नीता अंबानी प्रकरण : रिलायंस इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड ने किसी भी लेटर से किया इंकार, बीएचयू ने पेश की सफाई

वाराणसी। काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में महिला अध्ययन केंद्र में नीता अंबानी को विज़िटिंग प्रोफ़ेसर बनाये जाने की ख़बरों के बाद रिलयांस इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड के प्रवक्ता ने ऐसे किसी भी प्रस्ताव से इंकार किया है। प्रवक्ता ने साफ़ किया है कि ऐसा कोई लेटर हमें नहीं मिला है। वहीं इस सम्बन्ध में छात्रों के आक्रोश के बाद विश्वविद्यालय प्रशासन ने भी अपनी सफाई देते हुए समाचार पत्रों में चली ख़बरों को गलत बताया है।

 काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के के सामाजिक विज्ञान संकाय के डीन प्रोफेसर कौशल किशोर शर्मा द्वारा कई समाचर चैनलों को दिए गए साक्षात्कार में नीता अंबानी को महिला अध्ययन केंद्र में विज़िटिंग प्रोफेसर बनाये जाने का प्रस्ताव का लेटर भेजने की बात स्वीकारी थी। विश्वविद्यालय के छात्रों ने पूंजीपतियों के हाथ में विश्वविद्यालय को देने को लेकर मंगलवार को विरोध दर्ज कराया था।

इस विरोध के बाद बुधवार की सुबह रिलयांस इंडस्ट्री लिमिटेड के प्रवक्ता ने ये साफ़ किया कि नीता अंबानी को विश्वविद्यालय की तरफ से कोई प्रस्ताव नहीं मिला है। नीता अंबानी को विज़िटिंग प्रोफ़ेसर बनाये जाने की ख़बरें फेक हैं।

 इसके बाद विश्ववद्यालय ने एक वक्तव्य जारी करते हुए कहा कि विभिन्न समाचारपत्रों, ऑनलाइन एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में  नीता अंबानी को काशी हिन्दू विश्वविद्यालय स्थित सामाजिक विज्ञान संकाय के महिला अध्ययन केन्द्र में विज़िटिंग प्रोफेसर बनाए जाने संबंधी ख़बरें प्रकाशित हुई थीं। इस संबंध में मीडिया के कई सदस्यों ने विश्वविद्यालय प्रशासन से सम्पर्क भी साधा था और विस्तृत जानकारी मांगी थी। इस बारे में ये स्पष्ट किया जाता है कि  नीता अंबानी को विश्वविद्यालय के किसी भी संकाय/विभाग/केन्द्र में विज़िटिंग प्रोफेसर नियुक्त करने या शिक्षण की कोई भी ज़िम्मेदारी देने संबंधी कोई भी आधिकारिक निर्णय विश्वविद्यालय प्रशासन ने नहीं लिया है और न ही ऐसा कोई प्रशासनिक आदेश जारी किया गया है।
बता दें कि काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में विज़िटिंग प्रोफेसर की नियुक्ति के लिए विद्वत परिषद् की मंज़ूरी आवश्यक होती है। इस मामले में न तो ऐसी कोई मंज़ूरी दी गई है और न ही इस प्रकार का कोई प्रस्ताव विद्वत परिषद् के समक्ष विचारार्थ प्रस्तुत हुआ है। इस के अलावा विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा इस विषय पर इस प्रेस विज्ञप्ति से पूर्व कोई भी आधिकारिक सूचना जारी नहीं की गई है।

यह भी देखे:-

राष्ट्रीयता के जीवंत परिचायक थे शिवाजी महाराज
कोरोना के चलते अगले आदेश तक सुप्रीम कोर्ट बंद, सिर्फ तत्काल मामलों की होगी सुनवाई
रानी नागर को न्याय दिलाएगी कांग्रेस : विरेन्द्र सिंह गुड्डू
क्या ओलंपिक बनेगा सुपर स्प्रेडर: अमेरिकी एथलीटों ने टीके से इनकार किया, दुनियाभर के कई खिलाड़ी बिना ...
ग्रेनो वेस्ट वेस्ट एंटरप्रेन्योर्स एसोसिएशन के 4 तकनीक से रूबरू हुए जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह के...
वाराणसी कमिश्नर की अपील: यहां आने से करें परहेज, बढ़ रहा कोरोना
चौधरी सुखवीर प्रधान शिक्षा समिति ने किया मेधावी छात्र-छात्रा को सम्मानित 
HANDICRAFTS FRATERNITY WELCOMES PRIME MINISTER’S BUMPER PACKAGE  
गोल्डन फेडरेशन ऑफ आरडब्ल्यूऐज ने एडीजे बनी सारिका अग्रवाल को किया सम्मानित
कोरोना: आज प्रधानमंत्री की बैठक आठ राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ. संक्रमण के बढ़ते मामलों पर होग...
ग्रेटर नोएडा, बीटा थाना अंतर्गत तेज रफ्तार एंबुलेंस में कार में टक्कर मारी।
सिख दंगा: 34 साल बाद मिला न्याय , आरोपी सज्जन कुमार दोषी करार
आईटीएस में ’’टैकट्रिक्स-2018’’ प्रतियोगिता का आयोजन
पीपीई किट-मास्क बनाने की फैक्टरी में भीषण आग, 14 झुलसे
बंद फ्लैट में मिली महिला की लाश , पति व बच्चा लापता , जांच में जुटी पुलिस
लक्ष्य : सौ फीसदी टीकाकरण वाला पहला गांव बना मोगा का साफूवाला, कैप्टन ने की तारीफ