राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद पहुंचे बाबा दरबार में, षोडशोपचार पूजन के बाद उतारी आरती

देश के प्रथम नागरिक राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने देश की सुख-समृद्धि के लिए श्री काशी विश्वनाथ दरबार में दुग्धाभिषेक किया। शनिवार की शाम राष्ट्रपति 5:50 बजे श्री काशी विश्वनाथ मंदिर पहुंचे। पांचों पंडवा प्रवेश द्वार होते हुए राष्ट्रपति के काफिले ने परिसर में प्रवेश किया। रानी भवनी उत्तरी गेट से होते हुए बद्रीनाथ प्रवेश द्वार से राष्ट्रपति सपरिवार गर्भगृह में पहुंचे।

मंदिर के अर्चक श्रीकांत महाराज, टेक नारायण महाराज और संजय पांडेय ने षोडशोपचार विधि से पूजन-अर्चन कराया। दर्शन-पूजन के पश्चात मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राष्ट्रपति को अंगवस्त्र, रुद्राक्ष की माला, प्रसाद के साथ ही पीतल का शंख भेंट किया।

राज्यपाल ने राष्ट्रपति की पत्नी को सम्मानित किया। इस मौके पर मंदिर के मुख्य कार्यपालक अधिकारी सुनील कुमार वर्मा, विनोद सिंह, ओएसडी उमेश कुमार सिंह, अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी निखिलेश मिश्रा सहित बड़ी संख्या में अधिकारी उपस्थित रहे।

श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन पूजन के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को काशी विश्वनाथ धाम का नक्शा दिखाया। इस दौरान उनकी पत्नी सविता कोविंद और पुत्री स्वाति कोविंद मौजूद रहीं। मुख्यमंत्री ने यहां होने वाले निर्माण कार्य और श्रद्धालुओं की सहूलियतों के बारे में राष्ट्रपति को बताया।

इस पर राष्ट्रपति ने कहा कि भविष्य में काशी विश्वनाथ धाम का भव्य स्वरूप देखने को मिलेगा। राष्ट्रपति ने श्री काशी विश्वनाथ धाम के निर्माणाधीन भवनों को भी देखा। चुनार के लाल बलुआ पत्थर से बन रहे मंदिर परिसर की नक्काशी देखकर उन्होंने सराहना की। इस दौरान मुख्यमंत्री ने इस परियोजना के बारे में राष्ट्रपति को पूरी जानकारी दी।

मुख्यमंत्री ने बताया कि भविष्य में काशी आने वाले श्रद्धालु गंगा स्नान करके सीधे मंदिर में दर्शन करने पहुंच सकेंगे। परियोजना में श्रद्धालुओं की हर एक सुविधा का ध्यान रखा गया है। भवनों का निर्माण तेजी से चल रहा है। इस दौरान राष्ट्रपति ने नक्शे में बने अलग-अलग तरह के भवनों के बारे में भी जानकारी ली।

मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल ने राष्ट्रपति को बताया कि गंगा से लगभग 350 मीटर दूरी पर बाबा विश्वनाथ का मंदिर है। इस बीच में अलग-अलग उद्देश्य से अलग-अलग भवनों का निर्माण कराया जा रहा है। इस निर्माण की गुणवत्ता के लिए अलग-अलग संस्थाओं को शामिल किया गया है।

कमिश्नर ने बताया कि श्री काशी विश्वनाथ धाम का काम 15 जनवरी 2019 को आरंभ हुआ था। सुरक्षा के बीच कारीगर, इंजीनियर और मजदूर 5.3 लाख वर्गफीट में 24 घंटे लगातार धाम को आकार देने में लगे हैं। 345.27 करोड़ रुपये की लागत से काशी विश्वनाथ धाम का निर्माण हो रहा है। धाम का गुलाबी स्वरूप अब धीरे-धीरे आकार ले रहा है।

जमीन से 15 मीटर ऊपर तक निर्माण कार्य अब नजर आने लगा है। एक साथ 19 भवनों के निर्माण कार्य चल रहे हैं। इसमें मंदिर परिसर, मंदिर चौक, जलपान केंद्र, गेस्ट हाउस, यात्री सुविधा केंद्र, म्यूजियम, आध्यात्मिक पुस्तक केंद्र, मुमुक्षु भवन अस्पताल का निर्माण शुरू हो चुका है।

मंदिर चौक का हिस्सा सी सेप में निर्मित किया जाएगा। यहां से सीधे मां गंगा के दर्शन किए जा सकेंगे। उड़ीसा और चुनार के गुलाबी पत्थरों की आभा अब दर्शनार्थियों को भी नजर आने लगी है। पीतल की प्लेट से पत्थर जोड़े जा रहे हैं। 34 फीट के चार गेट होंगे। जलासेन टैरेस से गंगा के दर्शन होंगे।

 

यह भी देखे:-

यूपी: आजादी के बाद से इस गांव में नहीं हुआ विद्युतीकरण, दिवाली पर प्रशासन ने लगवाए जेनरेटर
7वां वेतन आयोग : केंद्रीय Pensioners को लेकर जरूरी खबर, आपके WhatsApp पर आएगा अपडेट
गौतमबुद्ध नगर त्रिस्तरीय  पंचायत चुनाव, जानिए दोपहर 1 बजे तक का मतदान प्रतिशत 
लॉकडाउन में एटीएम तोड़ते रंगे हाथ गिरफ्तार
साया ज़िऑन सोसायटी में मल्टीप्वाइंट कनेक्शन का पहले चरण का काम पूर्ण
किसानों की आड में, अपने राजनैतिक स्वार्थ और नेतागिरी चमकाने में लगे हुये हैं लोग : धीरेन्द्र सिंह
वर्चुअल आर्ट एग्जीबिशन देखें Indigalleria.com पर कल 15 अगस्त से 
मुगल काल से 2017 तक गायब थी यूपी की असली पहचान, भाजपा ने दिलाई वापस: अमित शाह
यूपी : 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के रिकॉर्ड 27426 नए मामले, लखनऊ में 6598 केस, 103 मरीजों की मौत
ग्रेटर नोएडा में कोजीकार देगी कार डिटेलिंग की आधुनिक सुविधा :अभिषेक पाराशर
टोक्यो ओलंपिक 2020: कौन हैं भारत की गोल्फर बेटी अदिति
एक्सप्रेसवे के टोल पर मैसेज प्रथा का चलन
नन्हक फाउंडेशन द्वारा संचालित बिगिनिंग मिशन एजुकेशन सेंटर ने मनाया गणतंत्र दिवस
क्या एकतरफा प्यार में हुई अंजलि राठौर की हत्या ! , नामजद मुकदमा दर्ज
Ghaziabad Viral Video: बुजुर्ग से पिटाई मामले में सपा नेता उम्मेद गिरफ्तार, इंटरनेट मीडिया पर भड़काऊ...
कोरोना के खिलाफ खरी निकली एस्ट्राजेनेका वैक्सीन, ताजा अमेरिकी ट्रायल में पाई गई 76% असरदार