सचिन वाझे की सोसाइटी के CCTV में एंटीलिया के बाहर बम बरामदगी का राज? क्यों उनकी टीम ले गई फुटेज?

मुकेश अंबानी के घर के बाहर मिली विस्फोटक भरी कार और हिरेन मनसुख की कथित हत्या के केस में गिरफ्तार किए गए मुंबई पुलिस के असिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर सचिन वाझे की सोसायटी की सीसीटीवी फुटेज को लेकर नया विवाद छिड़ गया है। साकेत कॉम्पलेक्स के निवासियों का कहना है कि 27 फरवरी को सोसायटी कमिटी को सूचना दिए बगैर क्राइम इंटेलिजेंस यूनिट (CIU) के चार अधिकारी यहां से पूरे नेटवर्क वीडियो रिकॉर्डर (NVR) को ले गए। बता दें, कि उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बाहर विस्फोटक वाली कार 25 फरवरी को बरामद हुई थी। यानी एनवीआर को इस घटना के ठीक दो दिन बाद ले जाया गया।

पुलिस के मुताबिक CIU के इन चार अधिकारियों में रियाजुद्दीन काजी भी शामिल थे और उन्होंने कुछ दिनों पहले सोसायटी चेरयमैन और सेक्रेटरी को लेटर लिखकर फुटेज की मांग की थी। इसकी एक कॉपी एचटी के पास है। वाझे उस समय CIU के हेड थे। इस टीम ने कथित तौर पर सोसायटी के चेयरमैन और सेक्रेटरी से एनवीआर लिया। इसके दो दिन बाद सोसायटी ने सिक्यॉरिटी कॉन्ट्रैक्टर को हटा दिया।

एक और चौंकाने वाला खुलासा यह हुआ है कि सोसायटी ने 4 मार्च की शाम को राबोडी पुलिस स्टेशन को एक लेटर लिखा था, उसी दिन मनसुख हिरेन लापता हुए थे। मुकेश अंबानी के घर के बाहर मिली विस्फोटक वाली कार का खुद को मालिक बताने वाले हिरेन मनसुख का शव 5 मार्च को बरामद हुआ था।

सोसायटी के एक सदस्य ने पहचान गोपनीय रखने की शर्त पर कहा, ”टीम ने सीसीटीवी फुटेज की मांग की थी। सिक्यॉरिटी कॉन्ट्रैक्टर ने पूरा एनवीआर चार अधिकारियों को सौंप दिया। दो दिन बाद कॉन्ट्रैक्टर को सोसायटी ने हटा दिया और दावा किया गया कि उसका काम संतोषजनक नहीं है। कमिटी के अन्य सदस्यों को यह नहीं पता था कि एनवीआर सौंप दिया गया है।”

उन्होंनने आगे कहा कि अचानक 4 मार्च को सोसायटी ने फैसला लिया कि पुलिस को सूचना दी जाए कि सीआईयू ने सीसीटीवी फुटेज लिया है। राबोडी पुलिस अधिकारियों ने लेटर की पुष्टि की है। अधिकारी ने कहा, ”सोसायटी के सदस्यों ने हमें लिखित में दिया है कि 27 मार्च को CIU के असिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर, मुंबई हमारी सोसायटी में आए और कुछ जांच के लिए सोसायटी की सीसीटीवी फुटेज ले गए। जिम्मेदार नागरिक होने के नाते हम इसकी जानकारी पुलिस टीम को दे रहे हैं।”

दूसरी तरफ वाझे की लीगल टीम ने कहा है कि एनआईए ने रिमांड कॉपी भी नहीं दी है। उनकी गिरफ्तारी को लेकर पूरी जानकारी नहीं दी गई है और ये दावे झूठे हैं।

यह भी देखे:-

ऑटो एक्सपो- द मोटर शो 2023 में वीकेंड के दूसरे दिन भी दर्शकों की भारी भीड़ रही
गाजियाबाद: कपड़ा व्यापारी के घर डकैती, 4 सदस्यों को मारी गोली, 3 की मौत
कार्यस्थलों पर महिलाओं के साथ यौन उत्पीड़न (रोकथाम, निषेध और निवारण पर कार्यशाला का आयोजन
Mera Ration app Download: सरकार ने लांच किया 'मेरा राशन' ऐप; अभी करें डाउनलोड-जाने इसके फायदे
अग्नि-5 मिसाइल से क्यों चिंतित हुआ चीन , भारत की मिसाइलों में कितना है दम
भारतीय किसान यूनियन अंबावता ने की यमुना प्राधिकरण में समीक्षा बैठक
ग्रेटर नोएडा में विश्व का सबसे बड़ा हस्तशिल्प मेला आईएचजीएफ का हुआ उद्घाटन
ज़िन्दगी हार रही है मौत जीत रही है, जिम्मेदार कौन सिस्टम या समाज
सावधान! मास्क नहीं लगाने वालों पर जुर्माने के साथ फोटो भी होगी सार्वजनिक, सीएम योगी ने दिया आदेश
अंधविश्वास की हदें पार : पंजाब में 13 साल के बच्चे से कराई मांगलिक युवती की शादी, सुहागरात के बाद मौ...
रक्षाबंधन त्योहार पर महिलाओं ने सीखे आत्मरक्षा के गुर
ग्रेटर नोएडा के गांवों की पहचान बनेंगे तालाब, तालाबों के किनारे सुबह-शाम की सैर कर सकेंगे
HP ऑक्सीजन रेगुलेटर में सोना छिपाकर ले जा रहा तस्कर गिरफ्तार,
आतंकियों के निशाने पर पुलिस: अवंतीपोरा में पूर्व एसपीओ के घर घुसकर बरसाईं गोलियां, पति-पत्नी और बेटी...
एकेटीयू: बीटेक व अन्य कोर्सों की प्रवेश काउंसलिंग कल से, यूपीसीईटी की वेबसाइट पर कर सकेंगे रजिस्ट्रे...
गौतमबुद्ध नगर पुलिस के कई कोतवाली प्रभारी/ थानाध्यक्ष का इधर से उधर तबादला, देखें सूची