमरों को तीन लोगों और उनके सहयोगियों द्वारा तोड़ दिया गया। वहीं, भाजपा नेता मुकुल रॉय ने कहा कि हम इन हमलों की शिकायत चुनाव आयोग से करेंगे।

इस घटना पर भाजपा के वरिष्ठ नेता और राज्य प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) पर आरोप लगाया है। उन्होंने कहा, टीएमसी हिंसा की राजनीति का पर्याय है। आचार संहिता के लागू होने के बाद भी गुंडे वहां बमबारी और गोलियां बरसा रहे हैं। चुनाव आयोग को इसे एक चेतावनी के रूप में लेना चाहिए, अन्यथा हमें संदेह है कि मतदान शांतिपूर्ण तरीके से नहीं हो पाएगा।

बताया जा रहा है कि कुछ अज्ञात लोगों ने 17 नंबर की गली की ओर बम फेंके थे, लेकिन यह बम भाटापारा नगर पालिका के 18 नंबर वार्ड तक पहुंच गए। शाम के समय शुरू हुई बमबारी की घटना के बाद स्थानीय लोगों में डर का माहौल बना हुआ है। घटना के तुरंत बाद जगदल पुलिस जैसे ही मौके पर पहुंची, एक बम कथित तौर पर उसके सामने भी गिरा। इसके बाद स्थानीय लोगों ने पुलिस के सामने विरोध-प्रदर्शन शुरू कर दिया।

बताया जा रहा है कि इस घटना के बाद भाजपा सांसद अर्जुन सिंह भी मौके पर पहुंचे और और पुलिस प्रशासन को फटकार भी लगाई। उन्होंने कहा, ‘हम पिछले 10 से 12 दिनों से पुलिस को सूचित कर रहे हैं, लेकिन पुलिस ने कोई कदम नहीं उठाया। हमने चुनाव आयोग को भी बताया था और इस दौरान फिर से बमबारी की घटना हो गई। इस हमले में एक बच्चे समेत 3 लोग घायल हुए हैं। वास्तव में पुलिस ने कोई कदम नहीं उठाया है ऐसा वे सत्ताधारी दल के निर्देशों पर कर रहे हैं।

अर्जुन सिंह ने यह भी चेतावनी दी कि अगर पुलिस इसके खिलाफ कदम नहीं उठाती है तो खेल बहुत खतरनाक होगा और तृणमूल कांग्रेस और उनके गुंडे खत्म हो जाएंगे। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि डर का माहौल बनाया जा रहा है, ताकि जनता अपना वोट न डाल सके। हालांकि, अभी तक यह साफ नहीं हो सका है कि बमबारी के पीछे कौन लोग थे।

वहीं, जगदल विधानसभा क्षेत्र में टीएमसी उम्मीदवार सोमनाथ श्याम ने कहा, ‘जैसा मुझे पता चला मैं यहां आया क्योंकि यह एक राजनीतिक विवाद नहीं है। विपक्षी दलों से हमारी कोई दुश्मनी नहीं है। हम अभी भी संशय में हैं कि बमबारी कैसे और क्यों हुई। हमने पुलिस प्रशासन को सूचित किया है और बिना किसी राजनीतिक दबाव के कार्रवाई करने को कहा है।’

गौरतलब है कि भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी ने बुधवार को पूर्वी मिदनापुर जिले के एक पुलिस स्टेशन के बाहर विरोध प्रदर्शन किया, जिसमें उन्होंने आरोप लगाया कि टीएमसी कार्यकर्ताओं ने भाजपा समर्थक बुद्धदेव मन्ना पर हमला किया था। वहीं, इसके एक दिन पहले पुरुलिया जिले में भाजपा की रथ यात्रा में उपयोग होने वाले रथ का एक हिस्सा कुछ अज्ञात बदमाशों ने तोड़ दिया था। ऐसे में भाजपा ने आरोप लगाया था कि इस घटना के पीछे टीएमसी है जबकि टीएमसी की तरफ से इस आरोप को नकार दिया गया।

 

 

यह भी देखे:-

ब्लाईंड  मर्डर का पुलिस ने किया  पर्दाफाश, दो गिरफ्तार, अवैध  हथियार बरामद 
रोलर स्केटिंग चैंपियनशिप में ग्रेनो के स्केटर्स चमके
अपने आपको कविता में ढालना स्वयं का मंथन
दयाशंकर गुप्ता को महिला उन्नति संस्था का महाराष्ट्र अध्यक्ष बनाया
इन लोकसभा चुनाव क्षेत्र के परिमाण आने में हो सकती है देरी, पढ़ें पूरी खबर
Indian Railways: प्रवासी मजदूरों के आने का सिलसिला तेज, ट्रेनों में मिल रहे सबसे अधिक संक्रमित
ग्रेटर नोएडा : “वर्ल्ड ओरल हेल्थ डे” का आयोजन
सच्चाई और ईमानदारी की मिसाल पेश करने वाले जुबेर मालिक को AIMIM ने किया सम्मानित 
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की 112 वीं बोर्ड , बजट का हुआ निर्धारण
मौसम का हालः पहाड़ों पर बर्फबारी होने के साथ ही रविवार को दिल्ली-एनसीआर समेत मैदानी इलाकों में बारि...
वेव इन्फ्राटेक ने खुद को दिवालिया घोषित करने की एनसीएलटी में दी अर्जी
दिल्ली की हालत मुंबई से भी बदतर, 24 घंटे में 24 हजार नए केस से हड़कंप
सिटी हार्ट अकादमी में मनाया गया बसंत पंचमी पर्व।
आज होगी सेल्फी विद कैंपस कार्यक्रम की शुरुआत
नोएडा में सैमसंग की नई इकाई का भूमि पूजन
मजदूरों के खून में रंगकर पैदा हुआ लाल झण्डा... - गंगेश्वर दत्त शर्मा जिलाध्यक्ष सीटू