होली पर यूपी के 20 जिलों में आरएएफ होगी तैनात

लखनऊ। योगी आदित्यनाथ सरकार ने उत्तर प्रदेश के कम से कम उन 20 जिलों में रैपिड एक्शन फोर्स (आरएएफ) तैनात करने का फैसला किया है, जिनकी पहचान आगामी होली त्योहार के मद्देनजर अतिसंवेदनशील के रूप में की गई है।

अतिसंवेदनशील श्रेणी के जिलों में आगरा, अलीगढ़, प्रयागराज, अंबेडकरनगर, आजमगढ़, बहराइच, बलरामपुर, बरेली, बुलंदशहर, अयोध्या, गोंडा, गोरखपुर, कानपुर नगर, लखनऊ, मऊ, मेरठ, मुरादाबाद, श्रावस्ती, वाराणसी और संभल शामिल हैं।

एडीजी (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने कहा, यह सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाया जा रहा है कि होली शांतिपूर्ण तरीके से मनाई जाए। त्योहार की पूर्व संध्या पर होलिका दहन के लिए राज्य भर में 1.4 लाख जगह हैं। पिछले साल, इस अवधि के दौरान 19 छोटी मोटी घटनाएं दर्ज हुई थी अधिकारी ने कहा कि 2016 के बाद से इस तरह की घटनाओं में काफी कमी आई है।

उन्होंने कहा कि त्योहार से संबंधित घटनाओं को रोकने के लिए उपाय किए गए हैं। एडीजी ने कहा, इनमें ड्रोन द्वारा निगरानी, आरएएफ की तैनाती और जिलों को अतिसंवेदनशील और संवेदनशील की श्रेणी में विभाजित करना शामिल है।

इन जिलों में, स्थानीय बलों और अग्निशमन विभाग के साथ पीएसी की कंपनियां तैनात की गई हैं।

एडीजी ने कहा, इन सभी जिलों के पुलिस प्रमुखों को सतर्कता बनाए रखने के लिए कहा गया है और जो लोग पिछली घटनाओं में आरोपी हैं, उन पर नजर रखी जाएगी।

जिला पुलिस प्रमुखों को विभिन्न जुलूसों के बारे में सतर्क रहने के लिए कहा गया है जो होली उत्सव का एक हिस्सा हैं।

उदाहरण के लिए, शाहजहांपुर के मस्तीगंज में, होली के दिन, एक जुलूस निकाला जाता है जहां एक आदमी को बैलगाड़ी पर जूते की माला पहनाकर बैठाया जाता है और उस पर रंग डाला जाता है।

यह भी देखे:-

सिद्धार्थ तुम बहुत जल्दी चले गए... सलमान खान , शॉक मे कई सितारे
बाघ दिवस पर विशेष: कार्बेट पार्क में 250 हुई बाघों की संख्या, पढ़िए 48 सालों में कब-कब क्या हुआ
LIVE: राज्यसभा से गुलाम नबी आजाद की विदाई, आतंकी घटना को याद करके भावुक हुए PM मोदी
यूपी : 65 जिला पंचायतों में अध्यक्ष बनाने का भाजपा का लक्ष्य, जिपं और क्षेपं अध्यक्ष चुनाव की तारीखो...
पिछले साल रोजगार पर रहा कोरोना का असर, 24 फीसदी कम रही नई नौकरियां
लखीमपुर खीरी हिंसा : पुलिस की गिरफ्त में मंत्री पुत्र सहित तीन और गिरफ्तार, अब तक 13
नोएडा: रयान स्कूल के खिलाफ हुआ विरोध प्रदर्शन, जानिए क्यों
महिला डॉक्टर ने सिर में गोली मारकर की ख़ुदकुशी, सुसाइड नोट में  शरीर के अंग दान कर देने कि बात कही
साहित्य, समाज और मीडिया एक दूसरे के प्रर्याय - डा. नीलम कुमारी
राइड एंड रन के माध्यम से जीएनडब्लूसीसी ने एकता के  समर्थन का दिया सन्देश 
नारद स्टिंग केस: ममता की याचिका पर सुनवाई से सुप्रीम कोर्ट के जज अनिरुद्ध बोस ने खुद को किया अलग
अगर आप एयरटेल कस्टमर हैं , तो अच्छी खबर है
बंगाल: पीएम मोदी का ममता पर हमला, बोले- टीएमसी का फूल जनता के लिए शूल, रक्त का खेला नहीं चलेगा
LOCKDOWN मामला : सुप्रीम कोर्ट से यूपी सरकार को मिली बड़ी राहत 
आईजीसी 2018 शिविर : बालक वर्ग में कामेश गुप्ता व बालिका वर्ग में शमा परवीन बने बेस्ट कैडेट्स
नोएडा: बदहाल कानून व्यवसथा को लेकर सपा ने किया प्रदर्शन